Top

वाराणसी: पीएम मोदी ने किसको कहा-आप लोग तो मेरे मालिक हैं!

Manali Rastogi

Manali RastogiBy Manali Rastogi

Published on 18 Sep 2018 10:22 AM GMT

वाराणसी: पीएम मोदी ने किसको कहा-आप लोग तो मेरे मालिक हैं!
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

वाराणसी: अपने जन्मदिन के दूसरे दिन पीएम नरेंद्र मोदी ने बनारस के लोगों को रिटर्न गिफ्ट दिया। बीएचयू के एमपी थियेटर मैदान आयोजित जनसभा के पहले मोदी ने 557 करोड़ की अलग-अलग परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास किया।

यह भी पढ़ें: कांग्रेस पार्टी में फेरबदल, बिहार की बागड़ोर अब मदन मोहन के हाथ

सोमवार को बच्चों के बीच मोदी जहां एक गुरु की तरह दिखे तो वहीं मंगलवार को एक जनप्रतिनिधि होने के नाते जनता के सामने अपनी उपलब्धियां गिनाई। मोदी ने अपने भाषण में चार साल में किए गए विकास कार्यों को गिनाया।

पीएम मोदी के भाषण की 10 बड़ी बातें

  1. मेरे लिए ये सौभाग्य की बात है देश के लिए समर्पित एक और वर्ष की शुरुआत कर रहा हूं। बाबा विश्वनाथ और मां गंगा के शुभ आशीष से नए साल की शुरूआत कर रहा हूं। आप सभी का ये स्नेह, ये आशीर्वाद मुझे हर पल प्रेरित करता है।
  2. अपने पचास मिनट के भाषण में विरोधियों पर निशाना साधने के बजाय मोदी ने दुनिया के सामने बनारस की बदलती तस्वीर पेश करने की कोशिश की। उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया पर जब लोग बनारस की बदलती तस्वीर को शेयर करते हैं तो मैं बहुत खुश होता हूं।
  3. देशा का पीएम होने के अलावा मैं जनप्रतिनिधि हूं। आप मेरे मालिक हैं। आपके सामने आया हूं, चार साल के कामों का हिसाब देने। साथ ही काशीवासियों से कहा कि सांसद के रूप में आपको अपने काम का हिसाब देने के लिए जिम्मेदार हूं। आप मेरे मालिक है, इसीलिए हिसाब देना मेरा दायित्व बनता है।
  4. पुरानी सरकारों पर हमला बोलते हुए कहा- 'रिंग रोड का काम फाइलों में दबा हुआ था। 2014 में हमने शुरू किया लेकिन यूपी में पहले की सरकार ने प्रॉजेक्ट में गति नहीं आने दी। योगी सरकार के आने के बाद तेजी से काम पूरा हुआ।' बिहार नेपाल झारखंड मध्य प्रदेश जाने वाली सड़कों सड़कों को चौड़ा किया जा रहा है।
  5. पर्यटन से परिवर्तन का दौर शुरू हो चुका है। आज घाटों पर गंदगी का अंबार नहीं लगा रहता है बल्कि गंगा नदी का तट एलईडी लाइटों से रौशन दिखता है। बाबतपुर एयरपोर्ट रोड बनने की वजह से अब हर साल 21 लाख लोग इस सड़क से बनारस आ रहे हैं, जबकि इसके पहले ये संख्या सिर्फ 8 लाख तक थी।
  6. हर तरह सड़कों का जाल बिछा हुआ है। कई जगहों पर काम चल रहा है जबकि कई जगहों पर पूरा हो चुका है। वाराणसी में हजारों करोड़ की अनेक सड़क परियोजनाएं चल रही हैं। मडुआडीह फ्लाइओवर का काम पूरा हो चुका है। गंगा नदी पर बने सामने घाट पुल के पूरा होने से, रामनगर आना-जाना और आसान हुआ है। कई दशकों से अंधरा पुल को चौड़ा करने का काम अटका हुआ था। इस काम को भी पूरा किया गया है।
  7. नेशनल हाइवे सात के जरिये वाराणसी से सुलतानपुर, गोरखपुर, हंडिया सड़क संपर्क मार्ग के लिए 1000 करोड़ रुपये तय किए गए। उन्होंने कहा कि पूर्वी भारत के गेटवे के तौर पर वाराणसी का विकास किया जा रहा है।
  8. पीएम ने सबसे अधिक चर्चित स्वच्छता अभियान की सफलता के बारे में बात करते हुए कहा कि काशी ने स्वच्छता के मामले में परिवर्तन देखा है। गलियों, घाटों, सड़कों पर स्वच्छता अब स्थायी हो चुकी है। जापान के पीएम शिंज आबे समेत कई विदेशी नेताओं ने वाराणसी की तारीफ की है, जापान ने तो काशी को कन्वेंशन सेंटर को तोहफा भी दिया है।
  9. पहले भी जब मैं यहां आता था, तो शहर भर में बिजली के लटकते तारों को देखकर हमेशा सोचता था, कि आखिर कब बनारस को इससे मुक्ति मिलगी? आज शहर के एक बड़े हिस्से से लटकते हुए तार गायब हो गए हैं। बाकी जगहों पर भी इन तारों को जमीन के भीतर बिछाने का काम तेज़ी से जारी है।
  10. वैदिक और विज्ञान दोनों के एक साथ चल रहा है। आज यहां एक तरफ बीएचयू में वैदिक विज्ञान केंद्र का शिलान्यास हुआ है तो दूसरी तरफ अटल इनक्यूबेशन सेंटर की भी शुरुआत हुई है। हम सभी को जितना अपनी पुरातन संस्कृति और सभ्यता पर गर्व है उतना ही भविष्य की तकनीक के प्रति हमारा आकर्षण है।

Manali Rastogi

Manali Rastogi

Next Story