×

Punjab Election 2022: पंजाब में बिखरा हुआ है विपक्ष, सिर्फ कांग्रेस ही शासन करने योग्य, वोट बर्बाद न करें- सचिन पायलट

राजस्थान के पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट ने कहा, कि संवेदनशील सीमावर्ती राज्य पंजाब में सरकार चलाने के योग्य कांग्रेस पार्टी ही है। कांग्रेस को अनुभव है। आम आदमी पार्टी (AAP) में इस क्षमता का अभाव है।

Network
Updated on: 18 Feb 2022 9:05 AM GMT
sachin pilot
X

sachin pilot

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Punjab Election 2022: कांग्रेस (Congress) नेता सचिन पायलट (Sachin Pilot) इस बात को लेकर आशान्वित हैं कि विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद पंजाब में उनकी पार्टी की ही सरकार बनेगी। सचिन पायलट ने पंजाब में एक बार फिर कांग्रेस पार्टी की सरकार बनने की उम्मीद जताते हुए शुक्रवार को कहा, कि 'राज्य में विपक्ष बिखरा हुआ है। इनमें से कोई भी दल या गठबंधन बहुमत हासिल करने की स्थिति में नहीं है। ऐसे में लोग अपना वोट बर्बाद नहीं करेंगे। जनता कांग्रेस को ही फिर सत्ता में वापस लाएगी।'

राजस्थान के पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट ने कहा, कि 'संवेदनशील सीमावर्ती राज्य पंजाब में सरकार चलाने के योग्य कांग्रेस पार्टी ही है। कांग्रेस को अनुभव है। आम आदमी पार्टी (AAP) में इस क्षमता का अभाव है।'

कैप्टन पर ये बोले सचिन

राजस्थान के पूर्व उप मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता पायलट ने एक समाचार एजेंसी से साक्षात्कार में ये बातें कही। उन्होंने आगे कहा, 'कैप्टन अमरिंदर सिंह को मुख्यमंत्री पद से हटाया गया। क्योंकि, वो विधायकों का विश्वास खो चुके थे। उनकी नवगठित 'पंजाब लोक कांग्रेस' (Punjab Lok Congress) एवं उनकी सहयोगी बीजेपी (BJP) तथा शिरोमणि अकाली दल (संयुक्त) का इस चुनाव में कोई असर नहीं होगा। वो कोई प्रभाव नहीं छोड़ पाएंगे।'

अश्विनी के जाने से कोई नुकसान नहीं

सचिन पायलट के अनुसार, विधानसभा चुनाव के मध्य मनमोहन सिंह सरकार में रहे केंद्रीय मंत्री अश्विनी कुमार के कांग्रेस छोड़ने से पार्टी की संभावना और स्वास्थ्य पर किसी तरह का प्रभाव नहीं पड़ने वाला है।

चन्नी ने कई महत्वपूर्ण कदम उठाए

सचिन पायलट ने पंजाब में कांग्रेस के सामने सत्ता विरोधी लहर की चुनौती की बात को भी खारिज किया। सचिन कहते हैं, कि 'आखिरी के तीन महीनों में मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी की अगुवाई में सरकार ने मध्य वर्ग और किसानों के लिए बिजली, पानी तथा आवास के संदर्भ में कई महत्वपूर्ण कदम उठाए हैं, जिन्हें लोगों ने सराहा। पायलट यहां जोर देकर कहते हैं ''चन्नी जी के पिछले कुछ महीनों के कामों ने कांग्रेस सरकार को लोगों से जोड़ा।'

पंजाब में सालों से बहुकोणीय मुकाबला

राजस्थान सरकार में अहम जिम्मेदारियों को निभा चुके सचिन पायलट ने कहा, 'जहां तक विपक्ष का सवाल है। पिछले कई दशकों में हम ऐसा देख रहे हैं, कि पंजाब में बहुकोणीय मुकाबला हो रहा है। अमरिंदर सिंह की पार्टी ने बीजेपी से गठबंधन किया है, तो अकाली दल ने बहुजन समाज पार्टी के साथ तालमेल बिठाया है। आम आदमी पार्टी अलग चुनाव लड़ रही है। ऐसे में विपक्ष बिखरा हुआ है। कांग्रेस सही प्रदेश में सरकार बनाती दिखाई दे रही है। उनका कहना है, 'इन विपक्षी दलों में से कोई एक पार्टी या गठबंधन सरकार बनाने या बहुमत हासिल करने की स्थिति में नहीं है। चाहे वो जितना भी दुष्प्रचार कर ले। इसलिए पंजाब के लोग अपना वोट बर्बाद नहीं करेंगे।' सचिन ने उम्मीद जताई कि कांग्रेस इस विधानसभा चुनाव में पूर्ण बहुमत के साथ बार फिर से सरकार बनाएगी।

aman

aman

Next Story