×

Punjab News: बड़ा झटका पंजाब सरकार को, ड्रग्स केस में अकाली नेता मजीठिया को मिली अग्रिम जमानत

Punjab News: मोहाली की अदालत की ओर से अग्रिम जमानत की अर्जी ठुकराए जाने के बाद उन्होंने पंजाब एव॔ हरियाणा हाईकोर्ट की शरण ली थी जहां से वे अग्रिम जमानत पाने में कामयाब रहे।

Anshuman Tiwari
Updated on: 2022-01-14T19:12:12+05:30
Bikramjit Singh Majithia
X

बिक्रमजीत सिंह मजीठिया (photo : social media ) 

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Punjab News: पंजाब में विधानसभा चुनाव (Punjab vidhan sabha election) की सरगर्मियां बढ़ने के साथ राज्य की चन्नी सरकार (Channi government) को बड़ा झटका लगा है। अकाली दल के वरिष्ठ नेता बिक्रमजीत सिंह मजीठिया (bikramjit singh majithia) को ड्रग्स केस (drugs case) में पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट से अग्रिम जमानत (Punjab Haryana High Court Anticipatory bail) मिल गई है। पंजाब पुलिस की ओर से हाल ही में उनके खिलाफ ड्रग्स मामले में केस दर्ज किया गया था। गिरफ्तारी से बचने के लिए मजीठिया अंडरग्राउंड हो गए थे। मोहाली की अदालत की ओर से अग्रिम जमानत की अर्जी ठुकराए जाने के बाद उन्होंने पंजाब एव॔ हरियाणा हाईकोर्ट की शरण ली थी जहां से वे अग्रिम जमानत पाने में कामयाब रहे। इसे चन्नी सरकार के लिए बड़ा झटका माना जा रहा है क्योंकि कांग्रेस की ओर से मजीठिया के खिलाफ मामला दर्ज किए जाने के मुद्दे को जोर-शोर से उठाया जा रहा था।

जांच में सहयोग देने का निर्देश

पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट ने मजीठिया की अग्रिम जमानत की अर्जी मंजूर करने के साथ उन्हें ड्रग्स मामले की जांच में सहयोग देने का भी निर्देश जारी किया है। इस बाबत जस्टिस लिजा गिल ने अपने आदेश में कहा है कि मजीठिया को ड्रग्स मामले की जांच में पूरी मदद देनी होगी। पंजाब पुलिस की ओर से मजीठिया के खिलाफ 20 दिसंबर को मामला दर्ज किया गया था और उसके बाद से ही मजीठिया अंडरग्राउंड हो गए थे। पंजाब पुलिस की ओर से उनकी तलाश जोरशोर से की जा रही थी मगर पुलिस उन्हें गिरफ्तार करने में कामयाब नहीं हो सकी थी।

राजनीतिक भावना से हुई कार्रवाई

इस मामले में मजीठिया की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता मुकुल रोहतगी और आरएस चीमा ने पैरवी की। वकीलों की ओर से दलील दी गई कि इस मामले में राजनीतिक भावना से कार्रवाई की गई है। उन्होंने इतनी देरी से कार्रवाई किए जाने के संबंध में भी सवाल उठाए। मजीठिया के वकीलों ने दलील दी कि उनका कोई आपराधिक रिकॉर्ड नहीं रहा है और वे जांच में मदद करने के लिए पूरी तरह तैयार हैं। इसके बाद अदालत की ओर से अग्रिम जमानत की अर्जी मंजूर कर ली गई।

गिरफ्तारी में नाकाम रही पंजाब पुलिस

पंजाब की सियासत में ड्रग्स केस का मामला सियासी रूप से भी काफी गरमाता रहा है। पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू इस मुद्दे को लेकर अपनी सरकार पर ही सवाल उठाते रहे हैं। सिद्धू के दबाव के चलते ही मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी की ओर से मजीठिया के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की गई थी मगर अब मजीठिया अग्रिम जमानत पाने में कामयाब हो गए हैं। मजीठिया की गिरफ्तारी में पंजाब पुलिस की नाकामी से भी चन्नी सरकार को बड़ा झटका लगा है।

अब अकाली दल के प्रचार में जुटेंगे मजीठिया

कांग्रेस ड्रग्स मामले में मजीठिया को हमेशा घेरती रही है। पंजाब में चुनाव की तारीखों के ऐलान के बाद ये मामला और गरमाने की संभावना जताई जा रही है। वैसे अग्रिम जमानत की अर्जी मंजूर किए जाने से मजीठिया को काफी राहत मिली है। पंजाब में उन्हें अकाली दल का बड़ा चेहरा माना जाता रहा है और अब चुनाव आयोग की ओर से पंजाब में मतदान की तारीख का ऐलान भी किया जा चुका है। पंजाब में 14 फरवरी को एक ही दिन में मतदान पूरा होगा।

ऐसे में चुनाव अब ज्यादा दूर नहीं है मजीठिया खुद भी अकाली दल से विधायक हैं और उनके एक बार फिर मजीठिया सीट से चुनाव मैदान में उतरने की पूरी संभावना है। जानकारों का कहना है कि अग्रिम जमानत पाने के बाद मजीठिया अब खुलकर चुनाव प्रचार में जुटेंगे।

Monika

Monika

Next Story