Top

आईएएस- 2009 टॉपर शाह फैसल ने दिया इस्तीफा, अब इस पार्टी से लड़ेंगे 2019 का चुनाव

आईएएस अफसर शाह फैसल ने इस्तीफा दे दिया है। इस्तीफे के बाद अभी तक जो जानकारी निकल कर सामने आई है। उसके मुताबिक फैसल ने चुनाव लड़ने के लिए इस तरह का कदम उठाया है। वो 2019 का चुनाव लड़ेंगे।

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 9 Jan 2019 11:53 AM GMT

आईएएस- 2009 टॉपर शाह फैसल ने दिया इस्तीफा, अब इस पार्टी से लड़ेंगे 2019 का चुनाव
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: आईएएस अफसर शाह फैसल ने इस्तीफा दे दिया है। इस्तीफे के बाद अभी तक जो जानकारी निकल कर सामने आई है। उसके मुताबिक फैसल ने चुनाव लड़ने के लिए इस तरह का कदम उठाया है। वो 2019 का चुनाव लड़ेंगे। ख़बरें ये भी आ रही है कि वो नेशनल कॉन्फ्रेंस जॉइन करने वाले हैं। वे बारामुला से चुनाव लड़ सकते है।

ये भी पढ़ें...नागालैंड कैडर के IAS राजीव बंसल बने एयर इंडिया के सीएमडी

यहां आपको बता दे कि फैसल 2009 में आईएएस टॉपर रहे है। पिछले साल रेप कल्चर पर अपने एक ट्वीट को लेकर विवाद में आए जम्मू-कश्मीर के आईएएस ऑफिसर शाह फैसल ने अपने पोस्ट से इस्तीफा दे दिया है। खबरें आ रही हैं कि वो राजनीति में शामिल होने वाले हैं और 2019 के लोकसभा चुनावों में चुनाव लड़ने के लिए तैयार हैं।

खबर के मुताबिक, 35 साल के आईएएस ऑफिसर शाह फैसल ने सोमवार को वॉलंटरी रिटायरमेंट के लिए अप्लाई किया। कहा जा रहा है कि वो फारूक अब्दुल्ला की पार्टी नेशनल कॉन्फ्रेंस जॉइन करने वाले हैं। साथ ही उनकी घाटी की बारामुला चुनावी क्षेत्र पर नजर भी है। रिपोर्ट में एक सरकारी अफसर के हवाले से कहा गया है कि उन्होंने वॉलंटरी रिटायरमेंट के लिए अप्लाई कर दिया है लेकिन इस प्रक्रिया में थोड़ा टाइम लगता है, उसके बाद ही कार्मिक विभाग इसे अप्रूव करेगा। अपना इस्तीफा मंजूर होने के बाद फैसल फारूक और उमर अब्दुल्ला से मिलेंगे। ये बात खुद पार्टी के एक वरिष्ठ नेता ने कही है।

ये भी पढ़ें...प्रोफेशनल्स को नहीं है आईएएस बनने में रूचि, जाने क्या ये है पूरा मामला

उन्होंने कहा कि फैसल के पार्टी में आधिकारिक रूप से शामिल होने से पहले उनकी सीनियर लीडरशिप से मुलाकात होगी। बता दें कि शाह फैसल पिछली जुलाई में तब चर्चा में आ गए थे, जब उन्होंने रेप कल्चर पर ट्वीट करते हुए दक्षिण एशिया को रेपिस्तान कहा था।

उनके ट्वीट पर उनके खिलाफ नोटिस भी जारी कर दिया गया था।लेकिन फैसल अपनी बात पर अड़े रहे थे और अफसरों के बोलने की आजादी का मुद्दा भी उठाया था। बाद में ये मामला ठंडा पड़ गया था।

ये भी पढ़ें...RBI के नए गवर्नर पर स्वामी ने लगाए गंभीर आरोप, कहा- भ्रष्टाचार में दिया चिदंबरम का साथ

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story