×

UP Politics: ललितेश के सहारे यूपी में टीएमसी की एंट्री, प्रशांत किशोर ने फिर दिया कांग्रेस को बड़ा झटका

20 अक्टूबर के बाद ललितेश पति त्रिपाठी के तृणमूल कांग्रेस में शामिल होने की संभावना है। उधर तृणमूल कांग्रेस ने ललितेश पति त्रिपाठी के संपर्क में रहने की पुष्टि की है।

Brijendra Dubey

Brijendra DubeyReport Brijendra DubeyDivyanshu RaoPublished By Divyanshu Rao

Published on 13 Oct 2021 6:14 PM GMT

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

UP Politics। उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी (Uttar Pradesh Congress Committee) के पूर्व उपाध्यक्ष ललितेशपति त्रिपाठी (Laliteshpati Tripathi Join TMC) जल्द ही तृणमूल कांग्रेस (TMC) का दामन थाम सकते हैं। ललितेश त्रिपाठी उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर (Mirzapur) मड़िहान विधानसभा सीट से विधायक भी रह चुके हैं।

सूत्र बताते हैं, 20 अक्टूबर के बाद ललितेश पति त्रिपाठी के तृणमूल कांग्रेस में शामिल होने की संभावना है। उधर तृणमूल कांग्रेस ने ललितेश पति त्रिपाठी के संपर्क में रहने की पुष्टि की है। पिछले महीने सितंबर में ही उन्होंने कांग्रेस छोड़ दी थी।

आखिर ब्राह्मण कांग्रेस से क्यों कर रहे किनारा

विधानसभा चुनाव के करीब आते ही ऐसे वक्त में जब अन्य पार्टियां चुनाव के पहले ब्राह्मणों को अपने पाले में लाने की कोशिश कर रही हैं, ऐसे हालात में उनका कांग्रेस छोड़कर जाना पार्टी के लिए बड़ा झटका माना जा रहा है।

ललितेश पति त्रिपाठी तस्वीर (फोटो:सोशल मीडिया)

ललितेश पति त्रिपाठी उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री स्व.कमलापति त्रिपाठी के पड़पोते हैं, हालांकि उनका हालिया चुनावी सफर बहुत सफल नहीं कहा जा सकता है। मिर्जापुर-वाराणसी इलाके में त्रिपाठी परिवार का प्रभाव माना जाता है। सूत्रों के अनुसार ललितेश पति त्रिपाठी कांग्रेस छोड़ने से पहले पश्चिम बंगाल की पूर्व सीएम ममता बनर्जी से कोलकाता में 2 बार मुलाकात कर चुके हैं।

एक बार फिर प्रशांत किशोर ने कांग्रेस को दिया बड़ा झटका

यूपी में 2017 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के लिए चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर (Prashant Kishor Tweet) ललितेश त्रिपाठी के संपर्क में आए थे। कांग्रेस से ललितेश पति त्रिपाठी की विदाई और तृणमूल कांग्रेस में शामिल होने के पीछ प्रशांत किशोर की बड़ी भूमिका बताई जा रही है। सूत्रों की माने तो आईपैक की एक टीम लखनऊ में 2022 के विधानसभा चुनावों (UP Election 2022) पर नजर रखेगी और इसीके आधार पर 2024 के लिए रणनीति तैयार करेगी।

प्रशांत किशोर (फोटो:सोशल मीडिया)

विधानसभा चुनाव पर नहीं, 2024 पर होगा निशाना

ललितेश पति त्रिपाठी के तृणमूल कांग्रेस (Trinamool Congress) में शामिल होने के बाद संभावना है कि उन्हें यूपी में पार्टी की जड़ें मजबूत करने की जिम्मेदारी दी जाएगी, उनका फोकस 2022 विधानसभा चुनाव की जगह 2024 के लोकसभा चुनाव पर होगा।

एक सूत्र ने Newstrack से बातचीत में कहा कि, ''प्रशांत किशोर का फोकस टीएमसी को राष्ट्रीय स्तर पर मजबूत बनाकर उसे मुख्य विपक्षी पार्टी बनाना है, तृणमूल कांग्रेस, गोवा, मेघालय जैसे राज्यों में अपना विस्तार कर रही है। यूपी में उनका फोकस 2024 की जमीन तैयार करने पर होगा.'' फिलहाल यूपी में टीएमसी का कोई असर नहीं है और पहली बार पार्टी राज्य में इतने बड़े स्तर पर विस्तार कर रही है। हालांकि पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी ने टीएमसी को समर्थन दिया था, इसलिए वो उम्मीद करेगी कि यूपी विधानसभा चुनाव में टीएमसी पार्टी को समर्थन दे।

Divyanshu Rao

Divyanshu Rao

Next Story