Top

गैरसैंण में कल से शुरू विधानसभा सत्र, हंगामे के आसार

मंगलवार से यहां विधानसभा सत्र शुरू हो रहा है। नेता, मंत्री, पुलिस, प्रशासन सब गैरसैंण में सफल सत्र की तैयारियां अपनी तरफ से तो पूरी कर चुके हैं। इस बार का सत्र लंबा भी है। 20 मार्च से 28 मार्च तक पूरे राज्य की निगाहें गैरसैंण पर टिकी रहेंगी।

tiwarishalini

tiwarishaliniBy tiwarishalini

Published on 19 March 2018 2:30 PM GMT

गैरसैंण में कल से शुरू विधानसभा सत्र, हंगामे के आसार
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

गैरसैंण: मंगलवार से यहां विधानसभा सत्र शुरू हो रहा है। नेता, मंत्री, पुलिस, प्रशासन सब गैरसैंण में सफल सत्र की तैयारियां अपनी तरफ से तो पूरी कर चुके हैं। इस बार का सत्र लंबा भी है। 20 मार्च से 28 मार्च तक पूरे राज्य की निगाहें गैरसैंण पर टिकी रहेंगी।

कार्यक्रम के मुताबिक सोमवार शाम तक मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत समेत सभी कैबिनेट मंत्री और विधायक भराणीसैंण पहुंच जाएंगे। 20 मार्च यानी मंगलवार को राज्यपाल के अभिभाषण के साथ बजट सत्र की कार्यवाही शुरू होगी।

विधानसभा सत्र को लेकर गैरसैंण में कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गई है। रुद्रप्रयाग प्रशासन खुद बजट सत्र की तैयारियों का पुख्ता बंदोबस्त कर रहा है। ड्रोन कैमरे से यहां सुरक्ष व्यवस्था पर नज़र रखी जाएगी। इसके साथ ही शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए बड़ी संख्या में पुलिस बल की तैनाती की गई है।

अग्निशमल दल की भी तैनाती की गई है। बिजली-पानी की आपूर्ति के लिए जरूरी इंतजाम किए गए हैं। यही नहीं गैरसैंण में इंटरनेट नेटवर्क भरपूर मिले, बीएसएनएल के अधिकारियों को इसके लिए ख़ासतौर पर निर्देशित किया गया है।

गैरसैंण सत्र में इस बार सदन के अंदर विपक्ष जो हंगामा करेगी, लेकिन सदन के बाहर भी सत्र काफी हंगामाखेज़ रहने की आशंका है। कांग्रेस नेता और पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने गैरसैंण को राजधानी बनाने की मांग को लेकर 20 मार्च को गैरसैंण में उपवास शुरू करने का एलान किया था।

उत्तराखंड क्रांति दल भी 20 मार्च को भराड़ीसैंण विधानसभा में सरकार के घेराव की तैयारी में है। दल के केंद्रीय अध्यक्ष दिवाकर भट्ट ने कहा है कि सरकार को गैरसैंण को स्थायी राजधानी की याद दिलाने के लिए वे 20 मार्च को भराड़ीसैंण विधानसभा का घेराव करेंगे।

तो कुल मिलाकर गैरसैंण में इस बार सरकार को विपक्षियों की ओर से काफी चुनौती मिलने वाली है। गैरसैंण को स्थायी राजधानी घोषित करने की मांग एक बार फिर ज़ोर पकड़ रही है।

tiwarishalini

tiwarishalini

Excellent communication and writing skills on various topics. Presently working as Sub-editor at newstrack.com. Ability to work in team and as well as individual.

Next Story