Top

भाजपा ने सकलदीप राजभर पर दांव लगाया है, वजह खास है !

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 11 March 2018 1:21 PM GMT

भाजपा ने सकलदीप राजभर पर दांव लगाया है, वजह खास है !
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बलिया : राज्य सभा चुनाव में सामाजिक समीकरण को साधने के लिये भाजपा ने सकलदीप राजभर पर दांव लगाया है, जबकि पार्टी 2006 में पार्टी विरोधी गतिविधियों को लेकर सकलदीप को निष्काषित कर चुकी है।

सुभासपा अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर से निपटने के लिये भाजपा ने राज्यसभा चुनाव के जरिये तैयारी शुरू कर दी है। भाजपा ने बलिया जिले के बिल्थरा रोड तहसील में स्टाम्प लेखक का काम करने वाले सकलदीप राजभर को अपना उम्मीदवार बनाया है। भाजपा नेतृत्व ने हालांकि अपने उम्मीदवारों की औपचारिक घोषणा नही की है। लेकिन राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह, राष्ट्रीय महासचिव संगठन रामलाल व प्रदेश महासचिव संदीप बंसल ने बीती रात्रि सकलदीप को फोन कर उनको उम्मीदवार बनाये जाने की जानकारी दी।

इस सूचना के बाद सकलदीप रविवार को पूरे दिन कागजी औपचारिकता पूरी करने की कवायद में जुटे रहे। सकलदीप को प्रमाण पत्र जारी करने के लिये जिला मुख्यालय का कोषागार कार्यालय रविवार को अवकाश के दिन खोला गया।

सकलदीप बलिया जिले के पश्चिमोत्तर भूभाग में स्थित नगरा थाना क्षेत्र के बिहरा हरपुर ग्राम के मूल निवासी हैं। तथा बिल्थरा रोड कस्बे में एक किराये के मकान में तकरीबन दो दशक से रहते हैं। सकलदीप पहले रसड़ा तहसील में स्टाम्प लेखक का काम करते थे। लेकिन बिल्थरा रोड तहसील बनने के बाद वह यहाँ काम करने लगे। स्टाम्प लेखन के जरिये ही सकलदीप ने राजनीतिक क्षेत्र में सक्रिय रूप से पदार्पण किया। वर्ष 2002 के चुनाव में तत्कालीन मुख्यमंत्री राजनाथ सिंह की कृपा से सकलदीप को सीयर विधानसभा अब बिल्थरा रोड से भाजपा ने तत्कालीन राज्य मंत्री व वर्तमान में घोसी से सांसद हरिनारायण राजभर का टिकट काटकर अपना उम्मीदवार बनाया था।

बिल्थरा रोड नगर पंचायत के 2006 के चुनाव में एक समय ऐसा भी आया जब दल को सकलदीप के विरुद्ध दल विरोधी गतिविधियों के कारण कार्रवाई करनी पड़ी तथा सकलदीप निष्कासित किये गए। विधानसभा के पिछले दो चुनाव से सकलदीप जिले के सिकन्दरपुर सीट से भाजपा का टिकट मांग रहे थे। लेकिन दल ने सकलदीप को अपना उम्मीदवार नही बनाया। इसके पूर्व सकलदीप ने पिछले लोकसभा चुनाव के समय भी टिकट की दावेदारी की थी।

सुभासपा अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर ने जिस तरह हमलावर तेवर अख्तियार किये हैं तथा ओमप्रकाश के बेटे अरविंद की पिछले दिनों सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव से मुलाकात हुई है। इसके बाद सकलदीप की लाटरी खुल गई है तथा भाजपा ने सकलदीप को अपना उम्मीदवार करीब बना ही दिया है।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story