Top

जद(यू) ने राहुल समेत विपक्षी नेताओं पर साधा निशाना, लिखा खुला पत्र

Manali Rastogi

Manali RastogiBy Manali Rastogi

Published on 27 Aug 2018 6:46 AM GMT

जद(यू) ने राहुल समेत विपक्षी नेताओं पर साधा निशाना, लिखा खुला पत्र
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

पटना: बिहार में सत्तारूढ़ जनता दल (यूनाइटेड) ने सोमवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी सहित कई विपक्षी नेताओं को खुला पत्र लिखकर पूछा है कि क्या तथाकथित धर्मनिरपेक्षता, सामाजिक न्याय की लड़ाई लड़ने के लिए भ्रष्टाचारी, भ्रष्टाचार में आरोपित, दुष्कर्म और देह व्यापार का आरोपी होना जरूरी है।

यह भी पढ़ें: अनुच्छेद 35 ए : नजरें सुप्रीम कोर्ट पर, अलगाववादी भयभीत

जद (यू) के प्रवक्ता और विधान पार्षद नीरज कुमार ने राहुल गांधी, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, शरद यादव, सपा प्रमुख अखिलेश यादव के नाम खुला पत्र लिख कांग्रेस सहित कई दलों पर राजद के साथ गठबंधन करने पर सवाल खड़ा किया गया है।

पत्र के अनुसार, एक ओर जहां राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद चारा घोटाला के कई मामलों में सजा काट रहे हैं। वहीं, प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने शुक्रवार को पूर्व रेलमंत्री लालू प्रसाद, उनकी पत्नी राबड़ी देवी और पुत्र तेजस्वी यादव व अन्य के खिलाफ 2006 में आईआरसीटीसी होटल रखरखाव अनुबंध से जुड़े धनशोधन के एक मामले में आरोपपत्र दाखिल किया है, वैसी पार्टी से क्या गठबंधन करना उचित है।

उन्होंने पत्र में राजद पर आरोप लगाते हुए कहा, "अब राजद में महिला अपराधीकरण का बोलबाला हो गया है। राजद के विधायक राजबल्लभ यादव एक नाबालिग लड़की के साथ दुष्कर्म के आरोप में जेल में बंद हैं तो तेजस्वी यादव के पीए मणि यादव पर अनैतिक देह व्यापार में शामिल होने का आरोप है। भोजपुर जिले में एक महिला को निर्वस्त्र कर घुमाने के मामले में गिरफ्तार मुख्य आरोपी कौशल किशोर यादव भी राजद का ही सदस्य हैं।"

नीरज ने अपने पत्र में राहुल को नसीहत देते हुए कहा , "आपके नाम के आगे 'गांधी' शब्द जुड़ा हुआ है जो त्याग, करुणा और सद्भाव का प्रतीक माना जाता है। अगर आपने भ्रष्टाचार के मामले में दोषी एवं आरोपित राजनीतिक जमात के साथ मित्रता की है, तो आपको एकबार फिर से विचार करना चाहिए।"

--आईएएनएस

Manali Rastogi

Manali Rastogi

Next Story