Top

यहां विधायक के समर्थकों ने अपनी ही पार्टी दफ्तर में जमकर की तोड़फोड़, जानें क्यों?

महाराष्ट्र के पुणे जिले में कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने अपनी ही पार्टी कार्यालय में तोड़फोड़ किया। पुणे की भोर सीट से कांग्रेस के विधायक संग्राम थोप्टे के समर्थकों ने उन्हें महाराष्ट्र मंत्रिमंडल में शामिल नहीं किए जाने को लेकर यहां पार्टी कार्यालय पर हमला किया।

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 1 Jan 2020 4:34 AM GMT

यहां विधायक के समर्थकों ने अपनी ही पार्टी दफ्तर में जमकर की तोड़फोड़, जानें क्यों?
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

पुणे: महाराष्ट्र के पुणे जिले में कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने अपनी ही पार्टी कार्यालय में तोड़फोड़ किया। पुणे की भोर सीट से कांग्रेस के विधायक संग्राम थोप्टे के समर्थकों ने उन्हें महाराष्ट्र मंत्रिमंडल में शामिल नहीं किए जाने को लेकर यहां पार्टी कार्यालय पर हमला किया।

इस घटना का लाइव वीडियो वायरल हुआ है। वीडियो में 40 कार्यकर्ताओं को तोड़फोड़ करते हुए देखा गया है। पार्टी ने इन कार्यकर्ताओं के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की बात कही है।

महाराष्ट्र में तीन दलों के गठबंधन सरकार का सोमवार को कैबिनेट विस्तार हुआ था।पुणे जिले के भोर विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र से जीते कांग्रेस विधायक संग्राम थोपटे के समर्थकों ने पुणे शहर कांग्रेस भवन में घुसकर जमकर तोड़फोड़ की। थोपटे के समर्थक अपने नेता को मंत्री नहीं बनाए जाने से नाराज थे।

ये भी पढ़ें...पूर्व कांग्रेस विधायक के बेटे ने गोली मारकर की आत्महत्या, पिता ने खोला ये बड़ा राज

मंगलवार शाम तकरीबन 6:30 बजे 40 कार्यकर्ता कांग्रेस भवन में घुस आए। इन कार्यकर्ताओं ने जोर-शोर से संग्राम थोपटे के समर्थन में नारेबाजी करते हुए कार्यालय के तीन-चार कमरों में पत्थरबाजी की।

इस दौरान कार्यकर्ताओं ने लाठी डंडों से शीशे तोड़े। कार्यालय में रखे कम्प्यूटर और टीवी स्क्रीन भी तोड़ डाले। यही नहीं, जो चीज उनके सामने आई, उसे नुकसान पहुंचाया।

एक कार्यकर्ता ने मोबाइल कैमरे पर नाराजगी की बात कही। उसने अपने नेता संग्राम थोपटे को मंत्रिमंडल में शामिल नहीं करने पर नाराजगी जताई। जब ये तोड़-फोड़ हो रही थी, उस वक्त कांग्रेस भवन में सिर्फ तीन से चार कर्मचारी मौजूद थे। पार्टी प्रवक्ता रमेश नायर ने बताया कि कार्यकर्ता संग्राम थोपटे के समर्थन में नारेबाजी कर रहे थे।

ये भी पढ़ें...योगी सरकार के प्रवक्ता श्रीकांत शर्मा ने किया ट्वीट, “शांत प्रदेश कांग्रेस को पच नहीं रहा है”

डेढ़ दर्जन कार्यकर्ता हिरासत में

घटना के कुछ देर बाद ही पुलिस वहां पहुंच गई और हंगामा मचाने वाले 15-20 कार्यकर्ताओं को हिरासत में ले लिया।कांग्रेस नेता रमेश बागवे ने मीडिया से बातचीत में कहा कि कांग्रेस भवन में तोड़फोड़ करने की जगह कांग्रेस आलाकमान से शिकायत करनी चाहिए थी।

बागवे ने कहा कि जिन लोगों ने तोडफोड़ की है उन्हें बक्शा नहीं जाएगा। सीसीटीवी की मदद से उन्हें ढूंढकर पुलिस में इनके खिलाफ मामला दर्ज किया जाएगा।

ये भी पढ़ें...उत्तर प्रदेश में एक तरह से तानाशाही है: कांग्रेस प्रवक्ता सुष्मिता देव

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story