Top

रिटायर IAS सूर्य प्रताप दुविधा में, योगी सरकार का नहीं करेंगे अंध समर्थन, खोलते रहेंगे पोल

विधानसभा चुनाव के दौरान उत्तराखंड में बीजेपी की सदस्यता ग्रहण करने वाले रिटायर आईएएस सूर्य प्रताप​ सिंह असमंजस मे हैं।

tiwarishalini

tiwarishaliniBy tiwarishalini

Published on 23 April 2017 3:49 PM GMT

रिटायर IAS सूर्य प्रताप दुविधा में, योगी सरकार का नहीं करेंगे अंध समर्थन, खोलते रहेंगे पोल
X
रिटायर IAS सूर्य प्रताप दुविधा में, योगी सरकार का नहीं करेंगे अंध समर्थन, खोलते रहेंगे पोल
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: विधानसभा चुनाव के दौरान उत्तराखंड में बीजेपी की सदस्यता ग्रहण करने वाले रिटायर आईएएस सूर्य प्रताप​ सिंह असमंजस मे हैं। दुविधा है कि यदि वह प्रदेश में सत्तासीन रही पूर्व की सपा और बसपा सरकारों का पक्ष लें तो खुद को अपनी नजरों में 'घटा' पाते हैं और नए निजाम का पक्ष लेने पर 'भगवा चाटुकार' सा लगने का भय है। इसलिए उन्होंने तय किया कि अब वह योगी सरकार का अंध समर्थन नहीं करेंगे। बल्कि तटस्थ रहकर जनता को सजग करते रहेंगे। यानि पोल खालते रहेंगे...

यह भी पढ़ें ... गेहूं और आलू खरीद पर पूर्व आईएएस सूर्य प्रताप सिंह बोले- क्या कर रहे हैं डीएम झांसी ?

सपा और बसपा सरकारों का भी नहीं करेंगे अंध विरोध

रिटायर आईएएस सूर्य प्रताप​ सिंह कहा ​कि अब वह पूर्व की दो सरकारों का अंध-विरोध नही करेंगे और ना ही वर्तमान सरकार का अंध समर्थन करेंगे। बल्कि अब वह योगी सरकार के काम देखेंगे और उसे जनहित की कसौटी पर कसेंगे। इनमें से जो जनहित में होंगे, उनका पक्ष लेंगे और जो निर्णय खाली 'प्रपंच व दिखावे' के लिए 'ग़रीब' को भ्रमित करने के लिए होंगे, उनका 'सुझावात्मक' प्रतिरोध (समालोचना) करेंगे। झूठे वादों और खोखले 'दिव्य-स्वप्न' दिखाने वाली बातों से जनमानस को हम सब मिलकर सजग यानि आगाह करते रहेंगे।

यह भी पढ़ें ... पूर्व IAS ने बयां किया अन्नदाता का दर्द, साहूकारी कर्ज में दबे किसान बनकर रह गए बंधुआ मजदूर

सत्ताधीश सत्ता परिवर्तन में उनके योगदान को नकार सकते हैं

अपने फेसबुक वाॅल पर रिटायर आईएएस सूर्य प्रताप​ सिंह ने लिखा कि तीन साल से अधिक समय से प्रदेश में पिछली दो सरकारों के विरोध में खड़ा रहा। जमकर संघर्ष किया, तब जाकर यह परिवर्तन आया। योगी जी के नेतृत्व में निजाम बना। उन्होंने यह भी कहा है कि संभव है कि आज के सत्ताधीश दम्भवश प्रदेश में सत्ता परिवर्तन के उनके योगदान को स्वीकार न करें। इसलिए उन्हें लगता है कि वह एक दुधारी तलवार की नोक पर बैठे हैं।

यह भी पढ़ें ... यूपी के रिटायर्ड IAS ने दिखाया लचर नौकरशाही का आईना, बताईं नए सीएम की चुनौतियां

सपा सरकार में नकल माफियाओं के खिलाफ उठाई थी आवाज

सपा सरकार में माध्यमिक शिक्षा के प्रमुख सचिव के पद पर रहते हुए सूर्य प्रताप सिंह ने नकल माफियाओं के खिलाफ आवाज उठाई थी। हालां​कि इसके बाद उन्हें इस पद से हटा दिया गया था पर माफियाओं के खिलाफ उनका अभियान थमा नहीं। लोकसेवा आयोग की परीक्षाओं में धांधली के मामले में उन्होंने स्टूडेंट्स के साथ इलाहाबाद में अनशन में भी हिस्सा लिया। यही कारण है कि सपा सरकार में उन्हें बागी आईएएस का तमगा हासिल था।

tiwarishalini

tiwarishalini

Excellent communication and writing skills on various topics. Presently working as Sub-editor at newstrack.com. Ability to work in team and as well as individual.

Next Story