Top

अखिलेश पर बरसे योगी, बोले- कंस-औरंगजेब की तरह बाप को हटाकर किया सत्ता पर कब्जा

प्रचार के अंतिम दिन गोरखनाथ के पीठाधीश्वर एवं भाजपा सांसद योगी आदित्यनाथ में कई जनसभाओं को संबोधित किया। जनता से भाजपा को भारी मतों से जिताने की अपील भी की।

By

Published on 26 Feb 2017 3:46 AM GMT

अखिलेश पर बरसे योगी, बोले- कंस-औरंगजेब की तरह बाप को हटाकर किया सत्ता पर कब्जा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

yogi-adityanath

बलरामपुर: जिले की 4 विधानसभा सीटों पर भारतीय जनता पार्टी के टिकट पर चुनाव लड़ रहे प्रत्याशियों को जिताने के लिए भाजपा ने पूरी ताकत झोंक दी है। प्रचार के अंतिम दिन गोरखनाथ के पीठाधीश्वर एवं भाजपा सांसद योगी आदित्यनाथ में कई जनसभाओं को संबोधित किया। जहां उन्होंने अखिलेश सरकार पर जमकर प्रहार किए साथ ही जनता से भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशियों को भारी मतों से जिताने की अपील भी की।

-चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए योगी आदित्यनाथ ने मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि अखिलेश जी कहते हैं कि हमारा काम बोलता है।

-प्रदेश की जनता उन्हें बता दे कि उनका काम नहीं कारनामा बोलता है।

-यूपी में इस जिले को सबसे कम बिजली मिलती है। सड़कें चलने लायक नहीं रह गई हैं।

-यहां के समाजवादी पार्टी के विधायकों व उनके परिवारवालों पर तमाम आपराधिक मुकदमे दर्ज हैं।

-इसलिए जनता को अब साफ सुथरी छवि के भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशियों को जिताकर विधानसभा पहुंचाना होगा।

-तभी अटल बिहारी बाजपेई व नानाजी देशमुख की कर्मस्थली रही। इस बलरामपुर की धरती का सर्वांगीण विकास संभव है।

-योगी आदित्यनाथ ने अखिलेश पर व्यक्तिगत हमला बोलते हुए कहा कि आज अखिलेश ने इतिहास को धोखा दिया है।

-एक जमाने में कंस हुआ करता था। उसने अपने ही पिता को कारागार में डाल कर स्वयं राज्य पर कब्जा कर खुद को राजा घोषित कर दिया था।

-उसी प्रकार औरंगजेब ने अपने ही पिता को किले में कैद करवा कर खुद को राजा घोषित कर दिया था।

-यही कार्य अब अखिलेश ने किया है और अपने पिता को टूटी हुई साइकिल से उतार कर खुद को बादशाह घोषित कर लिया है।

-जब भी पिता को हटाकर सत्ता पर कब्ज़ा करने वालो का नाम लिया जाएगा।

-तो उस इतिहास में अखिलेश का नाम जरूर लिया जाएगा, जनता को अब फैसला करना है कि वह धर्म और जाति के नाम पर बांटने वाले चाहिए, राम मंदिर चाहिए या कब्रिस्तान और करबला, फैसला अब जनता के हाथ है।

आगे की स्लाइड में देखिए योगी आदित्यनाथ की जनसभा की और भी तस्वीरें

आगे की स्लाइड में देखिए योगी आदित्यनाथ की जनसभा की और भी तस्वीरें

आगे की स्लाइड में देखिए योगी आदित्यनाथ की जनसभा की और भी तस्वीरें

आगे की स्लाइड में देखिए योगी आदित्यनाथ की जनसभा की और भी तस्वीरें

Next Story