×

पंजाब के नए CM का सरकारी कर्मचारियों को तोहफा, वेतन में 15 फीसदी की बढ़ोतरी

पंजाब कैबिनेट ने पिछले महीने ही कैप्टन अमरिंदर सिंह ने सरकारी कर्मचारियों के मूल वेतन में 15 फीसदी वृद्धि का फैसला किया था, लेकिन इस फैसले को लागू नहीं कर पाए थे। नए सीएम ने इस फैसले पर घोषणा करके सरकारी कर्मचारियों को तोहफा दिया है।

Network

NetworkNewstrack NetworkDeepak KumarPublished By Deepak Kumar

Published on 21 Sep 2021 2:48 AM GMT

पंजाब के नए CM का सरकारी कर्मचारियों को तोहफा, वेतन में 15 फीसदी की बढ़ोतरी
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Punjab: पंजाब के नए सीएम चरणजीत सिंह चन्नी राज्य के सरकारी कर्मचारियों को तोहफा दिया है। उन्होंने राज्य के सरकारी कर्मचारियों की तनख्वाह में 15 फीसदी का इजाफा किया है। कांग्रेस के नए सीएम चरणजीत सिंह चन्नी ने सीएम पद की शपथ लेते ही इस फैसले की घोषणा की है। सीएम के इस फैसले से राज्य के सरकारी कर्मचारियों में खुशी की लहर दौड़ पड़ी। वहीं, सीएम ने राज्य से भ्रष्टाचार खत्म करने का भी फैसला कर लिया है।

कई फैसले लेने का किया एलान

बता दें कि पंजाब की नई सरकार ने जनहित में कई फैसले लेने का एलान किया है। इसमें गरीबों और किसानों के बिजली और पानी बिल की माफी शामिल है। इस बाबत कैबिनेट में फैसले लिए जाएंगे। सीएम चन्नी ने कहा कि जिनके बिजली बिल कनेक्शन कटे हैं उन्हें बहाल किया जाएगा।

सरकारी कर्मचारियों के वेतन में 15 फीसदी का किया इजाफा

राज्य सरकार जनहित के कई और फैसले लेने वाली है। इस सिलसिले में सबसे पहले राज्य के सरकारी कर्मचारियों के वेतन में 15 फीसदी का इजाफा किया गया है। पंजाब वित्त विभाग द्वारा जारी आदेश के अनुसार ये वृद्धि बेसिक वेतन और 113 प्रतिशत महंगाई भत्ते पर आधारित होगा। सीएम चरणजीत सिंह चन्नी ने अधिकारियों और सरकारी स्टाफ को 9 बजे ऑफिस पहुंचने को कहा है। उन्होंने कहा है कि वे प्राथमिकता के आधार पर लोगों की परेशानियां दूर करें।

पिछले महीने की थी सरकारी कर्मचारियों के मूल वेतन में 15 फीसदी वृद्धि की घोषणा

पंजाब कैबिनेट ने पिछले महीने ही सरकारी कर्मचारियों के मूल वेतन में 15 फीसदी वृद्धि की घोषणा की थी। इसके अलावा राज्य सरकार ने कर्मचारयों के कुछ भत्तों को भी फिर से चालू करने का फैसला किया था। तब कैप्टन अमरिंदर सिंह राज्य के सीएम थे, लेकिन वे इस फैसले को लागू नहीं कर पाए थे। बता दें कि राज्य सरकार में सरकारी कर्मचारियों की संख्या 2.85 लाख और पेंशनधारियों की संख्या 3.07 लाख है।

Deepak Kumar

Deepak Kumar

Next Story