Top

माल्या प्रत्यर्पण मामला: कांग्रेस नेता ने कहा- झूठ बोल रहे जेटली, मैंने देखी दोनों की मुलाकात

Manali Rastogi

Manali RastogiBy Manali Rastogi

Published on 13 Sep 2018 4:13 AM GMT

माल्या प्रत्यर्पण मामला: कांग्रेस नेता ने कहा- झूठ बोल रहे जेटली, मैंने देखी दोनों की मुलाकात
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: वांछित भगोड़े शराब व्यापारी विजय माल्या ने हाल ही में एक बयान दिया था, जिसके बाद भारतीय राजनीति में भूचाल आ गया है। देश के हज़ारों-करोड़ लेकर फरार चल रहे माल्या ने बुधवार को बयान जारी किया था कि देश छोड़ने से पहले उनकी वित्त मंत्री अरुण जेटली से मुलाकात हुई थी। ऐसे में अब विपक्ष एकजुट होकर जेटली का इस्तीफा मांग रहा है।



वहीं, अब इस बीच कांग्रेस के नेता पीएल पूनिया का भी एक बयान सामने आया है। पूनिया का कहना है कि उन्होंने जेटली को माल्या से मिलते हुए देखा था। ऐसे में उन्होंने एक ट्वीट किया है। उन्होंने लिखा है कि वित्त मंत्री झूठ बोल रहे हैं क्योंकि मैंने उनको माल्या से मिलते हुए और लंबी बैठक करते हुए देखा था।

भारत छोड़ने से पहले वित्तमंत्री जेटली से मिला था: माल्या

वांछित भगोड़े शराब व्यापारी विजय माल्या ने बुधवार को दावा किया कि 2016 में भारत छोड़ने से पहले उसने वित्तमंत्री अरुण जेटली से मुलाकात की थी।

माल्या ने वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट कोर्ट के बाहर पत्रकारों से कहा, "मेरी जेनेवा में एक बैठक प्रस्तावित थी। भारत छोड़ने से पहले मैंने वित्तमंत्री से मुलाकात की थी।।बैंकों के साथ मामला निपटाने का अपना प्रस्ताव मैंने दोहराया था। यह सच है।"

जेटली ने माल्या के दावे को खारिज किया

हालांकि, केंद्रीय वित्तमंत्री अरुण जेटली ने बुधवार को विजय माल्या के उस दावे को खारिज कर दिया है, जिसमें भगोड़े व्यापारी ने दो साल पहले भारत छोड़ने से पहले उनसे मुलाकात करने की बात कही है।

जेटली ने कहा कि उन्होंने 2014 के बाद मुलाकात के लिए माल्या को कभी समय नहीं दिया और "मुझसे मुलाकात का प्रश्न ही नहीं उठता।"

उन्होंने कहा, "हालांकि, वह राज्यसभा के सदस्य थे और कभी-कभार संसद आया करते थे। एक बार जब मैं सदन से अपने कक्ष में जा रहा था, उन्होंने विशेषाधिकार का फायदा उठाया।"

मंत्री ने कहा, "वह तेजी से मेरी तरफ आगे बढ़े और एक वाक्य कहा कि 'मैं सेटलमेंट का ऑफर दे रहा हूं'।" जेटली ने कहा कि चूंकि वह उनके पहले के झूठे वादों को जानते थे, "इसलिए मैंने उन्हें आगे बातचीत करने की इजाजत नहीं दी।"

Manali Rastogi

Manali Rastogi

Next Story