Top

जबरदस्ती राम मंदिर निर्माण होगा न्यायपालिका के मुंह पर तमांचा : हसनुल हाशमी

sudhanshu

sudhanshuBy sudhanshu

Published on 5 Nov 2018 1:03 PM GMT

जबरदस्ती राम मंदिर निर्माण होगा न्यायपालिका के मुंह पर तमांचा : हसनुल हाशमी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

सहारनपुर: आलमी रुहानी तहरीक के अध्यक्ष, देवबंदी उलेमा मौलाना हसनुल हाशमी ने कहा अगर जोर जबरदस्ती के साथ राम मंदिर बनाया गया तो यह मुसलमानों के नहीं बल्कि देश की न्याय पालिका के मुंह पर तमांचा होगा।

मौलाना हसनुल हाशमी ने जारी बयान में कहा कि वर्तमान समय में देश में नफरत की राजनीति को हवा दी जा रही है। मंदिर व मस्जिद के नाम पर देश के लोगों को बांटने का काम किया जा रहा है। ताकि कुछ लोग इसका लाभ उठाकर 2019 के चुनाव में जीत हासिल कर सकें।

ये भी देखें:

एक पक्ष खुलकर कर रहा बयानबाजी

मौलाना ने दो टूक कहा कि देश के सर्वोच्च न्यायालय में विचाराधीन अयोध्या मामले पर जिस तरह एक पक्ष द्वार खुलकर ब्यानबाजी की जा रही है उसके बेहद गम्भीर परिणाम हो सकते हैं। उन्‍होंने कहा कि अगर जोर जबरदस्ती के साथ राम मंदिर का निर्माण किया गया तो यह मुसलमानों नहीं बल्कि देश की न्याय व्यवस्था के मुंह पर तमांचा होगा। और दुनिया भर में हिंदुस्तानी न्याय पालिका की इज्जत खाक में मिल जाएगी।

ये भी देखें:

बीजेपी की मजबूरी है हिंदू-मुस्लिम राजनीति

मौलाना ने देश की सत्ता पर आसीन भाजपा पर खुला हमला करते हुए कहा कि हिंदू-मुस्लिम राजनीति करना भाजपा की मजबूरी है क्योंकि उसने अपने कार्यकाल में न हिंदुओं के लिए कुछ किया और न मुसलमानों के लिए। इसी लिए वह अपनी कमियां छुपाने के लिए देश की दो सबसे बड़ी आबादियों को बांटने के प्रयास में लगी हुई है। मौलाना ने कहा कि देश भर से दीवाली मिलन कार्यक्रम के नाम पर दोनों समुदाय के जिम्मेदार लोगों के सिर जोड़कर बैठने की खबरे आ रही हैं। जो इस बात का सबूत हैं कि हम दोनों ही आपस में लडऩा नहीं चाहते। हमें तो कोई और अपने फायदे के लिए बेवकूफ बनाने का काम कर रहा है। मौलाना ने कहा कि दीवाली का त्यौहार बुराई पर अच्छाई की जीत का त्यौहार है। इसलिए हम लोगों को समझना होगा कि हमारा व हमारे प्यारे देश का फायदा एक साथ मिलजुल कर रहने में है या फिर धर्म के नाम पर बंटने में है।

sudhanshu

sudhanshu

Next Story