Top

MP में कल होने वाले फ्लोर टेस्ट पर सस्पेंस, विधानसभा की कार्यसूची में नहीं है जिक्र

मध्यप्रदेश विधानसभा की कार्यसूची जारी कर दी गई है। इसमें बहुमत परीक्षण का जिक्र नहीं है। इसके आधार पर कहा जा सकता है कि सोमवार को सदन में कमलनाथ सरकार का बहुमत परीक्षण का प्रस्ताव शायद न आए। यानि बहुमत परीक्षण पर संशय नजर आ रहा है।

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 15 March 2020 4:43 PM GMT

MP में कल होने वाले फ्लोर टेस्ट पर सस्पेंस, विधानसभा की कार्यसूची में नहीं है जिक्र
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

इंदौर: भोपाल में रविवार को खासी सियासी गहमागहमी मची रही। भोपाल में जयपुर से आए सभी विधायकों की मेडिकल जांच हुई। वहीं, कांग्रेस के 16 बागी विधायकों ने राज्यपाल को पत्र लिखकर उनका इस्तीफा स्वीकार करने को कहा।

उधर, सीएम कमलनाथ के आवास पर कांग्रेस विधायकों की अहम बैठक भी हुई। इसके अलावा आज मध्यप्रदेश विधानसभा की कार्यसूची जारी कर दी गई और इसमें बहुमत परीक्षण का कहीं जिक्र नहीं है।

ये भी पढ़ें...बिछ गई बिसात: 16 को तय होगा कमलनाथ का भविष्य!

जानिए अबतक का अपडेट-

मध्यप्रदेश विधानसभा की कार्यसूची जारी

मध्यप्रदेश विधानसभा की कार्यसूची जारी कर दी गई है। इसमें बहुमत परीक्षण का जिक्र नहीं है। इसके आधार पर कहा जा सकता है कि सोमवार को सदन में कमलनाथ सरकार का बहुमत परीक्षण का प्रस्ताव शायद न आए। यानि बहुमत परीक्षण पर संशय नजर आ रहा है।

सीएम कमलनाथ के आवास पर पहुंचे कांग्रेस विधायक

सियासी हलचल के बीच तमाम कांग्रेस विधायक सीएम कमलनाथ के आवास पर पहुंचे जहां विधायक दल की बैठक हुई। बैठक में करीब 80 विधायकों के पहुंचने की सूचना है। कुछ मंत्री बैठक में नहीं पहुंचे।

हालांकि निश्चित संख्या की जानकारी नहीं मिल सकी। मंत्री तरुण भनोत के अनुसार, बैठक में बजट प्रस्तावों पर चर्चा हुई, जबकि मंत्री सचिन यादव ने कहा कि सरकार फ्लोर टेस्ट के लिए तैयार है।

सियासी हलचल: कमलनाथ के मंत्रियों से पुलिस की हाथापाई, गए थे विधायकों… VIDEO

कांग्रेस के 16 बागी विधायकों का राज्यपाल को पत्र

मध्यप्रदेश कांग्रेस के 16 बागी विधायकों ने राज्यपाल लालजी टंडन को पत्र लिखकर उनके इस्तीफे स्वीकार करने को कहा जिस तरह से उन्होंने 14 मार्च को 6 कांग्रेस विधायकों के इस्तीफे स्वीकार किए थे। इन विधायकों के नाम हैं-

जजपाल जज्जी, बृजेंद्र यादव, रणवीर जाटव, कमलेश जाटव, गिरिराज दंडोतिया, मनोज चौधरी, ओपीएस भदौरिया, रक्षा संतराम सरोनिया, सुरेश धाकड़, राज्यवर्धन सिंह, बिसाहूलाल सिंह, हरदीप सिंह डांग, जसवंत जाटव, मुन्नालाल गोयल, आर कंसाना, अदलसिंह कंसाना।

विधायकों का मेडिकल टेस्ट

मध्यप्रदेश में जारी सियासी ड्रामे के बीच जयपुर में ठहरे 82 कांग्रेसी विधायक (निर्दलीय भी शामिल) भोपाल पहुंच गए। इन विधायकों को कड़ी सुरक्षा में मैरियट होटल ले जाया गया। यहां इन सभी का मेडिकल चेकअप हुआ।

एक-एक कर सभी विधायकों की जांच हुई। इससे पहले कमलनाथ सरकार ने वल्लभ भवन में राज्य कैबिनेट की बैठक ली। इसमें सभी विधायकों का स्वास्थ्य परीक्षण करने और सभी स्कूल, कॉलेजों को अगले आदेश तक बंद करने का फैसला लिया गया था।

ये भी पढ़ें...सीएम कमलनाथ का बयान-नहीं गिरेगी मध्य प्रदेश में सरकार, जानिए क्या है फॉर्मूला

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story