Top

शिवपाल बोले- सपा में QED का विलय जल्द, अखिलेश नहीं रोक सकेंगे फैसला

By

Published on 5 Sep 2016 7:32 PM GMT

शिवपाल बोले- सपा में QED का विलय जल्द, अखिलेश नहीं रोक सकेंगे फैसला
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

कानपुरः यूपी के कैबिनेट मंत्री और सीएम अखिलेश यादव के चाचा शिवपाल सिंह यादव ने सोमवार को साफ कहा कि सपा और मुख्तार अंसारी की पार्टी कौमी एकता दल (क्यूईडी) का विलय जल्द होने वाला है। एक टीवी चैनल के प्रोग्राम में शिवपाल ने कहा कि नेताजी यानी मुलायम सिंह यादव जल्दी ही इस बारे में फैसला लेने जा रहे हैं। उन्होंने ये भी कहा कि नेताजी जब फैसला लेंगे तो अखिलेश इसे रोक नहीं सकेंगे।

क्या बोले शिवपाल?

शिवपाल से पूछा गया था कि क्यूईडी और मुख्तार के बारे में उनका क्या कहना है? इस पर शिवपाल ने कहा कि मुख्तार को सपा अपने साथ नहीं लेगी। उन्होंने कहा कि क्यूईडी के राष्ट्रीय अध्यक्ष तो अफजाल अंसारी हैं। विलय के मसले पर उनका कहना था कि विलय जल्दी ही होगा। नेताजी के कहने पर ही पिछली बार मैंने विलय का ऐलान किया था, लेकिन अखिलेश अड़ गए तो फैसला टाल दिया गया। शिवपाल ने दावा किया कि जल्दी ही सपा में क्यूईडी के विलय का ऐलान सपा सुप्रीमो करने वाले हैं।

यह भी पढ़ें...शिवपाल के समर्थन में खड़े हुए मुलायम, बोले- अखिलेश ने बर्बाद कर दी पार्टी

अखिलेश के बारे में क्या बोले?

शिवपाल ने अखिलेश के बारे में सवाल पूछे जाने पर कहा कि वह अच्छे सीएम हैं, लेकिन अभी उन्हें तजुर्बा नहीं है। काम करते-करते सियासत का तजुर्बा भी हो जाएगा। उन्होंने इससे भी इनकार किया कि क्यूईडी के विलय को लेकर परिवार में खटपट लगी हुई है। शिवपाल ने मथुरा के जवाहरबाग में रामवृक्ष यादव के कब्जे के बारे में सवाल पूछने पर ये कहा कि वह रामवृक्ष से कभी नहीं मिले, न ही उन्होंने बाग पर कोई कब्जा कराया था।

यह भी पढ़ें...शिवपाल ने कहा- सपा में सब ठीक, नेताजी के कहने पर हुआ QED का विलय

सपा प्रमुख के घर मची थी रार

बता दें कि क्यूईडी के विलय को लेकर मुलायम के परिवार में रार मची थी। 14 अगस्त को शिवपाल सिंह ने जमीनों पर कब्जे और दलाली के मुद्दे को लेकर मंत्रीपद छोड़ने तक की धमकी दी थी। इसके बाद 15 अगस्त को सपा मुख्यालय में मुलायम ने सार्वजनिक तौर पर अखिलेश को डांटा था। मुलायम ने ये तक कहा था कि अखिलेश ने पार्टी बरबाद कर दी। उन्होंने ये भी कहा था कि अगर शिवपाल इस्तीफा दे देंगे तो सपा का बंटाधार हो जाएगा।

रक्षाबंधन के त्योहार से मनमुटाव हुआ दूर

इसके बाद शिवपाल सिंह यादव कैबिनेट की बैठक तक में शामिल नहीं हुए थे। रक्षाबंधन के मौके पर अखिलेश और शिवपाल के बीच रार खत्म होनी शुरू हुई थी। उस दिन अखिलेश अपनी चचेरी बहन से राखी बंधवाने शिवपाल के घर गए थे। इसके बाद शिवपाल भी सीएम से उनके सरकारी आवास जाकर मिले थे। उसके बाद पहली बार शिवपाल ने कहा है कि क्यूईडी का सपा में विलय करीब-करीब तय हो गया है।

Next Story