×

मुगलसराय स्टेशन के नाम पर ‘पोस्टर वॉर : नक्सलियों की धमकी, BJP का पलटवार

मुगलसराय रेलवे स्टेशन के नाम को लेकर सियासत जारी है। पॉलिटिकल पार्टियों के बाद अब नक्सली संगठन भी नाम बदलने को लेकर आपत्ति जाहिर कर रहे हैं।

tiwarishalini

tiwarishaliniBy tiwarishalini

Published on 9 Oct 2017 8:54 AM GMT

मुगलसराय स्टेशन के नाम पर ‘पोस्टर वॉर : नक्सलियों की धमकी, BJP का पलटवार
X
मुगलसराय स्टेशन के नाम ‘पोस्टर वॉर, नक्सलियों की धमकी पर BJP का पलटवार
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

चंदौली : मुगलसराय रेलवे स्टेशन के नाम को लेकर सियासत जारी है। पॉलिटिकल पार्टियों के बाद अब नक्सली संगठन भी नाम बदलने को लेकर आपत्ति जाहिर कर रहे हैं। नक्सलियों ने भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के खिलाफ पोस्टर वॉर के जरिए मोर्चा संभाला है। बीजेपी के स्थानीय नेताओं के मुताबिक, पार्टी इन धमकियों से डरने वाली नहीं है। बीजेपी के पूर्व जिलाध्यक्ष शमशेर सिंह ने स्थानीय पुलिस प्रशासन से इस मामले को गंभीरता से लेते हुए कड़ी कार्रवाई की मांग की है। newstrack.com/अपना भारत से बात करते हुए उन्होंने कहा कि नक्सलियों की कायराना हरकत से पार्टी अपने कदम पीछे नहीं हटाने वाली है।

यह भी पढ़ें ... योगी के लिए गले की हड्डी बनेगा मुगलसराय स्टेशन का नाम बदलना

पुलिस ले रही है सीसीटीवी का सहारा

पोस्टर लगाने वालों के खिलाफ पुलिस ने कार्रवाई तेज कर दी है। एसपी संतोष सिंह के मुताबिक, स्टेशन के पास लगे सीसीटीवी कैमरों का सहारा लिया जा रहा है। जिससे पोस्टर लगाने वालों की पहचान हो सके। इसके अलावा आसपास मौजूद दुकानदारों और स्थानीय लोगों से भी पूछताछ की जा रही है। एसपी के अनुसार, मुकदमा पंजीकृत कर लिया गया है। पोस्टर लगाने और छपवाने वाले की पहचान की जा रही है। जिससे उन्हें अरेस्ट किया जा सके।

नक्सल हिंसा प्रभावित है चंदौली जिला

चंदौली की गिनती नक्सल प्रभावित जिलों में होती है। नक्सली प्राय: जन अदालत लगाकर छह इंच छोटा करने की धमकी ही नहीं देते बल्कि उसे अमली जामा पहनाते हैं। हालांकि जिले में एक दशक से कोई बड़ी नक्सली वारदात नहीं हुई हुई है। लेकिन, मुगलसराय जंक्शन का नाम बदलने को लेकर उनके अंदाज में धमकी देने का मामला प्रकाश में आया है। सिर्फ धमकी तक ही मामला सीमित नहीं है बल्कि इसे लेकर कई स्थानों पर पोस्टर भी लगाए गए हैं।

यह भी पढ़ें ... नगर पालिका मुगलसराय अब दीनदयाल नगर के नाम से जाना जाएगा

लंबे समय से नाम बदलने को लेकर चल रही राजनीति

लंबे समय से मुगलसराय जंक्शन का नाम बदलने को लेकर राजनीति अपने चरम पर है। काफी लम्बे समय से बीजेपी मुगलसराय जंक्शन का नाम पंडित दीनदयाल उपाध्याय के नाम पर करने के लिए प्रयासरत है। बीजेपी के नेताओं का तर्क है कि पंडित दीनदयाल की डेड बॉडी ट्रेन में घायल होने के बाद यहां मिली थी। जिससे मुगलसराय जंक्शन का नाम उनके नाम पर रखा जाना तर्कसंगत होगा। दूसरी तरफ कांग्रेस इसका विरोध करती आ रही है। कांग्रेसियों का तर्क है कि स्वर्गीय लाल बहादुर शास्त्री का जन्म मुगल सराय में हुआ था और वह देश के पीएम बने। इसलिए उनके नाम पर मुगलसराय जंक्शन का नाम रखा जाना न्याय संगत होगा।

यह भी पढ़ें ... मुगलसराय स्टेशन का नाम बदलने को लेकर राज्यसभा में मचा हंगामा

tiwarishalini

tiwarishalini

Excellent communication and writing skills on various topics. Presently working as Sub-editor at newstrack.com. Ability to work in team and as well as individual.

Next Story