Top

पीएम मोदी कभी सच नहीं बोलते: अजित सिंह

sudhanshu

sudhanshuBy sudhanshu

Published on 14 Oct 2018 12:23 PM GMT

पीएम मोदी कभी सच नहीं बोलते: अजित सिंह
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

मेरठ: राष्‍ट्रीय लोकदल के अध्‍यक्ष अजित सिंह ने रविवार को जनसंवाद कार्यक्रम में पीएम मोदी के लिए कहा कि लोग कहते हैं कि वह झूठ बोलते हैं, लेकिन मैं कहता हूं कि वह कभी सच नहीं बोलता।

अब कोई नहीं सुनता मोदी के मन की बात

अजित सिंह आज मेरठ जिले के रोहटा में जनसंवाद कार्यक्रम में किसानों से संवाद कर रहे थे। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर जमकर प्रहार करते हुए कहा कि मोदी की मन की बात पहले सभी सुनते थे, लेकिन अब कोई नहीं सुनता। राष्ट्रीय लोकदल मुखिया ने कहा कि भाजपा सरकार की 14 दिन में गन्ने का पेमेंट देने की बात झूठी निकली। २ करोड़ लोंगो को रोजगार देने की बात भी झूठी निकली। सिलेंडर 2014 में 450 का था अब बढ़ कर 875 कर दिया गया। नोटबंदी और जीएसटी से व्यापारी परेशान हैं।

अजित सिंह ने कहा कि किसानों को उनकी फसल का उचित दाम नही मिल रहा है। आजादी के बाद किसानों की इतनी बुरी हालत कभी नही हुई जितनी अब मोदी ने की है। दाल की सबसे ज्यादा पैदावार होने के बावजूद सरकार ने दाल बाहर से मंगवाई। चीनी सबसे ज्यादा इस बार पैदा हुई तब भी बाहर से मंगवाई। क्योंकि सरकार किसानों को उनकी फसल का पैसा देना नही चाहती।

राष्ट्रीय लोकदल मुखिया ने भाजपा पर दंगे करवाने और एक-दूसरे को बांटने का आरोप लगाते हुए कहा कि गुजरात से बाहर के लोंगो को बाहर भगा कर भाजपा देश तोड़ने का काम कर रही है। जहां जातिवाद खत्म करने की बात करती हैं भाजपा वहीं अलग-अलग जातियों की अलग-अलग मीटिगें कर रही है। अजित सिंह ने कहाकि मुजफ्फरनगर दंगे के नाम पर भाजपा आई थी। अब कैराना की हार के बाद जाएगी।

बता दें कि वेस्ट यूपी में अपनी खोई विरासत को पाने के लिए अजित सिंह इन दिनों वेस्ट .यूपी के अलग-अलग जिलों में जाकर जनता से सीधे संवाद कर रहे हैं। दरअसल,वेस्ट यूपी को रालोद का गढ़ माना जाता रहा है। लेकिन पिछले लोकसभा चुनाव में पाटी को करारी हाल मिली थी। यहां कर की अजितसिंह और उनके बेटा जयन्त तक चुनाव हार गए थे। यही नही विधानसभा चुनाव में भी उनका एक विधायक ही जीत कर लखनऊ पहुंच सका था। उसके बाद रलोग गठबंधन ने में जरुर उपचुनाव में रालोद को जीत हासिल हुई थी।

sudhanshu

sudhanshu

Next Story