Top

किसानों का फैसला : 1 मई को मनाया जाएगा किसान मजदूर एकता दिवस

एक तरफ देश कोरोना महामारी से जूझ रह है तो वहीं दूसरी ओर किसान दिल्ली के सीमाओं पर कृषि कानून रद्द करने के लिए आंदोलन कर रहे हैं।

Newstrack

NewstrackNewstrack Network NewstrackShwetaPublished By Shweta

Published on 30 April 2021 6:18 AM GMT

किसान आंदोलन
X

किसान आंदोलन (फोटो सौजन्य से सोशल मीडिया)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

अमृतसरः एक तरफ देश कोरोना महामारी से जूझ रह है तो वहीं दूसरी ओर किसान दिल्ली के सीमाओं पर कृषि कानून रद्द करने के लिए आंदोलन कर रहे हैं। किसानों का यह आंदोलन पिछले कई महीने से चल रहा है। आंदोलन कर रहें किसानों ने एक मई को किसान-मजदूर एकता दिवस मनाने जा रहे हैं।

बता दें कि किसान मोर्चा व ट्रेड यूनियनों ने इसकी बैठक ऑनलाइन की है। इसकी जानकारी पंजाब किसान नेताओं ने दी है। नेताओं ने बताया कि दिल्ली बॉर्डर सहित पंजाब-हरियाणा के कई स्थानों पर एक मई को अंतरराष्ट्रीय मजदूर दिवस मनाया जाएगा। इस दिन विशेष तौर पर मजदूर नेता मंच संभालेंगे।

वहीं संयुक्त किसान मोर्चा के सदस्यों का कहना है कि यह आंदोलन को तोड़ने का खूब प्रयास किया जा रहा है, लेकिन किसान मजबूती के साथ डटे हुए हैं। यहीं नहीं रुकने वाले हैं। इस दिन दोपहर दो बजे रेलवे स्टेशन से भगत सिंह चौक तक मार्च निकाला जाएगा। टोल प्लाजा महलकलां व टोल प्लाजा बडबर व भाजपा के जिला प्रधान यादविंदर शंटी के निवास के बाहर भी वीरवार को किसानों का धरना जारी रहा। दूसरी ओर किसान संगठनों का संघेड़ा-भदलवड्ड रोड पर स्थित पेट्रोल पंप के सामने भी धरना जारी है।

किसान कमेटी के महासचिव ने क्या कहा

आपको बता दें कि किसान मजदूर संघर्ष कमेटी के महासचिव सरवन सिंह पंधेर ने बताया कि, पांच मई को किसान दिल्ली में रोष मार्च निकालेंगे उसके साथ ही केंद्र सरकार किसान आंदोलन को बदनाम करने में लगी हुई। जहां पर गुरुवार को गांव जंडियाला गुरु में किसान संगठनों की बैठक हुई है। उन्होंने आगे कहा कि अमृतसर से दिल्ली के लिए किसानों का 12वां जत्था जल्द ही कूच करेगा। इसकी तैयारियां जोरों पर चल रही हैं। गौरतलब है कि किसान कृषि कानून वापस लेने के लिए सरकार के खिलाफ यह आंदोलन कर रहे हैं।

दोस्तों देश दुनिया की और को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shweta

Shweta

Next Story