Top

सपा का दावा अखिलेश की बदौलत राजधानी में होगा क्रिकेट मैच

राम केवी

राम केवीBy राम केवी

Published on 4 Nov 2018 12:31 PM GMT

सपा का दावा अखिलेश की बदौलत राजधानी में होगा क्रिकेट मैच
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: समाजवादी पार्टी ने कहा है कि लखनऊ की जनता 24 वर्षों से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मुकाबले को देखने का इंतजार कर रही थी। उसका ये सपना अखिलेश यादव के मुख्यमंत्रित्वकाल में निर्मित इकाना इंटरनेशनल स्टेडियम में छह नवम्बर को साकार होने जा रहा है। गौरतलब है कि 1994 के बाद पहली बार राजधानी में कोई इंटरनेशनल मैच होने जा रहा है।

हजारों दर्शक भारत बनाम वेस्टइण्डीज का रोमांचक मैच देखेंगे। पार्टी ने इसे अखिलेश सरकार की उपलब्धि बताते हुए कहा कि भाजपा की सरकार को इसे स्वीकार करने में परेशानी है क्योंकि उसके पास अपना बताने के लिए कोई उपलब्धि ही नहीं है।

पार्टी के राष्ट्रीय सचिव राजेन्द्र चौधरी ने कहा कि एक दिसम्बर 2013 में श्री अखिलेश यादव ने घोषणा की थी कि सन् 2017 की पहली तिमाही में वह लखनऊ को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम की भेंट देंगे। यह स्टेडियम 70 एकड़ परिसर में बना है जिस पर 500 करोड़ रूपए का खर्च आया है। समय-समय पर स्वयं जाकर अखिलेश यादव ने स्टेडियम के निर्माण कार्य की प्रगति को देखा। शहीद पथ पर बने इस स्टेडियम में अंतरराष्ट्रीय मैचों के आयोजन के अलावा नए खिलाड़ियों को भी ट्रेनिंग दी जा रही है। इसमें लान टेनिस, बालीबाल कोर्ट, क्रिकेट अकादमी, इनडोर-आउटडोर खेलों की भी व्यवस्था है। खिलाड़ी लड़के-लड़कियों के लिए हास्टल सुविधा के साथ हेल्थसेंटर भी है।

पार्टी ने दावा किया कि प्रदेश के विकास की दूरदृष्टि अखिलेश यादव में ही है। उनके मुख्यमंत्रित्वकाल में ही आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे, मेट्रो रेल, आई.टी.हब, लैपटाप वितरण, समाजवादी पेंशन आदि योजनाएं लागू हुई थी। एक्सप्रेस-वे की गुणवत्ता का प्रमाण है कि उस पर वायुसेना का मालवाहक हरक्यूलिस सहित युद्धक विमान भी उतर चुके हैं। लखनऊ में जेपी इंटरनेशनल सेंटर भी एक विश्वस्तरीय निर्माण जो लोकनायक जयप्रकाश नारायण को समर्पित हैं।

लखनऊ शहर के निवासी, जो पहले लोहिया पार्क में आक्सीजन लेते थे, अब जनेश्वर मिश्र पार्क में सुबह-शाम स्वास्थ्य लाभ ले रहे हैं। लखनऊ में गोमती नदी पर रिवरफ्रंट जैसे आकर्षक स्पाट भी अखिलेश सरकार की ही देन है। भाजपा सरकार ने अपने स्तर से एक भी ऐसा स्थल नहीं बनाया है जिसको याद किया जा सके। भाजपा का काम विकास में अवरोध पैदा करना और समाज में विघटन पैदा करना ही रहता है।

श्याम नारायण यादव व जसवंत की बेटी के निधन पर शोक

उधर समाजवादी पार्टी मुख्यालय में एक शोकसभा का आयोजन किया गया जिसमें सगड़ी, आजमगढ़ के पूर्व विधायक श्याम नारायण यादव तथा सिकन्दराराऊ, हाथरस के जसवंत सिंह एम.एल.सी. की 20 वर्षीय बेटी कु0 रिनी सिंह के निधन पर गहरा शोक जताते हुए दिवंगत आत्मा को शांति प्रदान करने तथा शोकाकुल परिवार को इस दुःख को सहन करने की शक्ति प्रदान करने के लिए प्रार्थना की गई।

पूर्व रक्षामंत्री मुलायम सिंह यादव तथा समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने शोक संतप्त परिवार के प्रति अपनी संवेदना भी व्यक्त की। प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल, राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष संजय सेठ, पूर्व मंत्री पारसनाथ यादव, विधान परिषद सदस्य अरविन्द कुमार सिंह भी शोकसभा में शामिल रहे। बुजुर्ग नेता श्याम नारायण का आज मुम्बई में निधन हुआ। जबकि जसवंत सिंह की पुत्री कु. रिनी सिंह का सुबह फोर्टिस अस्पताल, नोएडा में निधन हुआ।

राम केवी

राम केवी

Next Story