×

गिरफ्तार हुआ खालिस्तानी आतंकवादी भिंडरावाले का पोते, NIA की छापेमारी में हुआ पर्दाफाश

अमृतसर टिफिन बम मामले में एनआईए(NIA) ने खालिस्तानी आतंकवादी जरनैल सिंह भिंडरावाले के भतीजे जसबीर सिंह रोड़े के बेटे को पंजाब से गिरफ्तार कर लिया है।

Network

NetworkNewstrack NetworkVidushi MishraPublished By Vidushi Mishra

Published on 21 Aug 2021 3:50 AM GMT

asbir Singh Rode, nephew of Khalistani terrorist
X

खालिस्तानी आतंकवादी जरनैल सिंह भिंडरावाले का पोता गिरफ्तार (फोटो- सोशल मीडिया)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली: अमृतसर टिफिन बम मामले में एनआईए(NIA) ने खालिस्तानी आतंकवादी जरनैल सिंह भिंडरावाले के भतीजे जसबीर सिंह रोड़े के बेटे को पंजाब से गिरफ्तार कर लिया है। इस बारे में रिपोर्ट्स के मुताबिक, जसबीर का बेटा गुरमुख सिंह को पाकिस्तान में रहने वाले अपने चाचा लखबीर सिंह रोड़े से विस्फोटकों से भरे टिफिन बॉक्स मिले थे। जिनको वह भारत में बाँट रहा था।

ऐसे में एनआईए ने जालंधर के एक गाँव में खालिस्तानी आतंकवादी के भतीजे जसबीर के घर पर छापेमारी की। जसबीर अकाल तख्त का पूर्व जत्थेदार है। इस छापेमारी में NIA को टिफिन बम, पिस्टल और आरडीएक्स मिला। जिसके बाद तुरंत ही गुरमुख सिंह को गिरफ्तार कर लिया गया। जिस समय एनआईए ने छापा मारा गया, तब जसबीर घर पर ही था।

गुरमुख सिंह हुआ गिरफ्तार

बता दें, जसबीर सिंह रोड़े का 26 जनवरी को लालकिले पर हुए हिंसक संघर्ष कृषि सुधार कानून विरोधी आंदोलन में महत्वपूर्ण किरदार था। वहीं NIA ने 18 जनवरी को जसबीर को पूछताछ के लिए नोटिस जारी किया था। लेकिन पूर्व जत्थेदार जसबीर ने दावा किया था कि यह आंदोलन को कुचलने की एक साजिश है।

इसके साथ ही लखबीर सिंह रोड़े इंटरनेशनल सिख यूथ फेडरेशन (ISYF) का अध्यक्ष है। अभी तक NIA से इस मामले में कोई जानकारी नहीं प्राप्त हुई है। सामने आई रिपोर्ट्स में बताया जा रहा है कि इस ऑपरेशन में इंटेलिजेंस ब्यूरो (IB) भी शामिल थी। इस जाँच के विषय में पूरी जानकारी मिलनी अभी बाकी है।

साथ ही ये भी ध्यान देने वाली बात है कि किसान आंदोलन में खालिस्तानी तत्वों की उपस्थिति जगजाहिर है। जिसको लेकर भाजपा और कांग्रेस दोनों ही राजनीतिक पार्टियों के नेताओं ने चिंता जाहिर की है। वहीं जसबीर सिंह रोड़े का भाई लखबीर सिंह रोड़े खालिस्तानी समर्थक है। किसान सुधार कानून में लालकिले में विरोध में उत्पात में इनका बड़ा हाथ था।

ये है अमृतसर टिफिन बम मामला

जब पूरे देश में स्वतंत्रता दिवस के जश्न की तैयारियां चल रही थी, उसी समय दुश्मन देश पाकिस्तान अपनी साजिशे रचने में लगा हुआ था। 9 अगस्त को पंजाब के अमृतसर में भारत-पाकिस्तान बॉर्डर पर पाकिस्तान ने ड्रोन के जरिए टिफिन बम फेंका। इस टिफिन में पांच हेंड ग्रिनेड भी मिले और स्प्रिंग और डेटोनेटर समेत कई सामान बरामद हुए। जिसमें लगातार खुलासे हो रहे हैं।

Vidushi Mishra

Vidushi Mishra

Next Story