Top

राहुल गांधी का बयान- ‘पीएम मोदी कमांडर इन थीफ’, पहले बताया था ‘चोर’

sudhanshu

sudhanshuBy sudhanshu

Published on 24 Sep 2018 10:24 AM GMT

राहुल गांधी का बयान- ‘पीएम मोदी कमांडर इन थीफ’, पहले बताया था ‘चोर’
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

अमेठी: जिले में सोमवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अमेठी दौरे पर पहुंचते ही राफेल डील को लेकर पीएम मोदी पर एक बार फिर से कड़ा हमला बोला है। राहुल गांधी ने ट्विटर पर फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति का एक वीडियो शेयर करते हुए लिखा कि भारत के 'कमांडर इन थीफ' के बारे में दुखद सच्चाई। इससे पहले राहुल गांधी नरेंद्र मोदी को चोर कह चुके हैं। जिसके बाद भाजपा भड़क गई थी। ऐसा माना जा रहा है कि राहुल गांधी के इस बयान के बाद उन्‍हें एक बार फिर से भाजपाईयों का गुस्‍सा झेलना पड़ सकता है।

ये है मामला

राहुल गांधी ने जिस वीडियो को ट्वीट किया है, उस वीडियो में एक जर्नलिस्ट, भारत और फ्रांस की बीच हुई राफेल डील को लेकर फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति के बयानों को बता रहा है। वीडियो में मौजूद शख्स कह रहा है कि फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति ओलांद ने राफेल डील के बारे में कहा कि भारत सरकार की ओर से अंबानी की कंपनी का नाम सुझाया गया था और उनके पास कोई च्वाइस नहीं थी। उस शख्स ने कहा कि, ओलांद लेफ्ट विंग से प्रेसिडेंट थे। उनके शासन काल में इतना बड़ा घोटाला सामने आया है। शख्स ने इस वीडियो में पीएम मोदी और रिलायंस पर कई आरोप लगाए गए हैं। ये विवाद फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति ओलांद के उस बयान के बाद खड़ा हुआ जिसमें उन्होंने कहा है कि भारत सरकार ने फ्रांस को अनिल अंबानी की कंपनी रिलायंस डिफेंस के अलावा कोई विकल्प ही नहीं दिया था। ओलांद के मुताबिक भारत सरकार ने राफेल बनाने वाली कंपनी डसॉल्ट के लिए अंबानी की कंपनी का इकलौता विकल्प दिया था। पीएम मोदी ने साल 2015 में जब राफेल सौदे को अमली जामा पहनाया था, तब ओलांद ही फ्रांस के राष्ट्रपति थे।

महिलाओं की शक्ति का कराएंगे एहसास

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी बहादुरपुर के निगोहा में राजीव गांधी महिला विकास परियोजना के कार्यालय का उद्दघाटन करने पहुंचे। यहां उन्होंने स्वयं सहायता समूह के कार्यकर्ताओं से भेंट की और कहा कि हमें समूह को और मजबूत करना है, जिससे पूरे देश को महिलाओं की शक्ति का अहसास हो सके।

राहुल गांधी ने कहा कि उत्तर प्रदेश में स्वयं सहायता समूह से 16 लाख महिलाएं जुड़ी हैं, जो खुद को मजबूत करने के साथ समाज को मजबूत कर रही है। भारत मे सबसे पहले यह परियोजना आंध्र प्रदेश में शुरू हुई थी, और उत्तर प्रदेश में इसे शुरू करना हमारे लिये बड़ी चुनौती थी। कई लोगो ने इसे उत्तर प्रदेश में शुरू करने की कोशिश की, लेकिन वो फेल हो गए। फिर हमने इसे चुनौती के रूप में लिया और हम सफल हुए। राहुल ने महिलाओं से कहा इसे अभी और आगे बढ़ाना है। पूरे देश मे महिलाओं की शक्ति का अहसास कराना है। राहुल ने कहा लड़कियों के समूह से बात हुई तो उन्होंने बताया कि वह सेल्फ डिफेंस सिख रही है इससे उनके मन से डर दूर होगा। राहुल ने नारी सशक्तिकरण पर दिया जोर कहा उत्तर प्रदेश में राजीव गांधी परियोजना की शुरुआत पांच महिलाओं ने की थी। आज इसमे लाखों महिलाएं जुड़ गई है। राहुल ने कहा इस कार्य मे कई बड़ी कंपनियों भी साथ है, जिसमें टाटा फाउंडेशन व बिल ग्रेट भी जुड़े है।

गौरतलब हो कि दो दिवसीय दौरे पर राहुल गांधी का फोकस विकास पर रहेगा। वो अमेठी में 305 लाख रुपये के सांसद निधि की योजनाओं का शिलान्यास करेंगे। इसके साथ ही जामों के मंडखा गांव में ग्राम प्रधानों से वर्तमान सरकार के विकास की हकीकत जानेंगे। मंगलवार को होने वाली जिला विकास व निगरानी समिति में भी जिले के विकास योजनाओं का हिसाब लेंगे।

वही दो दिवसीय अमेठी दौरे पर राहुल गांधी को बतौर 'शिवभक्त' के प्रॉजेक्ट किया गया। अमेठी के कांवड़ियों के संघ ने उनका स्वागत किया। राहुल ने भी शिव आराधना कर अपने यात्रा की शुरुआत की। सड़कों पर लगे बैनर और पोस्टर भी इस बात की गवाही देते हैं कि अब यूपी की सियासत धर्म पर सिमट कर रह गई है। राहुल गांधी की तस्वीरों के साथ कैलाश मानसरोवर और भगवान शिव की तस्वीरें लगाई गई हैं। इतना ही नहीं पोस्टर में राहुल गांधी को शिवभक्त भी बताया गया है। उधर राहुल के लिए बने मंच पर मौजूद प्रदेश कांग्रेस कमेटी मेंबर प्रदीप सिंघल ने राहुल गांधी को शिव की प्रतिमा प्रतीक चिन्ह के रूप में देते हुए भोलेनाथ का गमछा भी भेंट किया।

sudhanshu

sudhanshu

Next Story