Top

जावड़ेकर ने क्यों कहा- केजरीवाल देशद्रोही नारों का समर्थन करते हैं? यहां जानें

जेएनयू के पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार पर विश्वविद्यालय परिसर में देशद्रोही नारे लगाने के मामले में दिल्ली पुलिस ने शुरुआती जांच के आधार पर आरोप पत्र दायर कर मुकदमा चलाने के लिये दिल्ली सरकार के गृह विभाग से अनुमति मांगी है।

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 19 Sep 2019 10:48 AM GMT

जावड़ेकर ने क्यों कहा- केजरीवाल देशद्रोही नारों का समर्थन करते हैं? यहां जानें
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: केंद्रीय पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने गुरुवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री और आप संयोजक अरविंद केजरीवाल पर देशद्रोही नारों का समर्थन करने का आरोप लगाते हुए उनकी आलोचना की।

जावड़ेकर ने कहा कि देशद्रोह से जुड़े एक मामले में अदालत के लगातार कहे जाने के बाद भी मुकदमा चलाने की मंजूरी नहीं देने से साबित

होता है कि देशद्रोही नारे लगाने वालों का समर्थन करते हैं।

ये भी पढ़ें...दीक्षांत समारोह में बोले प्रकाश जावड़ेकर- दिव्यांगों को जल्द मिल सकता है सेंट्रल यूनिवर्सिटी का तोहफा

देशद्रोही नारों का समर्थन करते है केजरीवाल: जावडेकर

जावड़ेकर ने दिल्ली विधानसभा चुनाव के मद्देनजर भाजपा के बतौर चुनाव प्रभारी, दिल्ली भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी सहित पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के साथ बैठक के बाद संवाददाताओं से कहा, ‘दिल्ली के मुख्यमंत्री से अदालत बार बार पूछ रही है कि आप देशद्रोही नारों के खिलाफ मुकदमा चलाने की अनुमति दें। लेकिन अब यही कहना पड़ेगा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री हैं जो देशद्रोही नारों का समर्थन करते हैं।’

उल्लेखनीय है कि जेएनयू के पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार पर विश्वविद्यालय परिसर में देशद्रोही नारे लगाने के मामले में दिल्ली पुलिस ने शुरुआती जांच के आधार पर आरोप पत्र दायर कर मुकदमा चलाने के लिये दिल्ली सरकार के गृह विभाग से अनुमति मांगी है।

केजरीवाल सरकार द्वारा इसकी मंजूरी नहीं दिये जाने के कारण अदालत में मुकदमा शुरु नहीं हो पाया है। जावड़ेकर ने कहा कि यह अब साफ हो गया है कि जेएनयू में लगाये गये देशद्रोही नारों का केजरीवाल समर्थन करते है।

उन्होंने कहा कि अगर समर्थन नहीं करते होते तो वे मुकदमा चलाने की मंजूरी दे देते, लेकिन अदालत के बार बार कहने पर भी उन्होंने मंजूरी इसलिये नहीं दी है कि वे मन से इन नारों का समर्थन करते हैं।

जावड़ेकर ने कहा, ‘दिल्ली की जनता में इसे लेकर आक्रोश है। इस मामले में कौन दोषी है, यह तय करना अदालत का काम है, लेकिन अदालत में मुकदमा जाने ही नहीं देना, मुख्यमंत्री का पाप है और अब यह पर्दाफाश हो गया कि वे इन नारों का समर्थन करते हैं और हम इसकी तीखी भर्त्सना करते हैं।’

ये भी पढ़ें...खराब सफाई व्यवस्था के कारण बहुत से पर्यटक भारत नहीं आते : जावडेकर

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story