Top

कमलनाथ की जन्मभूमि कानपुर से उठी आवाज, बनाया जाए MP का सीएम

मध्य प्रदेश के चुनावी परिणाम कांग्रेस के पक्ष में आने के बाद मुख्यमंत्री के पद के नाम की चर्चा सबसे बड़ा मुद्दा बना हुआ है। मध्य प्रदेश में मुख्यमंत्री पद के दो नामो पर बहस छिड़ी हुयी है  लेकिन सबसे बड़ा नाम कांग्रेस वरिष्ट नेता कमलनाथ का उभर कर आ रहा है।

Manali Rastogi

Manali RastogiBy Manali Rastogi

Published on 12 Dec 2018 11:18 AM GMT

कमलनाथ की जन्मभूमि कानपुर से उठी आवाज, बनाया जाए MP का सीएम
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

कानपुर: मध्य प्रदेश के चुनावी परिणाम कांग्रेस के पक्ष में आने के बाद मुख्यमंत्री के पद के नाम की चर्चा सबसे बड़ा मुद्दा बना हुआ है। मध्य प्रदेश में मुख्यमंत्री पद के दो नामो पर बहस छिड़ी हुयी है लेकिन सबसे बड़ा नाम कांग्रेस वरिष्ट नेता कमलनाथ का उभर कर आ रहा है।

यह भी पढ़ें: बीएसपी का हाथी कांग्रेस से हाथ मिलाने को तैयार, जोड़-तोड़ से बनेगी एमपी में सरकार

कानपुर के वरिष्ट नेता भी यही चाहते है कि कमलनाथ को एमपी का मुख्यमंत्री बनाया जाए। दरअसल, कमलनाथ जन्म कानपुर के खलासी लाइन मोहल्ले में हुआ था। उनका कानपुर से गहरा लगाव रहा है और कांग्रेस के नेता भी उन्हें किंग मेकर के नाम पुकारते है।

यह भी पढ़ें: जरा सोचें 2018 के विस चुनावों का सबक 2019 में फिर पढ़ना है या खुद को बदलना है

कांग्रेस के वरिष्ट नेता कमलनाथ वर्तमान में मध्य प्रदेश के प्रदेश अध्यक्ष के पद पर पार्टी का कार्यभार देख रहे थे। मध्य प्रदेश का पूरा चुनाव उन्ही के नेतृत्व में लड़ा गया है। कमलनाथ का जन्म 18 नवम्बर 1946 को खलासी लाइन में हुआ था। कमलनाथ की प्रारंभिक शिक्षा भी कानपुर में ही हुयी थी।

यह भी पढ़ें: लखनऊ में लगी ‘योगी लाओ-देश बचाओ’ होर्डिंग, पुलिस ने दर्ज किया केस

उनके पिता महेंद्र नाथ और लीला नाथ उन्हें पढ़ा लिखाकर वकील बनाना चाहते थे । कमलनाथ को भी कानपुर से बहुत लगाव था क्यों कि उन्होंने अपना बचपन कानपुर की गलियों में बिताया था । इसके बाद कमलनाथ के पैरेंट्स ने कानपुर छोड़ दिया और पढाई करने के लिए कोलकत्ता चले गए।

कांग्रेस जिलाध्यक्ष हरप्रकाश अग्निहोत्री ने बताया कि कमलनाथ के पिता महेंद्र नाथ केंद्रीय कार्यालय तिलक हाल आया करते थे । इस दौरान कभी-कभी उनके साथ कमलनाथ भी आते थे। उन्होंने बताया कि कानपुर के जितने भी कांग्रेसी नेता और कार्यकर्ता चाहते है कि कमलनाथ को मध्य प्रदेश का मुख्यमंत्री बनाया जाए। दरअसल, वो कांग्रेस के वरिष्ट और बहुत ही अनुभवी नेता है सरकार को वो बेहतर ढंग से चला सकते है । यदि वो मुख्यमंत्री बनेगे तो इससे कानपुर का मान भी बढेगा।

ज्योतिरादित्य सिंधिया को आने वाले लोकसभा की जिम्मेदारी दी जाए । वो युवा है यदि वो संघटना को मजबूत करने की दिशा में काम करेगे तो इससे पार्टी मजबूत होगी। वो युवा है उनके साथ बड़ी संख्या में युवा जुडेगे । उनसे प्रेरित होकर यूथ कार्यकर्ता लोकसभा चुनाव के लिए पार्टी को मजबूत करने का काम करेंगे।

कांग्रेस सेवा दल क्षेत्रीय अध्यक्ष संगीत तिवारी के मुताबिक कानपुर की कांग्रेस टीम चाहती है कि कमलनाथ मुख्यमंत्री बने। ज्योतिरादित्य सिंधिया युवा है और युवा वर्ग चाहता है कि वो सीएम बने । लेकिन तीन राज्यों में कांग्रेस की सरकार बनने से कार्यकर्ताओ में जीत की ललक जगी है। पार्टी कार्यकर्ता दोगुनी ताकत से लोकसभा चुनाव की तयारी में उतर गए है।

Manali Rastogi

Manali Rastogi

Next Story