×

Patakho Par Ban: दिवाली पर इस बार नहीं जला सकेंगे पटाखे, सरकार ने दी इसकी अनुमति

Patakho Par Ban: पंजाब में दिवाली और गुरुपर्व के मौके पर आप पटाखे नहीं जला सकेंगे, क्योंकि सरकार ने इसकी मनाही कर दी है, लेकिन एक राहत जरूर दी है।

Network

Newstrack NetworkPublished By Shreya

Published on 27 Oct 2021 4:22 AM GMT

Patakho Par Ban: दिवाली पर इस बार नहीं जला सकेंगे पटाखे, सरकार ने दी इसकी अनुमति
X

पटाखों पर बैन (फोटो साभार- सोशल मीडिया) 

  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Patakho Par Ban: दिवाली आ रही है और इस त्योहार को धूमधाम से मनाने के लिए लोग पटाखों का इस्तेमाल (Patakho Ka Istemal) जरूर करते हैं। केवल दिवाली वाले दिन ही नहीं बल्कि इससे पहले और काफी दिन बाद तक पटाखे जलाने (Patakhe Jalana) का सिलसिला चलता रहता है। लेकिन इस वजह से काफी ज्यादा पॉल्यूशन (Pollution) हो जाता है और हवा की गुणवत्ता भी काफी ज्यादा खराब हो जाती है। जिसे ध्यान में रखते हुए पंजाब सरकार (Punjab Sarkar) ने राज्य में पटोखों पर ही रोक लगा दी है। पंजाब की चरणजीत सिंह चन्नी सरकार (Charanjit Singh Channi Government) ने आदेश दिया है कि दिवाली (Diwali 2021) और गुरुपर्व (Guru Parv 2021) के मौके पर पंजाब में पटाखों पर रोक (Patakhon Par Rok) रहेगी।

जारी निर्देश में यह भी जरूर कहा गया है कि इन दोनों ही त्योहार में लोगों को ग्रीन पटाखे जलाने की छूट रहेगी। लेकिन इसका मतलब ये नहीं कि आप दिन से पटाखे जलाना शुरू कर दें, क्योंकि सरकार ने जारी गाइडलाइन्स में दिवाली और गुरुपर्व पर रात 8 बजे से लेकर 10 बजे तक ही ग्रीन पटाखों को जलाने की इजाजत दी है। इसके साथ ही सरकार ने कहा है कि राज्य के मंडी गोबिंदगढ़ और जालंधर में किसी भी तरह के पटाखों को जलाने की अनुमति नहीं है। आपको बता दें कि इससे पहले दिल्ली, हरियाणा, चंडीगढ़ में भी पटाखों पर प्रतिबंध (Patakho Par Pratibandh) लगाया जा चुका है।

पटाखे (कॉन्सेप्ट फोटो साभार- सोशल मीडिया)

चंडीगढ़ में भी लगा प्रतिबंध

चंडीगढ़ में भी इस बार प्रशासन ने दिवाली पर पटाखे जलाने पर रोक लगा दी गई है। जबकि दूसरी ओर चंडीगढ़ क्रैकर्स डीलर्स एसोसिएशन (Chandigarh Crackers Dealers Association) ने पटाखों की बिक्री और इस्तेमाल को मंजूरी देने के लिए डीसी मनदीप सिंह बराड़ को पत्र लिखा है। जाहिर है कि दिवाली के समय सबसे ज्यादा पटाखों की बिक्री होती है, ऐसे में नुकसान से बचने के लिए पटाखा विक्रेता पटाखों की बिक्री की इजाजत मांग रहे हैं।

पिछले साल भी दिवाली से कुछ दिन पहले प्रशासन ने पटाखों की बिक्री और इस्तेमाल पर प्रतिबंध लगा दिया था। लेकिन मोहाली और पंचकूला में रोक नहीं लगाए जाने के चलते सवाल खड़े किए गए थे कि केवल चंडीगढ़ में प्रतिबंध लगाकर क्या फायदा। लेकिन प्रशासन ने इस तर्क को मानने से इनकार कर दिया था।

दोस्तों देश और दुनिया की खबरों को तेजी से जानने के लिए बने रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलो करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shreya

Shreya

Next Story