×

Mohali Blast: मोहाली हमले के मास्टरमाइंड का पंजाब पुलिस ने किया खुलासा, ISI का है हाथ

Mohali Blast: मोहाली ब्लास्ट का मुख्य साजिशकर्ता बताया जाने वाला लखबीर सिंह लांडा अभी कनाडा में रह रहा है। वो 2017 में ही देश छोड़कर चला गया था।

Krishna Chaudhary
Published on 13 May 2022 12:01 PM GMT
Mohali Blast: मोहाली हमले के मास्टरमाइंड का पंजाब पुलिस ने किया खुलासा, ISI का है हाथ
X

Mohali Blast: (Photo credit: Social Media) 

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Mohali Blast: मोहाली धमाके को लेकर पंजाब पुलिस ने बड़ा खुलासा किया है। मोहाली के सेक्टर – 77 स्थित पंजाब पुलिस के खुफिया विभाग के मुख्यालय पर हुए हमले का मास्टरमाइंड तरनतारन जिले का रहने वाला लखबीर सिंह लांडा है। इस मामले में अब तक छह लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है। पंजाब के डीजीपी वीरेश कुमार भावरा ने इसकी जानकारी दी है। पुलिस इस मामले जिन आरोपियों को अब तक अरेस्ट कर चुकी है, उनके नाम इस प्रकार हैं - कंवर बाथ, बलजीत कौर, बलजीत रेम्बो, आनंददीप सोनू, जगदीप कांग और निशान सिंह।

कौन है लखबीर सिंह लांडा

मोहाली ब्लास्ट का मुख्य साजिशकर्ता बताया जाने वाला लखबीर सिंह लांडा अभी कनाडा में रह रहा है। वो 2017 में ही देश छोड़कर चला गया था। लांडा को पाकिस्तान में रह रहे खालिस्तानी आतंकी हरविंदर सिंह रिंदा का करीबी माना जाता है। पंजाब डीजीपी ने बताया कि पाकिस्तान की कुख्यात खुफिया एजेंसी आईएसआई की मदद से इस हमले को अंजाम दिया गया है। तरनतारन के चढ़त सिंह और दो अन्य लोगों ने मिलकर घटना को अंजाम दिया है। इस मामले में गिरफ्तार निशान सिंह ने दोनों हमलावरों को रहने का ठिकाना और हमला करने के लिए आरपीजी मुहैया कराया था।

बता दें कि निशान सिंह भी तरनतारन जिले के के गांव कुल्ला का निवासी है। कुल्ला भारत पाकिस्तान की सीमा से सटा गांव है। 26 वर्षीय निशान सिंह का आपराधिक पृष्ठभूमि रहा है। प्रारंभिक जांच में उसके भी संबंध में पाकिस्तान में बैठे आतंकी हरविंदर सिंह रिंदा के साथ भी सामने आए हैं। तरनतारन के सीनियर एसपी रंजीत सिंह ढिल्लों ने बताया कि उसके खिलाफ मोगा, फरीदकोट, अमृतसर, तरनतारन और जिला गुरदासपुर में लगभग 12 मामले दर्ज हैं।

दो लोगों की तलाश

पंजाब पुलिस को इस मामले में दो और लोगों की तलाश है, जिसे अब तक अरेस्ट नहीं किया गया है। पुलिस के मुताबिक, दो अन्य शख्स मोहम्मद नसीम आलम और सरफराज की तलाश जारी है, दोनों बिहार से आते हैं।

हमले का पाकिस्तान कनेक्शन

जानकारी के मुताबिक, मोहाली में खुफिया विभाग के दफ्तर पर हमला किया गया था, वह रूस निर्मित था। इसका इस्तेमाल जम्मू कश्मीर और अफगानिस्तान में तालिबान द्वारा किया जाता है। इससे स्पष्ट होता है कि ग्रेनेड पाकिस्तान से ही आया था। बीते कुछ समय से लगातार पंजाब के सीमावर्ती क्षेत्रों में संदिग्ध ड्रोन सीमापार से आते रहे हैं। इनमें नशे के सामान के अलावा हथियार भी होते हैं।

कौन है हरविंदर सिंह रिंदा

मोहाली ब्लास्ट में एकबार फिर खालिस्तानी आतंकी हरविंदर सिंह रिंदा का नाम सामने आया है। दरअसल रिंदा का नाम बीते कुछ समय से लगातार पंजाब में हो रही आतंकी गतिविधियों में आ रहा है। मोहाली ब्लास्ट का मास्टरमाइंड लखबीर सिंह लांडा और निशान सिंह के रिंदा से कनेक्शन सामने आए हैं। इससे पहले हाल ही में 5 मई को हरियाणा पुलिस ने करनाल में एक सफेल इनोवा कार में भारी विस्फोटकों औऱ हथियार के साथ चार खालिस्तानी आतंकवादियों को पकड़ा था। जो पाकिस्तान से ड्रोन के जरिए आए हथियारों को महाराष्ट्र के नांदेड़ ले जा रहे थे। पूछताछ में पुलिस को पता चला कि हथियारों की खेप के सप्लाई के पीछे रिंदा है।

बता दें कि रिंदा पाकिस्तान से भारत में आतंकी गतिविधियों को ऑपरेट करता है। रिंदा का अपराध की दुनिया से पुराना नाता रहा है। मीडिया रिपोर्टेस के मुताबिक, रिंदा ने पहली हत्या नांदेड़ में 18 साल के उम्र में अपने रिश्तेदार की की थी। इसके बाद वो पंजाब चला आया, जहां वो छात्र राजनीति में एक्टिव हो गया। 2016 से 2018 के बीच वह छात्र राजनीति में भी रहा। इस दौरान उसके खिलाफ चंडीगढ़ के विभिन्न थानों में हत्या ,हत्या के प्रयास और आर्म्स एक्ट के तहत 4 मामले दर्ज हैं।

इसके बाद उसका नाम आतंकी गतिविधियों में भी सामने आने लगा। वो लुधियाना बम धमाका औऱ नवांशहर पुलिस स्टेशन धमाकों में शामिल रहा है। शातिर रिंदा पुलिस और सुरक्षा एजेंसियों को छकाते हुए सीमा पार करने में कामयाब रहा। तब से वो पाक खुफिया एजेंसी आईएसआई की मदद से पंजाब में आतंकी गतिविधियों को संचालित करता है।

Rakesh Mishra

Rakesh Mishra

Next Story