×

UP News: सुभासपा में नहीं थम रही भगदड़, अब इस नेता ने दिया इस्तीफा, क्या कोई साजिश है?

UP Politics News: सुभासपा के अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर को झटके पर झटका लग रहा है। वह अपने नेताओं को रोक पाने में नाकाम साबित हो रहे हैं।

Rahul Singh Rajpoot
Updated on: 16 Sep 2022 2:01 PM GMT
SBSP President Om Prakash Rajbhar
X

SBSP President Om Prakash Rajbhar (image social media)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

UP Politics News: सुभासपा के अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर को झटके पर झटका लग रहा है। उनकी पार्टी में भगदड़ मची हुई है और वह अपने नेताओं को रोक पाने में नाकाम साबित हो रहे हैं। शुक्रवार को एक और ओपी राजभर के एक और करीबी ने पार्टी को अलविदा कह दिया। ओम प्रकाश राजभर पर लगातार आरोप लग रहे हैं कि वह पार्टी नेताओं की अनदेखी कर अपने परिवार को आगे बढ़ा रहे हैं। जिससे उनके अपने अब एक एक कर उनसे नाता तोड़कर अलग राह अपना रहे हैं।

प्रदेश महासचिव लालजी राजभर ने दिया इस्तीफा

ओपी राजभर की पार्टी सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के प्रदेश महासचिव लालजी राजभर ने शुक्रवार को अपने लोगों के साथ पार्टी से त्याग पत्र दे दिया। लालजी राजभर अपने समर्थकों के साथ मऊ जिले एक गेस्ट हाउस में सामूहिक इस्ताफा दिया। लालजी राजभर अब नवरात्रि पर अपनी पार्टी के गठन का एलान करेंगे। उन्होंने पार्टी का नाम भी तय कर लिया है। नई पार्टी का नाम सुहेलदेव स्वाभिमान पार्टी होगा। नई पार्टी के झंडे पर सुहेलदेव की फोटो रहेगी। नई पार्टी में समाज के उपेक्षित कार्यकर्ताओं को जगह दी जाएगी।

इसके साथ ही राजभर का साथ छोड़ने वाले नेताओं को भी पूरा सम्मान देने की बात कही जा रही है। गौरतलब है कि यूपी विधानसभा का चुनाव समाजवादी पार्टी के साथ मिलकर लड़े ओपी राजभर चुनाव नतीजों के बाद उन पर ही हमलावर हो गए। जिसके बाद दोनों दलों का तालमेल खत्म हो गया और राजभर की बीजेपी ने नजदीकियां बढ़ने लगीं। सबसे पहले उनके प्रदेश अध्यक्ष ने उनका साथ छोड़ा था उसके बाद से यह सिलसिला लगातार जारी है। बागी नेताओं का आरोप है कि ओपी राजभर केवल अपने परिवार को बढ़ा रहे हैं। वह पैसा लेकर पार्टी का टिकट बेचते हैं।

2024 में क्या होगा?

एक के बाद एक नेताओं के साथ छोड़ने से अब सवाल यह उठ रहा है कि क्या 2024 के लोकसभा चुनाव से पहले ओम प्रकाश राजभर को कोई कमजोर करने की कोशिश कर रहा है। यह सुभासपा प्रमुख के लिए वाकई चिंतन का विषय है।

Prashant Dixit

Prashant Dixit

Next Story