Top

उमा भारती का पलटवार, कहा- बहन जी को हो रही नोटों की माला छिपाने में परेशानी

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 10 Nov 2016 6:50 AM GMT

उमा भारती का पलटवार, कहा- बहन जी को हो रही नोटों की माला छिपाने में परेशानी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

उमा भारती का पलटवार, कहा- बहन जी को हो रही नोटों की माला छिपाने में परेशानी

लखनऊ: केंद्रीय जल संसाधन मंत्री उमा भारती ने बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख मायावती को ट्विटर पर आड़े हाथों लिया है। उन्होंने कहा, ''बहन मायावती को नोटों की मालाओं को छिपाने में परेशानी हो रही है, इसलिए आदरणीय प्रधानमंत्री जी के फैसले की आलोचना कर रही हैं।'' उमा भारती ने यह ट्वीट मायावती की प्रेस कॉन्फ्रेंस के तुरंत बाद किया। बता दें कि मायावती ने बीजेपी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा है कि पीएम मोदी ने 500 और 1000 रुपए के नोट बंद करके देश में अघोषित आर्थिक इमरजेंसी लगा दी।



यह भी पढ़ें...नोट बदलने पर बोलीं माया- पीएम मोदी ने लगाई देश में अघोषित आर्थिक इमरजेंसी

आगे की स्लाइड्स में पढ़िए, किसने कहा था मायावती को दौलत की बेटी...

बीएसपी छोड़कर बीजेपी में शामिल होने वाले स्वामी प्रसाद मौर्या ने पार्टी से इस्तीफा देने के बाद मायावती को दौलत की बेटी कहा था। उन्होंने कहा था कि मायावती टिकटों की नीलामी करती हैं। बसपा में दलितों की कोई जगह नहीं है। माया ने अंबेडकर के सपनों को बेचा है। मायावती दलित नहीं, दौलत की बेटी हैं। यहां एक नहीं अनेको बार टेंडर होते है, जिससे जाहिर होता की टिकट बेचे जा रहे हैं। बिना 1.5 से 2 करोड़ रूपए दिए बिना टिकट मिलने वाला नहीं है। जिला पंचायत चुनाव के लिए दलित प्रत्याशियों को 2.5 लाख रूपए देने को मजबूर किया गया। बीएसपी में दलितों की कोई पूछ नहीं है। उन्होंने कांशीराम के विचारों की हत्या की है।

bsp

'करोड़ों रूपए इकठ्ठा कर मायावती भागने वाली हैं विदेश'

-स्वामी प्रसाद मौर्या ने यह भी कहा था कि लगता है मायावती जी अपने जीवन में ही बाबा साहब के मूवमेंट को दफन कर देना चाहती हैं।

-जिस तरह विजय माल्या विदेश भाग गए हैं उसी तरह दलितों के वोटों का सौदा कर मायावती विदेश भागने वाली हैं।

-इनका मकसद अपनी तिजोरी भरकर रफूचक्कर हो जाना है। मायावती महागद्दारों की नानी हैं।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story