Top

UP विधानसभा 2017: पहले चरण में BJP ने 29 तो BSP ने उतारे 28 दागी उम्मीदवार

यूपी विधानसभा चुनाव-2017 के पहले चरण पर नजर डाली जाए तो सूबे के 15 जिलों की 73 सीटों पर होने वाले चुनाव में बीजेपी ने कुल 29 और बसपा ने 28 दागी प्रत्याशी मैदान में उतारे हैं।

tiwarishalini

tiwarishaliniBy tiwarishalini

Published on 4 Feb 2017 5:09 PM GMT

UP विधानसभा 2017: पहले चरण में BJP ने 29 तो BSP ने उतारे 28 दागी उम्मीदवार
X
यूपी चुनाव 2017: दूसरे चरण में 11 जिलों की 67 सीटों के ल‍िए वोटि‍ंग शुरू, 721 कैंडिडेट्स मैदान में
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: सियासी दल साफ सुथरी राजनीति के हिमायती रहे हैं। पिछले कई सालों से इस पर बहस भी चल रही है, लेकिन यह सिर्फ बौद्धिक जुगाली तक ही सीमित होकर रह गया है। यूपी विधानसभा चुनाव-2017 के पहले चरण पर नजर डाली जाए तो सूबे के 15 जिलों की 73 सीटों पर होने वाले चुनाव में बीजेपी ने कुल 29 और बसपा ने 28 दागी प्रत्याशी मैदान में उतारे हैं। जबकि सपा से 15, रालोद के 19 और कांग्रेस से 6 अपराधी छवि के उम्मीदवार मैदान मे हैं। एसोसिएशन फार डेमोक्रेटिक रिफॉर्म (एडीआर) की रिपोर्ट में यह खुलासा हुआ है।

यह भी पढ़ें ... UP चुनाव पहला चरण: 302 करोड़पति माननीय’ बनने की दौड़ में, BSP के 66 तो BJP के 61 कैंडिडेट्स

रिपोर्ट के मुताबिक, बीजेपी के जिन 29 उम्मीदवारों ने अपने खिलाफ आपराधिक मामले घोषित किए हैं, उनमें से 22 उम्मीदवारों के खिलाफ गंभीर धाराओं में आपराधिक मामले दर्ज हैं। इसी तरह बसपा के 28 दागी प्रत्याशियों में से 26, रालोद के 19 में से 15, सपा के 15 में 13 और कांग्रेस के 24 दागी कैंडिडेट में से चार पर गंभीर आपराधिक मामले दर्ज हैं। अगर छोटे दलों की बात करें आईएनडी के 38 प्रत्याशियों ने अपने खिलाफ आपराधिक मामले घोषित किए हैं और अन्य दलों के 32 ऐसे उम्मीदवार हैं, जिन्होंने अपने खिलाफ आपराधिक मामले घोषित किए हैं। बता दें, कि यूपी में पहले चरण में 15 जिलों की 73 सीटों पर 11 फरवरी को वोटिंग होनी है।

यह भी पढ़ें ... UP में 11 फरवरी को होगा पहले चरण का मतदान, जानें आपके यहां कब होगी वोटिंग

पहले चरण के प्रत्याशियों के बारे में अहम तथ्य

-एटा, बागपत और आगरा में छह-छह प्रत्याशियों ने घोषित किए हैं आपराधिक मामले।

-836 कैंडिडेट्स में से 168 यानि 20 प्रतिशत प्रत्याशियों के खिलाफ आपराधिक मामले।

-इनमें से 143 यानि 17 फीसदी उम्मीदवारों के खिलाफ गंभीर आपराधिक मामले।

-15 कैंडिडेट्स के खिलाफ हत्या यानि आईपीसी की धारा-302 से संबंधित मामले।

-42 कैंडिडेट्स के खिलाफ हत्या का प्रयास यानि आईपीसी की धारा-307 से संबंधित मामले।

-05 कैंडिडेट्स के खिलाफ महिलाओं के ऊपर अत्याचार से संबंधित मामले।

-02 कैंडिडेट्स के खिलाफ किडनैपिंग से संबंधित मामले।

-पहले चरण में 26 निर्वाचन क्षेत्र ऐसे हैं, जहां राजनीतिक दलों के कम से कम 3 कैंडिडेट्स के खिलाफ आपराधिक मामले हैं।

बीजेपी

विश्लेषित प्रत्याशियों की संख्या- 73

उम्मीदवारों पर आपराधिक मामले- 29

गंभीर आपराधिक मामले- 22

बसपा

विश्लेषित प्रत्याशियों की संख्या- 73

उम्मीदवारों पर आपराधिक मामले- 28

गंभीर आपराधिक मामले- 26

रालोद

विश्लेषित प्रत्याशियों की संख्या-57

उम्मीदवारों पर आपराधिक मामले-19

गंभीर आपराधिक मामले-15

सपा

विश्लेषित प्रत्याशियों की संख्या-51

उम्मीदवारों पर आपराधिक मामले-15

गंभीर आपराधिक मामले-13

कांग्रेस

विश्लेषित प्रत्याशियों की संख्या-24

उम्मीदवारों पर आपराधिक मामले-06

गंभीर आपराधिक मामले-04

सीपीआई(एम)

विश्लेषित प्रत्याशियों की संख्या- 04

उम्मीदवारों पर आपराधिक मामले- 01

गंभीर आपराधिक मामले- 0

आईएनडी

विश्लेषित प्रत्याशियों की संख्या- 293

उम्मीदवारों पर आपराधिक मामले- 38

गंभीर आपराधिक मामले- 34

अन्य

विश्लेषित प्रत्याशियों की संख्या- 261

उम्मीदवारों पर आपराधिक मामले- 32

गंभीर आपराधिक मामले- 29

tiwarishalini

tiwarishalini

Excellent communication and writing skills on various topics. Presently working as Sub-editor at newstrack.com. Ability to work in team and as well as individual.

Next Story