Top

ये नवरात्रि यादव कुल के लिए खास, इस तरह मुलायम रोक सकेंगे आने वाला तूफान ?

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 15 Sep 2017 2:33 PM GMT

ये नवरात्रि यादव कुल के लिए खास, इस तरह मुलायम रोक सकेंगे आने वाला तूफान ?
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: नवरात्रि में उठेगा सियासी तूफान या होगी सुलह। समाजवादी पार्टी में एक बार फिर इसी तरह के सियासी तूफान के आसार हैं। समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव ने 21 सितंबर को लोहिया ट्रस्ट की बैठक बुलाई है।

इस बैठक में शिवपाल सिंह यादव के अलावा ट्रस्ट के सभी सदस्य शामिल होंगे। लोहिया ट्रस्ट की बैठक के बाद मुलायम सिंह यादव अपने भरोसेमंद नेताओं के साथ बैठक कर आगे की रणनीति तय करेंगे। सूत्रों की माने तो आगरा में होने वाले समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अधिवेशन से पहले मुलायम परिवार में सुलह की आखिरी कोशिशों में जुट गए हैं।

ये भी देखें:शहीद स्मारक की भूमि चिंहित कर निर्माण कार्य शुरू किया जाए : अजय अग्रवाल

समाजवादी पार्टी के आगरा में होने वाली राष्ट्रीय अधिवेशन से पहले पार्टी संरक्षक ने परिवार में सुलह की आखिरी कोशिश शुरू कर दी है। लोहिया ट्रस्ट में 21 सितंबर को लोहिया ट्रस्ट की बैठक के बाद मुलायम भाई शिवपाल व करीबियों के साथ बैठक करेंगे। इस बैठक में शिवपाल के करीबी भी शामिल होंगे। इस बैठक में मुलायम सिंह यादव परिवार में सुलह की आखिरी कोशिश करेंगे। दरअसल विधान सभा चुनावों से ठीक पहले शुरू हुआ पार्टी के अंदर का घमासान अब तक शांत नहीं हुआ है।

खबर है कि आगरा में होने वाले राष्ट्रीय अधिवेशन में मुलायम सिंह यादव के छोटे भाई व पूर्व मंत्री शिवपाल सिंह यादव को पार्टी से निकाल दिया जाएगा। जिसके बाद आने वाले भूचाल को भांप मुलायम पहले ही परिवार में सुलह की कोशिशों में जुट गए हैं।

ये भी देखें:बच्चों की सेफ्टी के लिए स्कूल में जारी गाइडलाइन्स: अंजान व्यक्ति से न करें बात, संदिग्ध की दे सूचना

दरअसल शिवपाल वक्त बेवक्त सेकुलर मोर्चे के नाम से नया संगठन खड़ा करने की बात कहते रहे हैं। मुलायम को आशंका है कि शिवपाल को पार्टी से निकाले जाने के बाद पार्टी में सियासी बवंडर के साथ साथ परिवार को एक जुट रख पाना भी मुश्किल होगा। इस तरह की स्थिति न पैदा हो इस के लिए मुलायम ने सुलह सफाई की आखिरी कोशिश का दावं खेल दिया है।

21 सितंबर को होने वाली लोहिया ट्रस्ट की बैठक के बाद मुलायम सिंह यादव 25 को लोहिया ट्रस्ट में एक प्रेस कांफ्रेंस भी करेंगे। ताजे राजनितिक हालात में इस प्रेस कांफ्रेंस को महत्वपूर्ण माना जा रहा है।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story