‘जय श्रीराम’ कहकर मोदी ने शुरू की ‘मन की बात’, इशारों में बता दिया BJP का ‘विजयमार्ग’

Published by Published: October 11, 2016 | 8:20 pm
Modified: October 12, 2016 | 11:09 am
narendra-modi

लखनऊ: राजनीति के माहिर और चतुर खिलाड़ी पीएम नरेंद्र मोदी ने ऐशबाग की रामलीला में शिरकत कर कोई राजनीति की बात तो नहीं की, लेकिन उनका पूरा संदेश राजनीतिक था। वो जानते हैं कि कहां कब क्या और कैसे बोलना है। पीएम बनने के बाद पहली बार उन्होंने अपना संबोधन ‘जय श्रीराम’ से शुरू किया और ‘जय श्रीराम’ के उद्घोष के साथ ही खत्म किया। संबोधन के बाद उन्होंने कई बार जय श्रीराम के नारे लगाए। ये अगले चुनाव के लिए एक खास संदेश था कि बीजेपी की धारा यही होने वाली है।

अब से पहले तक नरेंद्र मोदी चुनाव को लेकर राम के नाम से बचते रहे थे। लोकसभा के चुनाव के वक्त भी वो फैजाबाद गए, लेकिन रामलला का दर्शन करने नहीं जा सके या जानबूझकर नहीं गए। अयोध्या हालांंकि उनके मन में बसता है। जहां राम मंदिर के निर्माण के लिए पूरे देश में तूफान उठ खड़ा हुआ था। अब राजनीतिक दल उनके जय श्रीराम के नारे का अपने हिसाब से अर्थ निकालेंगे। अर्थ जो भी निकाला जाय, लेकिन ये तय हो गया कि यूपी विधानसभा चुनाव में बीजेपी की दिशा और दिशा फिर से राम मंदिर निर्माण ही रहने वाली है। बड़ी़ चतुराई से मोदी ने बिना कुछ कहे अयोध्या का चुनावी कार्ड खेल दिया।

अब यूपी बीजेपी को तय करना है कि इसका इस्तेमाल वो कैसे करेगी। अयोध्या एक बार फिर बीजेपी को यूपी की गद्दी दे सकती है। मोदी ने इसके लिए दशहरे के दिन को चुना। विजयादशमी के दिन ऐसे ही राम का नाम लिया जा सकता है लेकिन कहा जाता है कि राजनीतिज्ञ के किसी भी बोल या बात में सिर्फ राजनीति ही होती है।

उन्होंने यूपी को दुनिया की बेमिसाल धरती बताते हुुए कहा कि ये राज्य इसलिए भी महत्वपूर्ण है कि यहां राम और श्रीकृष्ण ने जन्म लिया। दशहरा की परिभाषा भी गढ़ी और कहा कि दशहरा मतलब दस बुराइयों को खत्म करना।

रावण रूपी आतंकवादी को हम हर साल जलाते हैं। जबकि दुनियां में आतंकवाद के खिलाफ लड़ने वाला पहला शख्स जटायु था। उसने एक नारी के सम्मान के लिए अपनी जान तक दे दी। पाकिस्तान का नाम लिए बिना कहा कि जो लोग आतंकवाद को पनाह देते हैं उनको पूरी तरह खत्म करना होगा। मसलन पाकिस्तान किसी बड़ी कार्रवाई झेलने को तेयार रहे। मोदी ने कहा कि पूरी दुनियां आतंकवाद से पीड़ित है। बेगुनाह लोग मारे जा रहे हैं। पहले भारत और अब पूरी दुनियां आतंकवाद का दंश झेल रही हैं।

उन्होंने बेटी बचाओं का भी संदेश दिया ओर कहा कि हम रोज कितनी ही सीता को कोख में ही मार देते हैं। रोज सीता मर रही या मार दी जा रही है। सीता बचेगी तो देश भी बचेगा।
पीएम कई संदेश दे गए। गंदगी रूपी आतंकवाद को भी मार देने को कहा। गंदगी से होने वाली बीमारी से कई बच्चे असमय काल के गाल में समा जाते हैं।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App