×

Punjab Assembly Elections 2022: पंजाब में अकाली दल और BSP ने किया गठबंधन, सीटों का बंटवारा भी फाइनल

Punjab Assembly Elections 2022: पंजाब में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर सुखबीर सिंह बादल की शिरोमणि अकाली दल (SAD) और मायावती की बहुजन समाज पार्टी (BSP) के बीच चुनावी गठबंधन हो गया।

Network

NetworkNewstrack NetworkAshikiPublished By Ashiki

Published on 12 Jun 2021 8:35 AM GMT

Punjab Assembly Elections 2022: पंजाब में अकाली दल और BSP ने किया गठबंधन, सीटों का बंटवारा भी फाइनल
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Punjab Assembly Elections 2022: पंजाब में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर सुखबीर सिंह बादल (Sukhbir Singh Badal) की शिरोमणि अकाली दल (SAD) और मायावती (Mayawati) की बहुजन समाज पार्टी (BSP) के बीच आज शनिवार को चुनावी गठबंधन हो गया।

आज इसका विधिवत ऐलान किया गया है। बता दें कि पंजाब में हुए पिछले विधानसभा चुनाव (Punjab Assembly elections) में अकाली दल और भाजपा (BJP) के बीच गठबंधन था। गठबंधन का ऐलान कर अकाली दल के मुखिया सुखबीर सिंह बादल ने कहा कि शिरोमणि अकाली दल और बसपा ने गठबंधन किया है और 2022 में पंजाब विधानसभा चुनाव एक साथ लड़ेंगे। उन्होंने कहा कि पंजाब की 117 सीटों में से बहुजन समाज पार्टी 20 सीटों पर और शिरोमणि अकाली दल (शिअद) शेष 97 सीटों पर चुनाव लड़ेगी।

प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान गठबंधन का ऐलान करते हुए सुखबीर सिंह बादल ने इसे पंजाब की राजनीति (Punjab Politics) का एक नया दिन बताया। उन्होंने कहा कि आज ऐतिहासिक दिन है। पंजाब की राजनीति का बड़ा टर्न है। इस दौरान बसपा (BSP) के जेनरल सेक्रेट्री सतिश चंद्र मिश्रा (Satish Chandra Mishra) भी मौजूद थे।

इन सीटों पर लड़ेगी बसपा

इस विधानसभा चुनाव में पंजाब में बसपा जिन सीटों पर चुनाव लड़ेगी उनमें जालंधर, करतारपुर साहिब, जालंधर-पश्चिम, जालंधर-उत्तर, फगवाड़ा, होशियारपुर अर्बन, दसूया, रूपनगर जिले में चमकौर साहिब, बस्सी पठाना, पठानकोट में सुजानपुर, मोहाली, अमृतसर उत्तर और अमृतसर सेंट्रल शामिल हैं।

आपको बता दें कि शिअद यानी अकाली दल ने पहले भाजपा के साथ गठजोड़ किया था और बादल के नेतृत्व वाली पार्टी ने पिछले साल कृषि कानूनों के मुद्दे पर एनडीए से अलग रास्ता अपना लिया था। अकाली दल के साथ गठबंधन के तहत भाजपा 23 सीटों पर चुनाव लड़ती थी।

नया राजनीतिक व सामाजिक पहल: मायावती

बसपा प्रमुख मायावती ने अकाली दल के साथ गठबंधन को एक नया राजनीतिक व सामाजिक पहल बताया है। मायावती ने ट्वीट कर कहा कि 'पंजाब में आज शिरोमणि अकाली दल और बहुजन समाज पार्टी द्वारा घोषित गठबंधन यह एक नया राजनीतिक व सामाजिक पहल है, जो निश्चय ही यहाँंराज्य में जनता के बहु-प्रतीक्षित विकास, प्रगति व खुशहाली के नए युग की शुरूआत करेगा। इस ऐतिहासिक कदम के लिए लोगों को हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं।'




बसपा सुप्रीमो ने पंजाब की कांग्रेस सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि कांग्रेस पार्टी के शासन में सबसे ज्यादा मार दलितों, किसानों, युवाओं व महिलाओं पर पड़ी है। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा कि 'वैसे तो पंजाब में समाज का हर तबक़ा कांग्रेस पार्टी के शासन में यहाँ व्याप्त गरीबी, भ्रष्टाचार व बेरोजगारी आदि से जूझ रहा है, लेकिन इसकी सबसे ज्यादा मार दलितों, किसानों, युवाओं व महिलाओं आदि पर पड़ रही है, जिससे मुक्ति पाने के लिए अपने इस गटबन्धन को कामयाब बनाना बहुत जरूरी।'


Ashiki

Ashiki

Next Story