Top

UP Politics: 72 बसपा नेताओं ने पार्टी से दिया सामूहिक इस्तीफा, इसलिए थे नाराज

UP Politics: 72 बसपा नेताओं ने पार्टी से सामूहिक इस्तीफा दे दिया है। ये सभी राम अचल राजभर को पार्टी से बर्खास्त किए जाने से नाराज थे।

Network

NetworkNewstrack NetworkShreyaPublished By Shreya

Published on 10 Jun 2021 11:50 AM GMT

UP Politics: 72 बसपा नेताओं ने पार्टी से दिया सामूहिक इस्तीफा, इसलिए थे नाराज
X
बसपा सुप्रीमो मायावती (फोटो साभार- सोशल मीडिया)
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

UP Politics: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में कुछ महीनों बाद होने वाले विधानसभा चुनाव (UP Assembly Elections 2022) के पहले राजनीतिक पार्टियों में उथल पुथल मची हुई है। हाल ही में बहुजन समाज पार्टी (Bahujan Samaj Party) के विधायकों लालजी वर्मा (Lalji Verma) और रामअचल राजभर (Ram Achal Rajbhar) को बसपा सुप्रीमो मायावती (BSP Supremo Mayawati) ने बाहर कर दिया है। अब इस बात से नाराज बसपा पार्टी से 72 लोगों ने सामूहिक इस्तीफा दे दिया है।

बताया जा रहा है कि उत्तर प्रदेश के जिले संत कबीर नगर (Sant Kabir Nagar) में राम अचल राजभर को पार्टी से बर्खास्त किए जाने से नाराज बसपा के पूर्व मण्डल अध्यक्ष राम भवन शर्मा के नेतृत्व में आज 72 लोगों ने सामूहिक रूप से पार्टी से अपना इस्तीफा दे दिया है। एक साथ इतनी बड़ी संख्या में लोगों के इस्तीफा देने से पार्टी में हड़कंप मच गया है।

पार्टी के खिलाफ जमकर की नारेबाजी

आपको बता दें कि बसपा सुप्रीमो मायावती ने बसपा पार्टी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष राम अचल राजभर (Ram Achal Rajbhar) को पार्टी से बर्खास्त कर दिया है। इस बात की नाराजगी बसपाइयों में साफ देखने को मिल रही है। इसी का नतीजा है कि आज पूर्व मण्डल अध्यक्ष राम भवन शर्मा के नेतृत्व में 72 लोगों ने एक साथ इस्तीफा दे दिया है। इन्होंने शहर के एक होटल में एकत्रित होकर न केवल सामूहिक रूप से पार्टी से इस्तीफा दिया, बल्कि पार्टी के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की।

रामभवन शर्मा ने कही ये बात

बसपा पार्टी के पूर्व मण्डल अध्यक्ष रामभवन शर्मा की मानें तो राम अचल राजभर बसपा पार्टी के काफी होनहार पदाधिकारी थे और यह 5 बार विधायक रहने के साथ ही पार्टी के प्रदेश क्वार्डिनेटर भी थे, जिन्होंने पार्टी के लिए अपना जीवन समर्पित कर रखा था। लेकिन बसपा सुप्रीमो मायावती ने इन्हें पार्टी से बर्खास्त करके पार्टी को ही कमजोर कर दिया है।

जब गरीबों के मसीहा ही पार्टी में नही रहे तो हम लोगों को भी पार्टी में नहीं रहना चाहिए। इसी बात को लेकर आज सामूहिक रूप से 72 बसपाइयों ने इस्तीफा दे दिया है। प्रेस वार्ता के दौरान बसपा के पूर्व मण्डल अध्यक्ष रामभवन शर्मा ने यह जानकारी दी है।

किस पार्टी का रुख करेंगे लालजी वर्मा और राम अचल राजभर

अब जहां तक लालजी वर्मा और रामअचल राजभर की बात है तो बहुजन समाज पार्टी से बाहर होने के बाद उनकी फिलहाल बसपा में वापसी संभव नहीं है। इसके बाद उनका रास्ता कहां जाता है यह तो वक्त बताएगा पर उम्मीद इस बात की है कि यह दोनों विधायक समाजवादी पार्टी की तरफ ही अपना रुख करेंगे।

दोस्तों देश और दुनिया की खबरों तेजी से जानने के लिए बने रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलो करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shreya

Shreya

Next Story