Top

सफाईकर्मियों को नहीं मिला वेतन तो नगर निगम गेट पर बना दिया कूड़े का पहाड़

sudhanshu

sudhanshuBy sudhanshu

Published on 23 Oct 2018 11:41 AM GMT

सफाईकर्मियों को नहीं मिला वेतन तो नगर निगम गेट पर बना दिया कूड़े का पहाड़
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

गोरखपुर: जिनके कंधो पर शहर के सफाई व्यवस्था की जिम्मेदारी हो, वही अगर गंदगी फैलाने लगे तो सफाई व्यवस्था कैसी होगी। यह बताने की जरूरत नहीं। जी हां, हम बात कर रहे हैं सीएम के शहर गोरखपुर की। जहां आज सफाई कर्मियों ने नगर निगम गेट को बंद कर प्रदर्शन किया। इतना ही नहीं, इन्होंने गेट पर कूड़ा भी फेंका। इनका आरोप है कि ठेकेदार के कुछ आदमी इनको वेतन देने के नाम पर हजार रूपये लेते हैं और पिछले तीन महीने से वेतन न मिलने के कारण आज ये लोग धरना प्रदर्शन करने को मजबूर हुए हैं।

ये भी पढ़ें:इस जिले के डीएम की खास पहल, 30 अक्तूबर तक 2400 आशाओं को देंगे बड़ा तोहफा

मीडियाकर्मियों से हुई अ‍भद्रता

इस दौरान मीडिया कर्मियों के कवरेज करने से ठेकेदार के आदमियों ने कैमरे को बंद करने के लिए अभद्रता की, और कैमरे पर भी हाथ लगाया, आपको बतादे, कि इन सफाई कर्मियों का आरोप है, कि पिछले तीन महीने से इन्हें वेतन नहीं मिला है, और दशहरा बीत गया मगर इन्हें पैसे नहीं मिले, और अब दीपावली के पहले इन्हें अगर पैसा नहीं मिला तो ये अपने बच्चो के साथ न ही त्योहार मना पायेंगे और न ही उन्हें दो जून की रोटी दे पायेंगे, इसको लेकर आज ये सडको पर उतर कर वेतन की मांग कर रहे थे।

इन्ही में से कुछ सफाई कर्मियों ने ठेकेदार के आदमियों पर वेतन देने के नाम पर एक हजार रूपये लेने की बात कही और नहीं देने पर कुछ वजह बता कर तकरीबन 12 लोगो को काम से निकाल दिया।

ये भी पढ़ें:यूपी टेक्‍सटाइल इंसटीट्यूट का इनोवेशन, खास कपड़े से साफ हो जाएगी गंगा

सहजनवा विधायक के नाम पर दबंगई

इस घटना का कवरेज कर रहे मीडियाकर्मियों पर भी ठेकेदार के आदमी ने दबंगई दिखाई और उनके कवरेज करने से उन्हें रोकने के लिए कैमरे को बंद करने लगे। उन्‍होंने कहा तुम जानते नहीं हो मैं कौन हूं। मैं सहजनवा विधायक का भतीजा हूं। बीच सडक पर बेबाक तरीके से जब मीडिया से इस अंदाज में ये ठेकेदार के आदमी बात कर रहे हैं, तो इन सफाई कर्मियों से किस लहजे में बात करते होंगे। इसका अंदाज बखूबी लगाया जा सकता है।

ये भी पढ़ें:अब इस सीनियर आईएएस की मुश्किलें बढ़ीं, करप्‍शन के मामले में मुकदमा दर्ज

विधायक ने झाड़ा पल्‍ला

लेकिन जब सहजनवा विधायक शीतल पांडे से बात हुई तो उन्हेने इसे पहचाने से इनकार कर दिया, और कहा ये फर्जी है, पहले भी इस नाम का व्यक्ति गोरखनाथ थाने में बन्द हो चुका है, लेकिन उससे पहले ही वो वहा से भाग चुका था, इस पूरे 70 वार्ड की साफ़ सफाई का जिम्मा दो ठेकेदारों के जिम्मे है, और ये ठेकेदार अपने प्राइवेट आदमियों को रखकर काम कराते है, और ये प्राइवेट आदमी इन सफाई कर्मियों से पैसे लेकर उनका वेतन देते हैं।

इस बाबत जब नगर निगम के नगर आयुक्त प्रेम प्रकाश से बात की गई तो उनका गोल मोल जवाब क्या था। वो भी सुनिये। नगर आयुक्त की मानें तो, नगर निगम कर्मचारियों के तीन मांगे हैं। एक इनको नगर निगम संविदा पर अपने पास रखे। दूसरा त्योहारों के समय इन्हें खाते के बजाय इन्हें एडवांस पैसा दिया जाय। जबकि नगर निगम में संविदा कर्मियों के भुगतान ठेकेदारों के माध्यम से कराया जाता है और ठेकेदारों को माह सितम्बर तक का भुगतान पहले ही किया जा चुका है और ठेकेदारों के माध्यम से इनके खाते में पैसे आ भी चुके हैं। इनकी मानें तो ठेकेदार ने इन्हें एडवांस में पैसा दिया भी है। इन्होने इस पूरे मामले को दूसरी तरफ मोड़ते हुए कहा, कि पूर्व में जिन ठेकेदारों को हटाया गया था, और नए ठेकेदारों को काम दिया गया था, तो पुराने ठेकेदार भी इन नए ठेकदारो को डिस्टर्ब करने के लिए इस तरह की कार्यवाही कर रहे हैं। इसपर सख्‍ती से कार्यवाही की जाएगी, और जो भी सफाई कर्मी धरना प्रदर्शन कर रहे हैं। उनके खिलाफ कार्यवाही की जायेगी। उन्हें सेवा से भी निर्वासित किया जाएगा। उनका वेतन काटा जाएगा। आवश्यकता पड़ने पर उन पर कठोर कार्यवाही की जायेगी। जब ठेकेदार के आदमी द्वारा पैसा लेने की बात कही की गई तो इस बात को नगर आयुक्त ने नकार दिया।

वही मनोज,सफाई कर्मी कहा कि जब इन्होंने पूर्व में वेतन की मांग की थी तो नगर आयुक्त ने इन्हें ठेकेदारो से वेतन दिलाने की बात कही लेकिन आज तक कुछ नही हुआ नगर निगम के सफाई कर्मचारियों को हर सुविधा मिलती है लेकिन ठेकेदारो द्वारा रखे गए सफाई कर्मी आज दो जून की रोटी के लिए मोहताज है।

sudhanshu

sudhanshu

Next Story