×

कर्नाटक: टल गया कुमारस्वामी सरकार पर छाया संकट! बागी विधायकों की घर वापसी

कर्नाटक में जेडीएस और कांग्रेस की गठबंधन सरकार पर मंडरा रहा खतरा टल गया है कांग्रेस अपने बागी विधायकों को मनाने में सफल हो गई है। पार्टी की ओर से विधायको को चेतावनी दी गई है कि अगर वो आज विधायक दल की बैठक में शामिल नहीं होते हैं तो प्राथमिक सदस्यता को रद्द कर दिया जाएगा। 

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 18 Jan 2019 5:21 AM GMT

कर्नाटक: टल गया कुमारस्वामी सरकार पर छाया संकट! बागी विधायकों की घर वापसी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली : कर्नाटक में जेडीएस और कांग्रेस की गठबंधन सरकार पर मंडरा रहा खतरा टल गया है कांग्रेस अपने बागी विधायकों को मनाने में सफल हो गई है। पार्टी की ओर से विधायको को चेतावनी दी गई है कि अगर वो आज विधायक दल की बैठक में शामिल नहीं होते हैं तो प्राथमिक सदस्यता को रद्द कर दिया जाएगा।

कांग्रेस ने अपने विधायकों को पत्र भेज कहा है कि अगर कोई भी विधायक अनुपस्थित होता है तो उसे गंभीरता से लिया जाएगा और माना लिया जाएगा कि वह विधायक पार्टी की प्राथमिक सदस्यता को छोड़ रहा है।

ये भी देखें :RSS का मोदी सरकार पर तंज, कहा- 2025 में बनेगा राम मंदिर

बागियों की घर वापसी

विधायक बी नागेंद्र, जेएन गणेश, आनंद सिंह और भीमा नाईक के साथ रमेश झरकिहोली और मेहेश कुमतहल्लील ने घर वापसी कर ली है।

शुरू हुए जुबानी हमले

सीएम कुमारस्वामी ने कहा कि प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष येद्दियुरप्पा का दावा करना कि सीएम सहित कांग्रेस जदएस के नेता उनकी पार्टी के विधायकों को लालच दे रहे हैं, उनके लिए हैरत की बात है।

उन्होंने कहा, वे सभी प्रकार की व्यर्थ कोशिशें कर रहे हैं। कौन आगे आगे चल रहा है और फुसलाने में जुटा है?

सीएम ने कहा, आज मैं येदियुरप्पा और उनके मित्रों से से पूछना चाहता हूं कि कब तक आप गुरुग्राम के एक होटल में ठहरे रहेंगे, आपने किस वजह से विधायकों को बंधक बना रखा है। अब आप हमपर आरोप मढ़ रहे हैं, यदि आप महसूस करते हैं कि आप जो कुछ कह रहे हैं लोग मान लेंगे, तो आप गलत हैं।

ये भी देखें : RSS प्रमुख मोहन भागवत बोले, जब कोई युद्ध नहीं, तो फिर सैनिक क्यों हो रहे शहीद

येदियुरप्पा ने कहा, बीजेपी से कोई भी किसी भी प्रकार के अभियान या कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन के विधायकों को फुसलाने में नहीं लगा है। हमने एक स्थान पर अपने सभी विधायकों को एकत्रित किया था और पिछले दो तीन दिन से आगामी लोकसभा चुनाव की तैयारी पर चर्चा कर रहे थे। आज सभी लौट रहे हैं।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story