Top

पांच बार संभाल चुके हैं ओडिशा की कमान, जानिए क्यों खास हैं नवीन पटनायक

उन्होंने 'भ्रष्टाचार के विरुद्ध लड़ाई' और 'गरीब समर्थक नीतियां' अपने ही ढ़ंग से शुरू किया। उन्होंने नौकरशाही का ठीक से प्रबन्धन कर राज्य के विकास के अपने पिता के सपने को अपने विकास का आधार बनाया।

Manali Rastogi

Manali RastogiBy Manali Rastogi

Published on 15 Oct 2019 10:17 AM GMT

पांच बार संभाल चुके हैं ओडिशा की कमान, जानिए क्यों खास हैं नवीन पटनायक
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

कटक: ओडिशा के मुख्यमंत्री और बीजू जनता दल के संस्थापक मुखिया नवीन पटनायक 16 अक्टूबर को अपना 73वां जन्मदिन मना रहे हैं। वह ओडिशा के 14वें मुख्यमंत्री हैं और लगातार पांच बार मुख्यमंत्री बन चुके हैं। सबसे खास बात ये है कि पटनायक जितने अच्छे नेता हैं, वह उतने ही बेहतरीन लेखक भी हैं।

यह भी पढ़ें: होमगार्डों की बेरोजगारी पर डीजीपी ओपी सिंह ने दिया बड़ा बयान

16 अक्टूबर 1946 को ओडिशा के कटक नगर में जन्मे नवीन पटनायक की पार्टी का नाम उनके पिता के नाम पर ही पड़ा है। जी हां, उनके पिता ओडिशा के पूर्व मुख्यमंत्री बीजू पटनायक थे। उनकी पार्टी का नाम बीजू जनता दल है। वैसे इस बारे में बेहद कम लोगों को जानकारी है कि नवीन पटनायक एक लेखक भी हैं।

नहीं था राजनीति में आने का प्लान

उन्होंने अपना युवाकाल लगभग रजनीति और ओडिशा से दूर ही व्यतीत किया। साल 1997 में नवीन पटनायक ने उनके पिता का निधन होने के बाद राजनीति में कदम रखा और एक वर्ष बाद ही अपने पिता बीजू पटनायक के नाम पर बीजू जनता दल की स्थापना की। बीजू जनता दल ने उसके बाद विधानसभा चुनावों में जीत दर्ज की और बीजेपी के साथ सरकार बनाई जिसमें वे स्वयं मुख्यमंत्री बने।

यह भी पढ़ें: जम्मू कश्मीर: पोस्टपेड मोबाइल शुरू लेकिन SMS सेवा पर लगी रोक

उन्होंने 'भ्रष्टाचार के विरुद्ध लड़ाई' और 'गरीब समर्थक नीतियां' अपने ही ढ़ंग से शुरू किया। उन्होंने नौकरशाही का ठीक से प्रबन्धन कर राज्य के विकास के अपने पिता के सपने को अपने विकास का आधार बनाया। इसी तरह उन्होंने ओडिशा में लोकप्रियता हासिल की और लगातार चार बार पूर्ण जनाधार के साथ मुख्यमंत्री बनने में सफल हुए और पांचवीं बार वह राज्य के मुख्यमंत्री बने हुए हैं। पटनायक का नाम ओडिशा के इतिहास में सबसे लंबे समय तक मुख्यमंत्री बनने का कीर्तिमान है। वो अभी तक अविवाहित हैं।

Manali Rastogi

Manali Rastogi

Next Story