Top

टीम PK दे रही बारीकियों पर जोर, जनता से संबंध पर ही पक्का होगा टिकट

By

Published on 28 May 2016 9:58 AM GMT

टीम PK दे रही बारीकियों पर जोर, जनता से संबंध पर ही पक्का होगा टिकट
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

आगरा: असम में कांग्रेस की हार के बाद स्ट्रैटेजिस्ट प्रशांत किशोर (पीके) को अपनी रणनीति बदलने को मजबूर होना पड़ा है। उम्मीदवारों के चयन के लिए जहां टीम पीके हर बूथ से डाटा जुटा रही है। वहीं बड़े नेताओं को भी उम्मीदवारों को जीत दिलाने की जिम्मेदारी देने का फैसला लिया गया है। इसी के तहत आगरा से 10 जून तक सभी विधानसभाओं का डाटा टीम पीके को सौंपा जाएगा।

हर विधानसभा से 250 लोगों की बनेगी लिस्ट

टीम पीके ने हाल ही में जिलाध्यक्षों को निर्देश दिए हैं कि हर बूथ से एक मतदाता का नाम, नंबर और पते के साथ लिस्ट बनाई जाए। ताकि जरूरत पड़ने पर उस लिस्ट में दर्ज उस मतदाता से टिकट मांगने वाले उम्मीदवारों के जनता से कैसे संबंध हैं की जानकारी ली जा सके। इस हिसाब से विधायक के लिए टिकट मांगने वाले प्रत्याशी को लगभग 250 लोगों की लिस्ट देनी होगी। जबकि पहले पूरे विधानसभा क्षेत्र से टीम पीके ने 20 लोगों के नाम मांगे थे।

जिले में हैं लगभग 3000 बूथ

सूत्रों के अनुसार टीम पीके की रणनीति है कि हर सीट से लगभग 3 लोग दावेदारी करेंगे। मांगी गई लिस्ट के हिसाब से लगभग 750 लोगों की सूची एक विधानसभा से तैयार होगी। यह एक बड़े मजबूत आधार के रूप में प्रत्याशी चयन के लिए भूमिका निभाएगी। जिले की 9 सीटो में लगभग 3000 बूथ हैं। इस हिसाब से लगभग 9000 लोगों का ऐसा डाटाबेस इकठ्ठा होगा जो टिकट मांगने वाले प्रत्याशी के बारे में सटीक जानकारी देगा।

पार्टी सूत्रों के अनुसार, इस डाटा को इकठ्ठा करने का मूल उद्देश्य यह सुनिश्चित करना है कि जिन उम्मीदवारों को टिकट दिया जा रहा है वो सही मायने में जमीनी स्तर पर लोगों से जुड़े हैं या नहीं।

टीम पीके करेगी हर बूथ का दौरा

आगरा के जिलाध्यक्ष दुष्यंत शर्मा ने इस तरह के लिस्ट बनाने के निर्देश की पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि 10 जून तक ये लिस्ट जमा कर दी जाएगी। पार्टी सूत्रों के अनुसार टीम पीके लिस्ट में उल्लेखित व्यक्तियों से संपर्क कर प्रत्याशी की जमीनी हकीकत का पता लगाएगी। ये प्रारंभिक कार्य के बाद टीम पीके के सदस्य प्रत्येक बूथ का दौरा करेंगे और टिकट चाहने वालों की जीत की संभावना के बारे में लोगों के साथ विचार-विमर्श करेंगे।

बड़े नेताओं को मिलेगी जिताने की जिम्मेदारी

सूत्रों के अनुसार पीके ने 30 से 40 बड़े नेताओं को भी अपने क्षेत्र से कम से कम दो ऐसे विधानसभा क्षेत्र चिन्हित करने के निर्देश दिए हैं जहां कांग्रेस जीत सकती है। जैसे ही ये लिस्ट फाइनल होगी टीम पीके चिन्हित किए गए विधानसभा क्षेत्रों से उम्मीदवारों की जीत सुनिश्चित करने के लिए इन नेताओं को जिम्मेदारी देने की योजना बनाएगी।

Next Story