Top

राजनाथ सिंह की हुंकार- हम खुद किसी को छेड़ते नहीं, जो छेड़ते हैं उन्हें छोड़ते नहीं

aman

amanBy aman

Published on 7 Feb 2017 2:07 PM GMT

राजनाथ सिंह की हुंकार- हम खुद किसी को छेड़ते नहीं, जो छेड़ते हैं उन्हें छोड़ते नहीं
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

मेरठ: केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने एक बार फिर पाकिस्तान को ललकारते हुए कहा कि 'भारत अब किसी से कमजोर नहीं रहा। हम सत्य, अहिंसा में विश्वास रखते हैं। हम खुद किसी को छेड़ते नहीं और छेड़ने वालों को छोड़ते नहीं।'

उत्तर प्रदेश में सरकार बनने पर उन्होंने लघु और सीमांत किसानों का कर्ज माफ करने और तीन से छह माह के भीतर संपूर्ण गन्ना मूल्य भुगतान कराने की बात कही।

सत्यवीर त्यागी के लिए मांगे वोट

राजनाथ सिंह मंगलवार (7 फ़रवरी) को गढ़ रोड स्थित गांव सिसौली में किठौर विधानसभा क्षेत्र के बीजेपी प्रत्याशी सत्यवीर त्यागी के समर्थन में चुनावी जनसभा को संबोधित कर रहे थे।

हमने घुसकर हमलावरों को मारा

राजनाथ सिंह ने आतंकवादी गतिविधियों पर चर्चा करते हुए कहा कि 'चार माह पहले कुछ पाकिस्तानियों ने हमारी सीमा में घुसकर हमला किया था। हमने दृढ़ निश्चय के साथ पाकिस्तान की सीमा में घुसकर हमलावरों को मौत के घाट उतार दिया। यह इतना बताने के लिए काफी है कि अब हम किसी से कमजोर नहीं हैं।'

आगे की स्लाइड्स में पढ़ें पूरी खबर

हमारी सरकार पर नहीं हैं भ्रष्टाचार के आरोप

बीजेपी सांसद ने कहा, 'आजाद भारत में अटल बिहारी वाजपेयी के बाद पीएम नरेंद्र मोदी ने दुनियाभर में भारत का मस्तक ऊंचा किया है। ढाई साल में कोई यह नहीं कह सकता कि हमारे एक भी मंत्री पर भ्रष्टाचार का दाग लगा है। विरोधी कुछ भी कहें लेकिन दुनिया के बड़े से बड़े अर्थशास्त्री भी मान रहे हैं कि जब से केंद्र में बीजेपी की पूर्ण बहुमत वाली सरकार बनी है, तब से भारत की अर्थव्यवस्था तेजी से बढ़ी है।'

मैं आंखों में आंखें डालकर राजनीति करता हूं

सपा-कांग्रेस पर केंद्रीय गृहमंत्री ने कहा कि 'सपा कहती है कि हमने यूपी में विकास किया है। लेकिन विकास कहां किया है कोई नहीं बता सकता। ये लोग जनता की आंखों में धूल झोंक रहे हैं। मैं आंखों में धूल झोंककर नहीं, आंखों में आंखें डालकर राजनीति करता हूं।'

कई मुद्दों पर सपा सरकार को घेरा

सपा सरकार को घेरते हुए राजनाथ बोले, प्रदेश में लोगों को न तो पर्याप्त बिजली मिल रही है और न पानी। मैं जब यूपी का मुख्यमंत्री था तो पूरे प्रदेश को बिजली दी थी। किसानों का संपूर्ण गन्ना मूल्य भुगतान कराया था। अब फिर हमारी सरकार बनी तो एक साल में 12 से 14 घंटे और पांच साल में 24 घंटे बिजली देंगे। कानून व्यवस्था, पुलिस की भर्ती, पशु कटान और पशु चोरी, बेरोजगारी आदि के मुद्दे पर उन्होंने सपा सरकार को घेरा।

आगे की स्लाइड में पढ़ें राजनाथ सिंह की घोषणाएं

राहुल कर रहे पंचर साइकिल की सवारी

दूसरी तरफ, राहुल गांधी पर तंज कसते हुए उन्होंने कहा, पहले इन्होंने खाट पंचायत की, लेकिन अब खाट से उतरकर साइकिल पर सवार हो गए, लेकिन जिस साइकिल पर वह बैठे हैं वह पंचर हो चुकी है। खुद मुलायम सिंह यादव कह चुके हैं कि हमारे बेटे ने कांग्रेस के साथ हाथ मिलाकर उनकी जीवन भर की कमाई को धो डाला है।

इसी सभा में किठौर क्षेत्र के प्रत्याशी सत्यवीर त्यागी ने कहा कि 'किठौर की जनता ने इस बार मंत्री की जमानत जब्त कराने का मन बना लिया है। न गुंडाराज, न भ्रष्टाचार, अबकी बार भाजपा सरकार।'

राजनाथ सिंह ने की ये घोषणाएं:

-यूपी में सरकार बनने पर एक साल में 12 से 14 घंटे और पांच साल में 24 घंटे बिजली देंगे।

-निर्धारित समय पर गन्न मूल्य भुगतान

-लघु और सीमांत किसानों का कर्जा माफ करेंगे

-फसली ऋण पर पहले साल कोई ब्याज नहीं देना होगा

-गरीब कन्याओं को ग्रेजुएशन तक की निशुल्क शिक्षा

-लड़कों को बारहवीं तक निःशुल्क और इंटर में 50 फीसदी से अधिक अंक पाने वालों को ग्रेजुएशन में निशुल्क शिक्षा

-मजदूरों, रिक्शा चालकों का दो लाख तक का बीमा

-ग्रुप थ्री और चतुर्थ श्रेणी की नौकरियों में इंटरव्यू खत्म आदि।

aman

aman

अमन कुमार, सात सालों से पत्रकारिता कर रहे हैं। New Delhi Ymca में जर्नलिज्म की पढ़ाई के दौरान ही ये 'कृषि जागरण' पत्रिका से जुड़े। इस दौरान इनके कई लेख राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय और कृषि से जुड़े मुद्दों पर छप चुके हैं। बाद में ये आकाशवाणी दिल्ली से जुड़े। इस दौरान ये फीचर यूनिट का हिस्सा बने और कई रेडियो फीचर पर टीम वर्क किया। फिर इन्होंने नई पारी की शुरुआत 'इंडिया न्यूज़' ग्रुप से की। यहां इन्होंने दैनिक समाचार पत्र 'आज समाज' के लिए हरियाणा, दिल्ली और जनरल डेस्क पर काम किया। इस दौरान इनके कई व्यंग्यात्मक लेख संपादकीय पन्ने पर छपते रहे। करीब दो सालों से वेब पोर्टल से जुड़े हैं।

Next Story