Top

मध्य प्रदेश में भाजपा की बड़ी कार्रवाई 64 बागी किये गए बाहर

राम केवी

राम केवीBy राम केवी

Published on 15 Nov 2018 6:23 AM GMT

मध्य प्रदेश में भाजपा की बड़ी कार्रवाई 64 बागी किये गए बाहर
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

भोपालः भारतीय जनता पार्टी ने मध्य प्रदेश में 64 बागी नेताओं को अनुशासनहीनता के आरोप में पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया है। आगामी विधानसभा चुनाव के पूर्व यह एक बड़ी कार्रवाई है। भाजपना ने वरिष्ठ नेता सरताज सिंह, पूर्व मंत्री रामकृष्ण कुमारिया और भिंड से विधायक रहे नरेंद्र कुशवाहा को निष्कासित किया है।

इसे भी पढ़ें-मध्यप्रदेश: कांग्रेस ने जारी किया ‘वचनपत्र’, बीजेपी के घोषणापत्र को बताया जुमलापत्र

सरताज सिंह भाजपा की सूची में सिउनी मालवा क्षेत्र से नाम न आने पर सार्वजनिक रूप से रोना रोए थे और कांग्रेस को दोषी ठहरा रहे थे। वह पिछले हफ्ते कांग्रेस से जुड़ गए और इसके तत्काल बाद उन्हें होशंगाबाद विधानसभा सीट से विपक्षी प्रत्याशी घोषित कर दिया गया। कुमारिया ने निर्दल उम्मीदवार के रूप में चुनाव लड़ने की घोषणा की है।

इसे भी पढ़ें-राहुल शिवराज पर बरस रहे थे, लेकिन नजर आ रहा था दिग्विजय को अंतिम सलाम

ग्वालियर की पूर्व मेयर समीक्षा गुप्ता, लता महसाकी, धीरज पटेरिया और राज कुमार यादव को भी बाहर का रास्ता दिखा दिया गया है। गुप्ता ने स्वयं पार्टी छोड़ने की घोषणा की थी। वह निर्दल प्रत्याशी के रूप में चुनाव लड़ेंगी।

इसे भी पढ़ें-MP- विधान सभा चुनाव 2018: बुधनी में शिवराज को घेरेंगे अरुण यादव,सरताज सिंह ने बदला पाला

टिकट वितरण से असंतोष के बाद भाजपा और कांग्रेस दोनो पार्टियां विद्रोह की समस्या से जूझ रही हैं। दोनो ही दल स्थिति सम्हालने में जुटे हैं और विद्रोहियों को नाम वापस लेने के लिए मना रहे हैं।

दोनो दल यह जानते हैं कि 230 सदस्यीय विधानसभा में तीस सीटों पर विद्रोही निर्णायक भूमिका निभा सकते हैं। 2003 में कांग्रेस के सत्ता से बाहर होने के बाद से शिवराज सिंह लगातार तीन कार्यकाल पूरे कर चुके हैं और वह चौथे कार्यकाल के लिए जूझ रहे हैं।

राम केवी

राम केवी

Next Story