सोनिया गांधी ने आज दिल्ली में बुलाई बड़ी बैठक, मनमोहन सिंह भी होंगे शामिल

महात्मा गांधी की 150वीं जयंती(2 अक्टूबर) की तैयारियों, सदस्यता अभियान और कार्यकर्ता प्रशिक्षण समेत कई अन्य मुद्दों पर चर्चा करने के लिए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने आज कांग्रेस मुख्यालय में पार्टी पदाधिकारियों की बड़ी बैठक बुलाई है।

नई दिल्ली: महात्मा गांधी की 150वीं जयंती(2 अक्टूबर) की तैयारियों, सदस्यता अभियान और कार्यकर्ता प्रशिक्षण समेत कई अन्य मुद्दों पर चर्चा करने के लिए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने आज कांग्रेस मुख्यालय में पार्टी पदाधिकारियों की बड़ी बैठक बुलाई है। इस बैठक की वह खुद ही अध्यक्षता करेंगी।

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक गुरूवार की बैठक में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, प्रियंका गांधी समेत सभी महासचिव, प्रभारी और प्रदेश अध्यक्ष मौजूद रहेंगे।

सूत्र ये भी बता रहे है कि आम चुनाव में मिली हार के बाद आज होने वाली बैठक में कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी पार्टी को लेकर कई बड़े फैसले ले सकती हैं।

कांग्रेस ने तीन राज्यों में होने जा रहे विधानसभा चुनाव से पहले व्यापक सदस्यता अभियान चलाने का फैसला किया है। वरिष्ठ पदाधिकारियों की बैठक में इसे लेकर भी चर्चा की जा सकती है।

माना जा रहा है कि सोनिया गांधी इस बैठक में दिल्ली प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष का नाम और मध्य प्रदेश कांग्रेस में चल रहे विवाद के संबंध में बड़ा फैसला ले सकती हैं।

ये भी पढ़ें…पांच महीने पहले कांग्रेस में शामिल हुई बॉलीवुड अभिनेत्री उर्मिला मार्तोंडकर ने पार्टी छोड़ी

मध्य प्रदेश में अंदरुनी घमासान

मध्य प्रदेश में कांग्रेस सत्ता में है, लेकिन पार्टी की राज्य ईकाई में जमकर घमासान मचा हुआ है, और यह मामला अब आलाकमान तक पहुंच गया है।

अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने दिग्विजय सिंह और सूबे के वन मंत्री उमंग सिंघार के बीच जारी विवाद पर रिपोर्ट मंगाई है।

सोनिया ने यह रिपोर्ट मध्य प्रदेश कांग्रेस प्रभारी से मांगी है। माना जा रहा है कि मध्य प्रदेश कांग्रेस में अंदरखाने चल रहे विवाद से वह बेहद नाराज हैं।

वन मंत्री उमंग सिंघार ने पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह को ब्लैकमेलर बताया था।

इसके अलावा उन्होंने दिग्विजय सिंह पर पर्दे के पीछे से सरकार चलाने का आरोप भी लगाया था।

आरोप लगाए जाने के बाद दिग्विजय सिंह मीडिया के सामने आए और अपनी सफाई भी दी।

दिग्विजय सिंह ने अपने ऊपर लगे आरोपों को सिरे से खारिज करते हुए कहा कि अनुशासनहीनता करने वाले पार्टी नेताओं के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। ज्योतिरादित्य सिंधिया भी इस विवाद में शामिल हो गए हैं।

ये भी पढ़ें…RSS की राह पर चलेगी कांग्रेस, संघ ‘प्रचारक’ की तर्ज़ पर बनाएगी ‘प्रेरक’

दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष के नाम पर  भी हो सकता है फैसला

मध्य प्रदेश में उठे अंदरुनी विवाद के अलावा दिल्ली प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष का चुनाव करना भी इस बैठक का अहम मुद्दा रहेगा। अगले कुछ महीनों में दिल्ली में विधानसभा चुनाव होने हैं और पार्टी को सत्तारुढ़ आम आदमी पार्टी और भारतीय जनता पार्टी की कड़ी चुनौती से पार पाना होगा।

कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने बीते दिल्ली पार्टी ईकाई के पूर्व प्रमुखों के साथ बैठक की थी। इस बैठक में दिल्ली के नए अध्यक्ष के मुद्दे पर चर्चा हुई।

पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के निधन से यह पद खाली है. सोनिया के आवास पर हुई बैठक में सभी पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष शामिल हुए।

बैठक तकरीबन 45 मिनट चली थी जिसमें पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अजय माकन, अरविंदर सिंह लवली, सुभाष चोपड़ा और प्रभारी पीसी चाको भी शामिल हुए।

बैठक के बाद दिल्ली कांग्रेस प्रभारी पीसी चाको ने बताया कि सोनिया ने आश्वस्त किया है कि सभी लोगों से चर्चा के बाद अगले 2 से 3 दिन में नए दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष का ऐलान कर दिया जाएगा।

ये भी पढ़ें…कांग्रेस पार्टी मोटर व्हीकल एक्ट को बनाएगी चुनावी मुद्दा: प्रमोद तिवारी