Top

राजनीतिक दलों ने कर्नाटक में स्टार प्रचारकों पर पानी की तरह पैसा बहाया

कर्नाटक विधानसभा चुनाव के दौरान राजनीतिक दलों ने अपने कुल प्रचार खर्च का 92.68% अपने स्टार प्रचारकों पर 27.86 करोड़ रुपये और शेष 7.32% या 2.20 करोड़ रुपये अपनी पार्टी के नेताओं की यात्रा पर खर्च किए। स्वयं केंद्रीय मुख्यालय से यात्रा का खर्च 17.52 करोड़ या 58.28% था, जो कर्नाटक राज्य

Anoop Ojha

Anoop OjhaBy Anoop Ojha

Published on 6 Feb 2019 11:32 AM GMT

राजनीतिक दलों ने कर्नाटक में स्टार प्रचारकों पर पानी की तरह पैसा बहाया
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

कर्नाटक विधानसभा चुनाव के दौरान राजनीतिक दलों ने अपने कुल प्रचार खर्च का 92.68% अपने स्टार प्रचारकों पर 27.86 करोड़ रुपये और शेष 7.32% या 2.20 करोड़ रुपये अपनी पार्टी के नेताओं की यात्रा पर खर्च किए। स्वयं केंद्रीय मुख्यालय से यात्रा का खर्च 17.52 करोड़ या 58.28% था, जो कर्नाटक राज्य इकाइयों से खर्च किए गए 12.54 करोड़ या 41.72% से अधिक था। जबकि राजनीतिक दल कुल व्यय का 16.05% यात्रा व्यय पर खर्च करने के लिए अधिकृत है।

यह भी पढ़ें.....सबरीमाला विवाद: महिलाओं के प्रवेश की रिव्यू पिटीशन पर सुप्रीम कोर्ट में फैसला सुरक्षित

आठ राजनीतिक पार्टियों ने साढ़े तीन सौ करोड़ इकट्ठा किया और 170 करोड़ के लगभग खर्च भी कर डाला लेकिन इस खर्चे का हिसाब देने से सभी पार्टियां कतरा रही हैं। जबकि जनता दल एस के चुनाव में खर्च किये गए धन का हिसाब सार्वजनिक रूप से उपलब्ध ही नहीं है। जबकि राजनीतिक दलों के लिए चुनाव के 75 दिन के भीतर चुनाव आयोग को यह हिसाब देना होता है।

यह भी पढ़ें.....एसबीआई की खास पहल: बैंककर्मी पति देरी से घर लौटे तो पत्नी कर सकेगी बॉस से शिकायत

नेशनल इलेक्शन वाच के एक सर्वे में यह बात उभर कर सामने आयी है। वाच ने छह राष्ट्रीय दलों और सात क्षेत्रीय दलों को अपने सर्वे में शामिल किया। सर्वे में यह तथ्य सामने आया कि जेडीएस, एसएचएस और जेडीयू का ब्योरा चुनाव आयोग की वेबसाइट पर उपलब्ध नहीं है।

निर्वाचन व्यय विवरण में उपलब्ध कराई गई जानकारी के अनुसार राजनीतिक दलों द्वारा चुनाव के दौरान एकत्र फंड और उसका खर्च इस प्रकार रहा। जानकारी के अनुसार कर्नाटक विधानसभा चुनाव के दौरान आठ राजनीतिक दलों द्वारा कुल 356.04 करोड़ रुपये की धनराशि एकत्र की गई और इस दौरान कुल व्यय 170.16 करोड़ रुपये रहा। बसपा और AIFB ने विधानसभा चुनाव के दौरान केन्द्रीय मुख्यालय और राज्य इकाइयों कहीं पर भी धन एकत्र घोषित नहीं किया।

यह भी पढ़ें......प्रियंका का 11 फरवरी को लखनऊ में रोड शो, करेंगी चुनाव अभियान का आगाज

चुनाव के दौरान राजनीतिक दलों के केंद्रीय मुख्यालय में पक्षों द्वारा एकत्र फंड 269.94 करोड़ रुपये था और व्यय 112.144 करोड़ रुपए था। कर्नाटक राज्य इकाइयों 58.014 करोड़ रुपये खर्च किए।

राजनीतिक दल अपने प्रचार के प्रमुखों, यात्रा व्यय, अन्य / विविध खर्चों और अपने चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवारों को भुगतान की गई राशि के तहत अपना खर्च घोषित करते हैं।

यह भी पढ़ें.....एसबीआई की खास पहल: बैंककर्मी पति देरी से घर लौटे तो पत्नी कर सकेगी बॉस से शिकायत

कर्नाटक विधानसभा चुनाव, 2018 में चुनाव लड़ने वाली राजनीतिक पार्टियों ने प्रचार पर सबसे अधिक 129.72 करोड़ रुपये खर्च किए, इसके बाद यात्रा खर्च पर 30.06 करोड़ रुपये, उम्मीदवारों को दिए गए लगभग 17.84 करोड़ रुपये और अन्य / विविध खर्चों पर 9.6 करोड़ रुपये खर्च किए गए। प्रचार पर खर्च विभिन्न प्रमुखों के तहत घोषित कुल व्यय का 69.28 फीसद रहा।

Anoop Ojha

Anoop Ojha

Excellent communication and writing skills on various topics. Presently working as Sub-editor at newstrack.com. Ability to work in team and as well as individual.

Next Story