Top

दो CM आमने-सामने: योगी के ट्वीट पर भड़के कैप्टन, पंजाब का माहौल बिगाड़ने का आरोप

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मलेरकोटला को जिला बनाए जाने पर कैप्टन को घेरा था।

Anshuman Tiwari

Anshuman TiwariWritten By Anshuman TiwariDharmendra SinghPublished By Dharmendra Singh

Published on 16 May 2021 2:59 PM GMT

दो CM आमने-सामने: योगी के ट्वीट पर भड़के कैप्टन, पंजाब का माहौल बिगाड़ने का आरोप
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: पंजाब में मलेरकोटला को 23वां जिला मनाने की घोषणा पर योगी के ट्वीट के बाद पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने योगी पर बड़ा हमला बोला है। उन्होंने योगी पर राज्य में सांप्रदायिक नफरत भड़काने की कोशिश का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि योगी का ट्वीट भाजपा की विभाजनकारी नीतियों का ही हिस्सा है उन्होंने योगी को पंजाब के मामलों से दूर रहने की भी नसीहत दी। उन्होंने आरोप लगाया कि पिछले चार वर्षों के दौरान योगी उत्तर प्रदेश में भी सांप्रदायिक नफरत और कलह को बढ़ावा देने में जुटे हुए हैं।

दरअसल उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मलेरकोटला को जिला बनाए जाने पर कैप्टन को घेरा था। अपने ट्वीट में उन्होंने कहा था कि मत और मजहब के आधार पर किसी भी प्रकार का विभेद करना भारत के संविधान की मूल भावना के विपरीत है। उन्होंने मलेरकोटला को जिला बनाए जाने के कदम को कांग्रेस की विभाजनकारी नीतियों का परिचायक बताया था।

मुस्लिम बहुल कस्बा है मलेरकोटला

मलेरकोटला संगरूर जिले में स्थित है और यह मुस्लिम बहुल कस्बा है। कांग्रेस ने चुनाव में इसे जिला बनाने का वादा किया था। ईद के मौके पर कैप्टन ने इसे जिला बनाने की घोषणा करने के साथ ही यहां मेडिकल कॉलेज व बस स्टैंड सहित कई अन्य बड़ी परियोजनाओं का भी एलान किया था। माना जा रहा है कि विधानसभा चुनाव नजदीक आने के कारण ही कैप्टन ने यह कदम उठाया है।

कैप्टन ने योगी को दिया कड़ा जवाब

अब योगी के ट्वीट पर मुख्यमंत्री कैप्टन कड़ा जवाब दिया है। उन्होंने कहा कि योगी को मलेरकोटला के इतिहास की कोई जानकारी नहीं है जिसका सिख धर्म और उसके गुरुओं के साथ संबंध हर पंजाबी को पता है। कैप्टन ने कहा कि योगी सरकार और भाजपा के सांप्रदायिक नफरत फैलाने के ट्रैक रिकॉर्ड को देखते हुए योगी की टिप्पणी अनुचित होने के साथ ही हास्यास्पद भी है। कैप्टन ने कहा कि पूरी दुनिया को भाजपा की विभाजनकारी नीतियों और खासकर योगी सरकार के कामकाज के बारे में पूरी जानकारी है।

सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह (फाइल फोटो: सोशल मीडिया)

यूपी में फिर से इतिहास लिखने की कोशिश

उन्होंने उत्तर प्रदेश के विभिन्न शहरों में के नामों को बदलने की ओर इशारा करते हुए कहा कि योगी सरकार इतिहास को फिर से लिखने की कोशिश कर रही है। उत्तर प्रदेश में लव जिहाद के कानून को सबसे पहले मंजूरी दी गई। योगी आदित्यनाथ के मन में ताजमहल के प्रति भी नफरत के भाव हैं और उनकी यह भावना अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी चर्चा का विषय बन चुकी है। कैप्टन ने कहा कि योगी हिंदू युवा वाहिनी के भी संस्थापक रहे हैं और यह संगठन राज्य में मुसलमानों की लिंचिंग के लिए जिम्मेदार रहा है।

पंजाब में वैमनस्य फैलाने की साजिश

उन्होंने कहा कि राज्य में अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं और चुनाव से पहले पंजाब में वैमनस्य फैलाने के लिए ही भाजपा की ओर से इस तरह की साजिश की जा रही है। योगी का ट्वीट पंजाब के सद्भावपूर्ण माहौल को खत्म करने और समुदायों के बीच संघर्ष पैदा करने का प्रयास है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में भी अगले साल चुनाव होने हैं और पंचायत चुनाव के नतीजों से साफ संकेत मिल चुका है।
कैप्टन योगी को सलाह दी कि वे अपनी ऊर्जा अपने राज्य को बचाने में लगाएं जहां कोविड-19 से हालात लगातार नियंत्रण से बाहर होते जा रहे हैं। हालत यह हो गई है कि पीड़ितों के शव नदियों में खुलेआम फेंके जा रहे हैं और लोग उचित तरीके से शवों का दाह संस्कार भी नहीं कर पा रहे हैं।


Dharmendra Singh

Dharmendra Singh

Next Story