×

Punjab Election 2022: पंजाब में असंतुष्टों के खिलाफ कांग्रेस का कड़ा तेवर मगर कैप्टन की सांसद पत्नी पर कोई कार्रवाई नहीं

कई अन्य नेताओं और पूर्व विधायकों पर भी कार्रवाई की गई है मगर दिलचस्प बात यह है कि पार्टी से इस्तीफा दे चुके पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह का खुलकर प्रचार करने वाली उनकी सांसद पत्नी परनीत कौर के खिलाफ अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की गई है।

Anshuman Tiwari
Written By Anshuman TiwariPublished By Divyanshu Rao
Published on: 19 Feb 2022 1:19 PM GMT
Goa Election 2022
X

कांग्रेस के झंडे की तस्वीर 

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Punjab Election 2022: पंजाब के विधानसभा चुनाव में इस बार कांग्रेस सत्ता बचाने की लड़ाई लड़ रही है। इस बार राज्य की 117 विधानसभा सीटों पर कांग्रेस को आम आदमी पार्टी से कड़ी चुनौती मिल रही है। अन्य सियासी दलों ने भी कांग्रेस की घेराबंदी कर रखी है। पार्टी की ओर से मतदाताओं को साधने के साथ ही असंतुष्टों को कड़ा संदेश देने की भी कोशिश की गई है। पार्टी नेतृत्व की ओर से अभी तक चार विधायकों को पार्टी विरोधी गतिविधियों के लिए बाहर निकाला जा चुका है।

कई अन्य नेताओं और पूर्व विधायकों पर भी कार्रवाई की गई है मगर दिलचस्प बात यह है कि पार्टी से इस्तीफा दे चुके पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह का खुलकर प्रचार करने वाली उनकी सांसद पत्नी परनीत कौर के खिलाफ अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की गई है। कैप्टन के पक्ष में गत दिनों रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की ओर से किए गए रोड शो में भी परनीत कौर ने खुलकर हिस्सा लिया था। परनीत कौर के खिलाफ अभी तक कोई कदम न उठाए जाने से पार्टी के कई नेता हैरान भी हैं।

पार्टी से निकाले जा चुके हैं चार विधायक

पंजाब की सभी विधानसभा सीटों पर रविवार को एक साथ मतदान होना है और इसके पहले असंतुष्टों कड़ा संदेश देने के लिए अभी तक चार विधायक पार्टी से निकाले जा चुके हैं। इन विधायकों में समराला के अमरीक सिंह ढिल्लों, खडमूर साहिब के तसमेर डीसी और फिरोजपुर देहात की सतनाम कौर शामिल हैं। इनके अलावा पूर्व विधायक केवल ढिल्लों और हरमिंदर जस्सी को भी पार्टी से निकाला जा चुका है। इन प्रमुख चेहरों के अलावा पार्टी के कई अन्य नेताओं और कार्यकर्ताओं पर कार्रवाई की गई है मगर पार्टी नेतृत्व कैप्टन अमरिंदर सिंह की पत्नी के मामले में खामोश बना हुआ है।

परनीत ने पति का किया खुलेआम प्रचार

कैप्टन अमरिंदर सिंह ने पिछले साल सितंबर महीने में मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दिया था। बाद में उन्होंने कांग्रेस छोड़कर पंजाब लोक कांग्रेस नाम से नई पार्टी बनाई और इस बार वे भाजपा के साथ गठबंधन करके चुनाव मैदान में उतरे हैं। वे पटियाला शहर विधानसभा सीट से चुनाव लड़ रहे हैं। इस सीट को कैप्टन का गढ़ माना जाता है और पिछले 20 साल से इस सीट पर उनका कब्जा है।

अमरिंदर सिंह और परनीत कौर की तस्वीर (फोटो:सोशल मीडिया)

उनकी पत्नी परनीत कौर पटियाला से कांग्रेस सांसद हैं। वे अपने पति के लिए खुलेआम चुनाव प्रचार में जुटी हुई है। वे पहले ही अपने पति का खुलकर साथ देने की बात कर चुके हैं मगर कांग्रेस नेतृत्व की ओर से अभी तक परनीत कौर के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई है।

राजनाथ के रोड शो में भी हुई थीं शामिल

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने अभी हाल में पटियाला में कैप्टन अमरिंदर सिंह के समर्थन में सभा की थी। उन्होंने कैप्टन के समर्थन में रोड शो भी किया था। इस रोड शो में कैप्टन के साथ उनकी पत्नी परनीत कौर भी शामिल हुई थीं। पटियाला में परनीत कौर की ओर से खुलेआम किए जा रहे प्रचार की तमाम तस्वीरें मीडिया में आ चुकी हैं मगर फिर भी कांग्रेस की ओर से उनके खिलाफ कोई कार्रवाई न किए जाने पर हैरानी जताई जा रही है। कैप्टन ने कांग्रेस छोड़कर भले ही अलग पार्टी बना ली हो मगर परनीत कौर ने अभी तक पार्टी से इस्तीफा नहीं दिया है।

नेतृत्व के रवैए से पार्टी नेता हैरान

पिछले दिनों पार्टी की ओर से परनीत कौर को नोटिस जारी किए जाने की बात सामने आई थी। हालांकि परनीत कौर नोटिस मिलने से इनकार करती रही हैं। उनका कहना था कि नोटिस मिलने पर उचित जवाब दिया जाएगा। कांग्रेस के ही कुछ नेताओं का कहना है कि एक ओर पार्टी कड़ा तेवर अपनाने का संदेश दे रही है तो दूसरी ओर परनीत कौर के खिलाफ कार्रवाई से डर भी रही है। नेतृत्व के रवैए से पार्टी नेता हैरान भी हैं। पटियाला में कैप्टन पहली बार कड़े मुकाबले में फंसे हुए हैं और इसी कारण उन्होंने अपनी पत्नी के साथ इस बार पूरा जोर लगा रखा है।

Divyanshu Rao

Divyanshu Rao

Next Story