Top

भागवत ने आगरा में दलित तो लखनऊ में श्रमिकों को दी तवज्जो, केंद्र तक पहुंचाई बात

By

Published on 1 Sep 2016 4:08 AM GMT

भागवत ने आगरा में दलित तो लखनऊ में श्रमिकों को दी तवज्जो, केंद्र तक पहुंचाई बात
X
एमएलसी का संघ प्रमुख से सवाल: उमा , योगी और साक्षी महाराज कब होंगे राजनीतिक दलों से होगे दूर
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊः यूं तो कहा जा रहा था कि संघ प्रमुख मोहन भागवत के यूपी प्रवास का सियासत से कोई वास्ता नहीं है। उनका यह दौरा सिर्फ संघ के आनुसंगिक संगठनों को लेकर है पर उनके राजधानी प्रवास ने कुछ और ही संकेत दिए हैं। सूत्रों के मुताबिक इस दौरान भागवत श्रमिक संगठनों के प्रतिनिधियों से मिलें और उनकी बात केंद्रीय वित्त मंत्रालय तक पहुंचाई। इसके अलावा आगरा से लेकर लखनऊ तक संघ प्रमुख मजदूर और दलित वर्ग को तवज्जो देते दिखाई दिए।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्या और पार्टी के यूपी प्रभारी ओम माथुर से मुलाकात में भी कुछ ऐसे ही संकेत मिले हैं और यह सब भाजपा की आगामी चुनावी रणनीति कैसी होगी। इसकी तरफ इशारा करती है। संघ प्रमुख मोहन भागवत राजधानी में अपने प्रवास के दौरान श्रमिक संगठन के प्रतिनिधियों से मिलें और उनकी समस्याएं सुनीं।

ये भी पढ़ें...दाग धोने उतरे मोहन भागवत: RSS के दलित कार्यकर्ता के घर किया भोजन

श्रमिक संगठनों की सुनीं मांगे

-केंद्र सरकार के खिलाफ दो सितम्बर को प्रस्तावित श्रमिक संगठनों की हड़ताल पर बात की।

-श्रमिक संगठनों की मांगे सुनीं और उन्हें हल कराने का आश्वासन दिया।

-आनुसंगिक संगठनों के प्रांतीय पदाधिकारियों और आफिस बीयरर से मिलें।

-सभी संगठनों के आफिस बीयरर की समस्याएं सुनी और उनके समाधान का आश्वासन दिया।

-आनुसंगिक संगठनों के विस्तार पर बात हुई।

-शाखाओं के विस्तार और इसमें युवाओं की भागीदारी बढ़ाने को लेकर हुई चर्चा।

चुनाव की हुई चर्चा

-नए ड्रेस कोड के साथ संघ की विचारधारा को कैसे प्रचारित किया जाए।

-भाजपा प्रतिनिधियों से बैठक में चुनाव को लेकर मंथन हुआ।

-बिहार की गलती यूपी में न हो उस रणनीति पर भी चर्चा हुई।

-सूत्रों के अनुसार अन्य दलों से पार्टी में आने वाले नेताओं को लेकर भी चर्चा हुई।

ये भी पढ़ें...मोहन भागवत के बयान पर योगी ने जताई सहमति, कहा- सबके लिए हो एक पॉलिसी

स्वंयसेवकों को सजग रहने को कहा

-भागवत ने स्वयंसेवकों को संघ की छवि को लेकर सजग रहने की सीख दी।

-किसी भी तरह के विवाद से बचने की दी सलाह।

-खासकर गौ रक्षा से जुड़े मामलों में सतर्क रहने को कहा।

-ताकि संगठन की छवि पर इसका असर न पड़े।

-हिन्दुत्व की विचारधारा किसी के विरोध में नहीं है। हिन्दुत्व किसी का द्वेष और विरोध नहीं है।

-इसके मूल में सबके प्रति प्रेम, विश्वास और आत्मीयता है।

-संघ देशप्रेम के लिए काम करता है।

-स्वयंसेवकों को कट्टरता वाली छवि से बचने को कहा।

-आगरा में दलित स्वंयसेवक के घर खाया था खाना।

ये भी पढ़ें...मोहन भागवत बोले- हिंदुओं को ज्यादा बच्चे पैदा करने से रोकने का नहीं है कोई कानून

दलित कार्यकर्ता के घर किया था भोजन

आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने अपने पांच दिन के आगरा प्रवास के अंतिम दिन (बुधवार) को एक दलित आरएसएस कार्यकर्ता चौधरी राजेंद्र सिंह के केशव कुंज जयपुर हाउस स्थित निवास पर पहुंचे। संघ प्रमुख मोहन भागवत लगभग 30 मिनट तक दलित कार्यकर्ता चौधरी राजेंद्र सिंह के यहां रुके। इस दौरान उन्होंने दलितों के साथ भोजन में चपाती और दाल खाई। राजेंद्र आगरा में जूते बनाने का एक कारखाना चलाते हैं।

Next Story