Top

लोकसभा चुनाव 2019: राहुल को मिल सकता है कमल हासन का साथ, माननी होगी ये शर्त

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 13 Oct 2018 11:58 AM GMT

लोकसभा चुनाव 2019: राहुल को मिल सकता है कमल हासन का साथ, माननी होगी ये शर्त
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: लोकसभा 2019 के चुनाव में अभिनेता से नेता बने कमल हासन और कांग्रेस पार्टी के प्रेसिडेंट राहुल गांधी एक साथ एक मंच पर चुनाव प्रचार करते हुए नजर आ सकते है। बताया जा रहा है कि कमल हासन तमिलनाडु में कांग्रेस पार्टी से 'हाथ' मिलाने को तैयार हो गये हैं। लेकिन इससे पहले उन्होंने कांग्रेस पार्टी के सामने एक खास शर्त रखी है। उनका कहना है कि अगर कांग्रेस पार्टी उनकी ये शर्त मान लेती है तो वह लोकसभा के चुनाव में कांग्रेस का साथ देंगे।

क्या है ये पूरा मामला

कमल हासन ने कहा है कि कांग्रेस पार्टी को 2019 के लोकसभा चुनावों से पहले द्रमुक (डीएमके) के साथ गठबंधन तोड़ना होगा। अगर उनकी ये शर्त मान ली जाती है तो उनकी पार्टी मक्कल निधि मय्यम (एमएनएम) आगामी 2019 लोकसभा चुनावों में कांग्रेस से गठबंधन कर लेगी। एमएनएम और कांग्रेस दोनों आपसी सहमति से अपने प्रत्याशी को चुनाव मैदान में उतारेंगे। साथ ही वे खुद राहुल के साथ मिलकर दोनों दलों के प्रत्याशियों के लिए चुनाव प्रचार करने के लिए भी जाएंगे।

गौरतलब है कि कमल हासन ने इसी साल फरवरी महीने में अपनी पार्टी मक्कल निधि मय्यम (एमएनएम) का गठन किया था और उसके बाद से वो लगातार तमिलनाडु सरकार और केंद्र सरकार पर हमला बोलते रहे हैं।

एक स्थानीय चैनल को दिए इंटरव्यू में कमल हासन ने कहा कि अगर कांग्रेस पार्टी डीएमके से गठबंधन तोड़कर अलग हो जाती है, तो मैं 2019 के चुनावों में कांग्रेस के साथ हाथ मिलाने को तैयार हो जाऊंगा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस को उन्हें ये प्रॉमिस करना होगा कि एमएनएम और कांग्रेस का गठबंधन तमिलनाडु के लोगों की बेहतरी के लिए हमेशा काम करेगा।

ये भी पढ़ें...कमल हासन ने कहा- हमारी पार्टी में कोई स्थाई नेता नहीं

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story