×

Punjab Politics: नवजोत सिंह सिद्धू की ताजपोशी तय! साथ में 4 कार्यकारी अध्यक्ष भी होंगे

Punjab Politics: पंजाब (Punjab) कांग्रेस में सियासी उठापटक जारी है। यह लड़ाई मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और नवजोत सिंह सिद्धू के बीच छिड़ी है। पार्टी सूत्रों के मुताबिक आज (शनिवार) शाम को नवजोत सिंह सिद्धू को पार्टी की प्रदेश इकाई के मुखिया बनाए जाने की घोषणा कर दी जाएगी।

Network

NetworkNewstrack NetworkSatyabhaPublished By Satyabha

Published on 17 July 2021 11:28 AM GMT

punjab politics
X

नवजोत सिंह सिद्धू फटो- सोशल मीडिया

  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Punjab Politics: पंजाब (Punjab) कांग्रेस में सियासी उठापटक जारी है। यह लड़ाई मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और नवजोत सिंह सिद्धू के बीच छिड़ी है। पार्टी सूत्रों के मुताबिक आज (शनिवार) शाम को नवजोत सिंह सिद्धू को पार्टी की प्रदेश इकाई के मुखिया बनाए जाने की घोषणा कर दी जाएगी। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, नवजोत सिंह सिद्धू के साथ चार कार्यकारी अध्यक्ष भी बनाए जाने की तैयारी है।

दरअसल, शनिवार सुबह पंजाब कांग्रेस प्रभारी हरीश रावत ने मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह से मुलाकात की। दोनों नेताओं की बैठक के बाद कैप्टन ने कहा कि पंजाब प्रभारी से सार्थक बातचीत हुई। आलाकमान का हर फैसला मान्य होगा। कुछ मुद्दे हैं जिन्हें पार्टी प्रधान के ध्यान में लाने को कहा गया है। इस दौरान कैबिनेट मंत्री शाम सुंदर अरोड़ा भी मौजूद रहे।

शनिवार को नवजोत सिद्धू ने पंचकूला पहुंच कर प्रदेश कांग्रेस प्रधान सुनील जाखड़ से मुलाकात की। मुलाकात के बाद सिद्धू ने जाखड़ को अपना भाई बताते हुए कहा कि वे (सुनिल जाखड़) हमेशा मेरा मार्गदर्शन करते रहे हैं। जाखड़ से मुलाकात करने के बाद नवजोत सिद्धू मंत्रियों सेक्टर 39 स्थित कैबिनेट मंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा के आवास पर पहुंचे। यहां उनकी मुलाकात विधायक अमरिंदर सिंह राजा वडिंग और कुलबीर सिंह जीरा से भी हुई है।

इनके अलावा सिद्धू ने लाल सिंह, बलबीर सिद्धू , दर्शन सिंह बराड़ और घुबाया से भी मुलाकात की। पार्टी सूत्रों के अनुसार, हाईकमान के आदेश पर ही सिद्धू उन नेताओं से मिल रहे हैं, जो उनके साथ काम करने को लेकर सहज हैं। वहीं हरीश रावत को कैप्टन को मनाने का जिम्मा सौंपा गया है। ऐसे में देर शाम तक विवाद पर विराम लग सकता है।

पंजाब में जारी कांग्रेस के अंतर्कलह से पार्टी का शीर्ष नेतृत्व असहाय दिख रहा है। पूर्व मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने शुक्रवार को पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी से उनके निवास पर मुलाकात की थी। बैठक में राहुल गांधी और पंजाब के प्रभारी हरीश रावत भी शामिल थे।

Satyabha

Satyabha

Next Story