Top

डकैती के आरोप में हिरासत में लिए गए पाटीदार आंदोलन के नेता हार्दिक पटेल

Gagan D Mishra

Gagan D MishraBy Gagan D Mishra

Published on 28 Aug 2017 8:26 PM GMT

डकैती के आरोप में हिरासत में लिए गए पाटीदार आंदोलन के नेता हार्दिक पटेल
X
हिरासत में लिए गए पाटीदार आंदोलन के नेता हार्दिक पटेल
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

अहमदाबाद: पाटीदार आंदोलन के नेता हार्दिक पटेल को सोमवार की शाम डकैती और लूटपाट के आरोप में आणंद जाते वक्त रास्ते में हिरासत में ले लिया गया। पाटीदार अनामत आंदोलन समिति (पीएएएस) के नेता हार्दिक आणंद में एक जनसभा को संबोधित करने जा रहे थे, तभी रास्ते में अहमदाबाद-वडोदरा एक्सप्रेसवे पर करीब 70 पुलिसकर्मियों ने उन्हें हिरासत में ले लिया।

यह भी पढ़ें...हार्दिक पटेल की ललकार- आरक्षण नहीं दिया तो छीनकर लेंगे

इस बीच इसी मामले में हार्दिक के करीबी साथी दिनेश भंभानिया को भी सौराष्ट्र इलाके के राजकोट में पुलिस की अपराध शाखा ने हिरासत में ले लिया है।

पाटण पुलिस के अनुसार, मेहसाणा में पीएएएस के पूर्व संयोजक नरेंद्र पटेल ने डकैती और लूटपाट की घटना के एक दिन बाद शनिवार को शिकायत दर्ज कराई कि वह अपने साथी दिलीप सावलिया के साथ नवजीवन होटल के नजदीक चाय-नाश्ता कर रहे थे, तभी हार्दिक अपने समर्थकों के साथ वहां पहुंचे और उन दोनों से अपमानजनक टिप्पणियां न करने के लिए कहा।

यह भी पढ़ें...लखनऊः हार्दिक पटेल ने कहा- पूरे यूपी में चलता है गुज्जरों का राज, ददुआ हैं हमारे पूर्वज

शिकायत में कहा गया है कि दोनों समूहों के बीच झगड़ा शुरू हो गया और हार्दिक के समर्थकों ने उनके साथ गाली-गलौच शुरू कर दी और हमला कर दिया। नरेंद्र पटेल द्वारा दर्ज शिकायत के अनुसार, हार्दिक के एक समर्थक ने उनकी सोने की चेन छीन ली और उनका मोबाइल फोन तोड़ दिया।

शिकायत में यह भी कहा गया है कि पाटण के प्रगति मैदान पहुंचे, जहां शनिवार को हार्दिक ने एक जनसभा को संबोधित किया, तो दिनेश भंभानिया ने उन्हें गंभीर परिणाम भुगतने की धमकी दी।

पुलिस ने हार्दिक, भंभानिया, सुनील, बृजेश और महेश पटेल के खिलाफ कई धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया।

हिरासत में लिए जाने से पहले आईएएनएस से फोन पर हुई बातचीत में हार्दिक ने घटना से पूरी तरह अनभिज्ञता जाहिर की और कहा कि वह पाटण में जनसभा संबोधित करने के बाद तुरंत चले आए थे।

यह भी पढ़ें...जज ने कहा राम रहीम जानवरों की तरह पेश आया तो क्यों करें इस पर रहम

हार्दिक ने कहा, "मुझे बिल्कुल नहीं पता कि आप किस बारे में बात कर रहे हैं।"

पाटण में शनिवार को आयोजित जनसभा में हार्दिक ने गुजरात से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को उखाड़ फेंकने का आह्वान किया था और कांग्रेस को एक मौका देने की बात कही थी। इस जनसभा में पाटीदार समुदाय के लोग बड़ी संख्या में जुटे थे।

यह भी पढ़ें...बाबा जय गुरुदेव के संस्थान पर HC सख्त, अवैध कब्जा हटाने के आदेश

हार्दिक को 'कांग्रेस का एजेंट' कहने वाले गुजरात के उप-मुख्यमंत्री नितिन पटेल के खिलाफ पाटण में सोमवार को महिलाओं के एक समूह ने बेलन और नारे लिखी तख्तियां लेकर विरोध प्रदर्शन किया।

यह भी पढ़ें...CCTV में कैद वारदात: 40 मिनट में शोरूम से 4 कार उड़ा ले गए चोर

--आईएएनएस

Gagan D Mishra

Gagan D Mishra

Next Story