Top

शीला की ताजपोशी में सिख दंगो के आरोपी टाइटलर, बढ़ा बवाल

पूर्व सीएम शीला दीक्षित को दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष बना वापसी का सपना संजो रही पार्टी को धक्का लगा है। सिख दंगो के आरोपी जगदीश टाइटलर जब शीला के अध्यक्ष पद संभालने के औपचारिक कार्यक्रम में नजर आए तो विरोधियों को घर बैठे मुद्दा मिला गया। आपको बता दें, इस मामले में कोर्ट ने पूर्व कांग्रेस नेता सज्जन कुमार को उम्रकैद की सजा सुनाई है।

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 16 Jan 2019 9:10 AM GMT

शीला की ताजपोशी में सिख दंगो के आरोपी टाइटलर, बढ़ा बवाल
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली : पूर्व सीएम शीला दीक्षित को दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष बना वापसी का सपना संजो रही पार्टी को धक्का लगा है। सिख दंगो के आरोपी जगदीश टाइटलर जब शीला के अध्यक्ष पद संभालने के औपचारिक कार्यक्रम में नजर आए तो विरोधियों को घर बैठे मुद्दा मिला गया। आपको बता दें, इस मामले में कोर्ट ने पूर्व कांग्रेस नेता सज्जन कुमार को उम्रकैद की सजा सुनाई है।

ये भी देखें :1984 सिख विरोधी दंगा: सज्जन कुमार की अपील पर सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई को दी 6 हफ्ते की मोहलत, नोटिस जारी

केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर ने टाइटलर के कार्यक्रम में शामिल होने पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर हमला बोलते हुए कहा, 'राहुल जी भी वही कर रहे हैं जो उनके परिवार ने किया था। उन्होंने दिखा दिया है कि सिखों की भावना के लिए उनके मन में कोई आदर नहीं है।'

वहीं टाइटलर ने कहा, कोर्ट ने जो कहा है, उस पर कोई और क्या कह सकता है। मेरे खिलाफ कोई सबूत नहीं है, कोई केस नहीं है फिर मुझे क्यों आरोपी कहा जा रहा है।

ये भी देखें :सिख विरोधी दंगेः सज्जन को जाना होगा जेल, कोर्ट ने ठुकराई याचिका

गौरतलब है कि टाइटलर स्वा राजनैतिक निर्वासन झेल रहे हैं काफी समय बाद उन्हें किसी राजनैतिक कार्यक्रम में देखा गया है।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story