Top

ज्योतिरादित्य सिंधिया के कांग्रेस छोड़ने के बाद सचिन पायलट ने दिया ये बड़ा बयान

ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कांग्रेस से इस्तीफा देकर बीजेपी में शामिल हो गए हैं। ज्योतिरादित्य सिंधिया के बीजेपी में शामिल होने को राजस्थान के डिप्टी सीएम सचिन पायलट ने दुर्भाग्यपूर्ण बताया है। इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा है कि विवादों को सुलझाया जा सकता था।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumarBy Dharmendra kumar

Published on 11 March 2020 4:30 PM GMT

ज्योतिरादित्य सिंधिया के कांग्रेस छोड़ने के बाद सचिन पायलट ने दिया ये बड़ा बयान
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कांग्रेस से इस्तीफा देकर बीजेपी में शामिल हो गए हैं। ज्योतिरादित्य सिंधिया के बीजेपी में शामिल होने को राजस्थान के डिप्टी सीएम सचिन पायलट ने दुर्भाग्यपूर्ण बताया है। इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा है कि विवादों को सुलझाया जा सकता था।

सचिन पायलट ने ट्वीट कर कहा यह देखना दुर्भाग्यपूर्ण है कि ज्योतिरादित्य ने कांग्रेस छोड़ दी है। मैं सोचता था कि पार्टी में बातचीत के जरिए विवाद सुलझा लिए गए होते। सचिन पायलट से पहले राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी ज्योतिरादित्य सिंधिया पर बेहद तल्ख टिप्पणी की थी।

यह भी पढ़ें...दिल्ली हिंसा:ED की गिरफ्त में निलंबित ‘आप’ नेता ताहिर,दर्ज हुआ मनी लॉन्ड्रिंग का केस

अशोक गहलोत ने बिना ज्योतिरादित्य सिंधिया का नाम लिए उन पर निशाना साधा था। उन्होंने कहा कि अवसरवादी लोग पहले ही चले जाते तो ठीक रहता। इनको कांग्रेस ने बहुत कुछ दिया 17-18 साल में। अलग-अलग पदों पर रखा। सांसद बनाया, केंद्रीय मंत्री बनाया और मौका आने पर मौकापरस्ती भी दिखाई। इनको जनता कभी माफ नहीं करेगी।



यह भी पढ़ें...अब दुनिया में बचा सिर्फ एक सफेद जिराफ, शिकारियों ने मां-बच्चे की कर दी हत्या

कांग्रेस के दिग्गज नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री मल्लिकार्जुन खड़गे ने सिंधिया के पार्टी छोड़ने पर कहा है कि लाभ और हानि सबकी जिंदगी में चलता रहता है। आप 4 बार सांसद रह चुके हैं। आपको कई महत्वपूर्ण पदों की जिम्मेदारी दी जा चुकी है, इसलिए पार्टी छोड़ना ठीक नहीं है, लेकिन उन्होंने नसीहत नहीं सुनी और अपने हितों के लिए पार्टी से किनारा कर लिया।

यह भी पढ़ें...संसद में सरकार ने बताया, असम के डिटेंशन सेंटर में कितने लोग हैं बंद

खड़गे ने यह भी कहा कि मुझे खराब लगा कि वे पार्टी छोड़कर चले गए। 3 दिन पहले मेरी उनसे बातचीत हुई थी और मैंने उनसे कहा था कि पार्टी छोड़ने की जरूरत नहीं है।

दिग्विजय सिंह ने कहा कि हमने उन्हें राज्यसभा की सीट ऑफर की थी, हम इससे ज्यादा भी कुछ करने वाले थे। उन्हें इस बात का जनता के सामने खंडन करने दो और ज्योतिरादित्य कई महीनों से कांग्रेस पार्टी छोड़ने की तैयारी कर रहे थे।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumar

Next Story