Top

सर्वसम्मति से दिल्ली विधानसभा के अध्यक्ष चुने गए राम निवास गोयल

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली की नई विधानसभा का पहला सत्र सोमवार को शुरू हुआ। यह सत्र बहुत छोटा होगा जो केवल तीन दिनों तक चलेगा। अस्थाई विधानसभा अध्यक्ष नियुक्त किए गए मटिया महल के विधायक शोएब इकबाल ने शपथ ग्रहण की कार्यवाही का संचालन किया।

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 24 Feb 2020 3:32 PM GMT

सर्वसम्मति से दिल्ली विधानसभा के अध्यक्ष चुने गए राम निवास गोयल
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली की नई विधानसभा का पहला सत्र सोमवार को शुरू हुआ। यह सत्र बहुत छोटा होगा जो केवल तीन दिनों तक चलेगा। अस्थाई विधानसभा अध्यक्ष नियुक्त किए गए मटिया महल के विधायक शोएब इकबाल ने शपथ ग्रहण की कार्यवाही का संचालन किया।

इसके बाद राम निवास गोयल को फिर से दिल्ली विधानसभा का अध्यक्ष का चुन लिया गया. सोमवार को शुरू हुए इस सत्र में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और मनीष सिसोदिया ने सदस्यों के तौर पर शपथ ली।

हाल ही में हुए विधानसभा चुनाव में जीत के बाद आम आदमी पार्टी ने तीसरी बार दिल्ली में सरकार बनाई है और चुनाव के बाद यह पहला सत्र है। पर्यावरण मंत्री गोपाल राय और स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने भी विधायकी की शपथ ली। केजरीवाल ने राम निवास गोयल को सर्वसम्मति से अध्यक्ष चुने जाने पर उनको बधाई और शुभकामनाएं दी हैं।

ये भी पढ़ें...आम आदमी पार्टी ने की गृह मंत्री अमित शाह के इस्तीफे की मांग

'दिल्ली विकास मॉडल' पर वोट मांगेगी पार्टी

दिल्ली में लगातार दूसरी बार प्रचंड जीत से उत्साहित आम आदमी पार्टी की नजर अब उत्तर प्रदेश पर टिक गई है और राज्य के अगले विधानसभा चुनाव में पार्टी 'दिल्ली विकास मॉडल' पर वोट मांगेगी।

दिल्ली विधानसभा चुनाव के बाद रविवार को पहली बार लखनऊ के दौरे पर गए आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संजय सिंह ने पीटीआई से बातचीत में कहा था कि राजनीतिक लिहाज से सबसे संवेदनशील राज्य उत्तर प्रदेश में पार्टी अपनी जमीन तैयार करने में जुट गई है।

संजय सिंह ने कहा था कि आम आदमी पार्टी इस बात के लिए आश्वस्त है कि वर्ष 2022 में होने वाला उत्तर प्रदेश विधानसभा का चुनाव विकास के मुद्दे पर लड़ा जाएगा। भाजपा की तमाम जहरीली बातों और हथकंडों के बावजूद दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार की लगातार तीसरी बार सत्ता में वापसी बेहद सुखद है। इससे संकेत मिलते हैं कि जनता अब नफरत की राजनीति के बजाय विकास देखना चाहती है।

आम आदमी पार्टी के खाते में जुड़े शाहीनबाग का खर्चा: भाजपा

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story